Loading...
You are here:  Home  >  अपराध  >  Current Article

अब राजस्थान का मुंह काला, ग्यारह साला बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म…

By   /  August 22, 2012  /  13 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

राजस्थान के सीकर शहर में सोमवार की रात कुछ दरिंदों ने सरे आम फिल्म देखकर घर लौट रही युवतियों में से 11 साल की एक मासूम को  अगवा कर लिया और जीप में डाल कर ले गए. ये दरिन्दे घंटों उस मासूम बच्ची के साथ सामूहिक ज्यादती करते रहे. अपहरण का तुरंत पता लग जाने के बावजूद भी पुलिस अपहरणकर्ताओं तक नहीं पहुंच पाई.

अपहरण के 15 घंटे बाद मंगलवार सुबह करीब 11:30 बजे दुष्कर्मी हैवान बच्ची को लहूलुहान हालत में गोठड़ा तगेलान गांव के पास फेंक गए. मेडिकल बोर्ड ने जाँच के बाद उससे सामूहिक ज्यादती की पुष्टि की है. बच्ची की हालत नाजुक बनी हुई है. डॉक्टरों के अनुसार उसके अंदरूनी अंगों पर गहरे जख्म हैं, जो सर्जरी से भी रिकवर होना मुश्किल हैं. बच्ची को गंभीर हालत में जयपुर रैफर किया गया है. पुलिस ने घटना के चार घंटे बाद ही आरोपियों की पहचान कर ली लेकिन समाचार लिखे जाने तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

घटना  कुछ इस प्रकार है कि सोमवार रात 8:30 शांतिनगर में रहने वाली बिहारी परिवार की चार लड़कियां फिल्म देखकर लौट रही थीं. इनके साथ एक बच्चा भी था. डेडराज डेयरी के निकट एक जीप इन लड़कियों के पास आकर रुकी और एक लड़की को जबरन उसमें बैठाने का प्रयास किया. इस पर  वह लडकी किसी तरह अपना हाथ छुड़ाकर भाग गई तो बदमाशों ने 11 वर्षीय अन्य बच्ची को जबरन जीप में बैठा लिया. अन्य लड़कियां विरोध करतीं इससे पहले वे जीप को दौड़ा कर सांवली बीहड़ की तरफ चले गए. यह सब देख कर बाकी लड़कियां रोने लगीं तो आसपास के लोग एकत्र  हो गए तथा उन्होंने जीप का पीछा करने का प्रयास भी किया, लेकिन कामयाबी नहीं मिली. इसके तुरंत बाद पुलिस को सूचना दे दी गई. पुलिस ने सुचना मिलते ही जिलेभर में नाकाबंदी करवा दी, लेकिन बदमाशों को नहीं पकड़ पाई जबकि ये दरिन्दे कुछ किलोमीटर की दूरी पर ही अपना मुंह काला कर रहे थे.

इसी बीच पुलिस को जानकारी मिली कि जीप में भैंरुपुरा निवासी सुरेश जाट व सबलपुरा निवासी रमेश शर्मा सवार थे. पुलिस ने रातभर आरोपियों की तलाश की मगर अपराधियों को पकड कर बच्ची को छुड़वाने में नाकामयाब रही. सुबह जाकर उन दरिंदों के मोबाइल की लोकेशन ट्रेस हुई तो पता चला कि वे चोखा का बास की तरफ हैं. इसी बीच सूचना मिली कि गोठड़ा तगेलान के पास एक लड़की पड़ी है.

पुलिस वहां पहुंची और बच्ची को अस्पताल पहुंचाया. पुलिस ने कई संदिग्धों को हिरासत में लिया है और औद्योगिक क्षेत्र, सांवली रोड इलाके में आधा दर्जन जगहों पर दबिश भी दी, लेकिन घटना के 24 घंटे बीतने के बाद भी गिरफ्तारी नहीं हो पाई.

घटना को लेकर शहरवासियों में भारी व्याप्त है. उन्होंने पुलिस की कार्यप्रणाली की भी निंदा की है. माकपा ने एसपी को ज्ञापन सौंपा है. जिसमें कहा है कि अपराधियों को  जल्द गिरफ्तार नहीं किया तो आंदोलन किया जाएगा. माकपा के कार्यालय सचिव किशन पारीक ने बताया कि जिस तरह यह वाकया घटित हुआ है, उससे लगता है कि असामाजिक तत्वों में पुलिस का कोई खौफ नहीं रह गया है.

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

13 Comments

  1. Mukta Javeri says:

    Aise logo ko castrate kar dene chaiye…kat dalo …

  2. Neelam Tiwari says:

    Rajsthan…jiska naam he apny aap me grima may hi aaj bahe pr yh sab ho raha hi… sarm aate hi yh sab sunkar.

  3. fasi ki saja doa ashe logo ko…… agar sarkar ne de sake toa hume use sare aam fasi per latkana hoga…UAE ke tare hamri government ko kanun banane hoge..

