/पुणे में एक के बाद एक लगातार चार बम धमाके..

पुणे में एक के बाद एक लगातार चार बम धमाके..

केंद्रीय  गृहमंत्री सुशीलकुमार शिंदे द्वारा गृहमंत्री बन्ने के अगले दिन उनके राज्य महाराष्ट्र के पुणे  शहर के जेएम रोड पर एक के बाद एक कर चार बम धमाके हुए हैं जिनमें एक व्यक्ति घायल हुआ है. तीनों धमाके तीन किलोमीटर के दायरे में हुए. रात आठ बजे के आसपास तीन धमाके हुए और चौथा धमाके पौने नौ बजे के करीब गरवारे चौक पर हुआ.

गौरतलब है की केन्द्रीय गृह मंत्री शिंदे आज शाम तिलक थियेटर  में किसी समारोह में शामिल होने पहुँचने वाले थे मगर इन बम विस्फोटों के बाद शिंदे ने अपनी यात्रा रद्द कर दी है.
अभी तक धमाके का कारण पता नहीं चल पाया है. बम निरोधक दस्ता भी मौके पर पहुंच गया है.  पुणे पुलिस ने भी गहन छानबीन शुरु कर दी है. एक व्यक्ति इन धमाकों में घायल हुआ है. अभी यह स्पष्ट नहीं है कि धमाका विस्फोटक से हुआ है या नहीं. मौके पर मौजूद एटीएस अफसरों के मुताबिक धमाका लो इंटेसिटी था. पहला धमाका बाल गंधर्व थिएटर के बाहर हुआ है. धमाके कचरे के ढेर और साइकिल में हुए.
ये हल्के बम धमाके पुणे के प्रसिद्ध जंगलीमहाराज रोड पर हुए. एक धमाका प्रसिद्ध बाल गंधर्व रंग मंच थिएटर के बाहर हुआ. दूसरा धमाका देना बैंक के पास और तीसरा धमाका मैकडोनाल्ड रेस्टोरेंट के पास हुआ और चौथा धमाके पौने नौ बजे के करीब गरवारे चौक पर हुआ.
इन बम धमाको के बाद शहर में सनसनी फैल गई. हालांकि पुलिस ने अभी तक यातायात नहीं रोका है और जंगलीमहाराज रोड पर यातायात सामान्य है. सुरक्षाबलों ने एक जिंदा बम भी बरामद किया है.

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.