  4. Sachin Barsaiyan Rss says:

    DOSTO AAJ IS PARIVAR KE SATH HUA HAI.AGAR INKO INSAF NAHI MILA TO YE GATNA TO HAR MA BAAP APNE BACHHO KO LIKHNE PADNE BAHAR VEJETE YE GATNNA TO KISI KE BHI SATH HO SAKTI HAI.OR AGAR INSAF HO BHI GAYA TO US BETI KI EJJAT TO BAPAS NAHI LAYI JA SAKTI.PAR IS DESH ME KAB TAK ESHA CHALTA RAHEGA.
    DOSTO NARENDR MODI JI HI EK EDHE SAKSH HAI/JO IS DESH KO BACHA SAKTE HAI KYOKI IS DESH ME AGAR KOI BHI KISI SE DARTA HAI.TO WO NARENDAR MODI JI SE KYOKI UNKE GUJRAT ME AAPRAD KARNE BALO KO KADA DAND DIYA JATA HAI.AGAR GUJRAT ME GAAY KA KATAL BHI HOTA HAI TO USKO 7 SAAL KI JEL HOTI HAI.JABKI HAMRE YAHA KATAL KARNE BALO KO KUCH NAHI KIYA JATA.TABHI TO IN NETAO , MANTRIO KI UNSE FATTHI HAI KAHI YE P.M. BAN GAYA TO HUM AANE BALE KAI SAALO TAK P.M. NAHI KAR PAYEGE.IN AAPRADIYO KO SEH BHI YE CAGRESI HI DETE HAI.TABHI TO YE LOG PAKDE NAHI JATE.AB AAP LOG BATAYE KI KYA APKE BACCHE SAFE HAI.
    PLEASE SHARE KARE TAKI MERI YE AABAJ JANTA TAK PAHUCH SAKE.

  5. Ajay Sharma says:

    ese madarchodon ko to goli mar deni chahiye.

  6. Yes Ghatna Hamare Sabha Samaj par ek bahut bada chot hai agar aisa hi hota raha to hamare ghar ki bahu betion ke suraksha ke liye ek bahut bada swal khara ho jayeg iske liya sarkar ke sath hamare samaj ke prabudh logo ko aage ana padeg warna wah din dur nahi jab pani sar par se nikal jayegi jaisa ki ho raha hai aur humlog hath malte rah jayege.

  7. Sachin Barsaiyan Rss says:

    KYOKI JIS PARIVAR PAR YE BITTI HAI BAHI USKE DARD KO SAMJTA HAI. hamre desh me yes bardate is liye ho rahi hai kuoki is desh ki sarkar cupcha hai or jo log pakde jate hai unko is desh ke vrast neta chudba dete hai.is tarh ki bardat karne balo ke aandar koi dar vay nahi hota kyoki hamre yaha esha koi dand nahi diya jata ki jisse in bardat karne balo ke aandar dar beNe. Mene ek baar AAMERIKA ki post me Dekha ki bha par Aaprad karne balo par SakTi barti jati hai. AGAR BESA KANUN HAMARE DESH ME LAGU HO JAYE TO YE LOG KISI CRAIM KO KARNE KE PEHLE 4 BAAR SOCHEGE.OR IN LOGO KE PAKDE JAANE PAR USKA FESLA NA TO POLISE BALE, NA HI KOI HIGHCORT ISKA FESLA NAHI KAREGI. BALKI ISKA FESLA US PARIVAR KE LOG KAREGE JINKE SATH YEH BARDAT YA KRATY HUA HO.YA EK ESHA KANUN HO JISSME IS TARH CRAEIM KARNE BALO KA FESLA JANTA KO DIYA JAY. JAHA PAR WO AAPRADI HO OR JANTA USKA FESLA KARE US FESLE KA NAAM HO.

    JANTA KI AADALAT.
    YE HARE DESH KA DURVAY HAI KI BO ABIH TAK PAKDA NAHI GAYA.AGAR POLISE BALE CHAH LE TO IS TARH KI BARDATO KO YE LOG AANJAM NAHI DE SAKTE.AGAR YE LOG PAKD LEGE TO INKI JEB KON VAREGA.OR PHIR KON SA KISI POLISE BALE KE UPAR YE HADSA HUA HAI.HAMRE DESH ME LOGO KI YE SOCH HO GAYI HAI KI ME HI KYO AAGE BADU JISSE IN LOGO KO SEH MIL GAYI.ESHE LOGO KO TO GOLI MAR DENA CHAIYE.

  8. mahendra gupta says:

    sushasan ki ek achhi nazir

  9. DOSTO RAJASTHAN KAA NAAM KABHI, BADI IZZAT SE LIYAA JAATA THAA….. JAHAN IMANDARI, INSAANIYAT BASTI THI…… LEKIN AAJ ULTAA HO GYAA HAI….. WAHA BALATKAARI AUR KHOOLI BHI BAHUT MILNE LAGE HAI.

  10. he bhagwan kya hoga is bharatbhumi ka… jaha patthar ko bhagwan samajh kar insan 84 carore devtaon ko pujta hai per insan ko insan nahi samajhta…agar bhagwan ko bhi dil se manta to ek bat hamesa yad rahti ki 11 sal ki masum.bacchi hi hai aur bacche bagwan ka roop hote hai….aise ghradit vyaktiyon ko narak me bhi jagah na mile yahi dua hai rab se…

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

पनामा के बाद पैराडाइज पेपर्स लीक..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: