Loading...
You are here:  Home  >  राजनीति  >  Current Article

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी में अस्सी फीसदी गहलोत के चम्मचे भरे: कर्नल सोनाराम

By   /  September 16, 2012  /  4 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

कर्नल सोनाराम फिर भड़के अशोक गहलोत पर, प्रदेश कांग्रेस कम्मेटी में अस्सी फीसदी गहलोत  के चम्मचे भर, चंद्रभान को बलि का बकरा बनाया जा रहा हें 

-चन्दन भाटी||

बाड़मेर जिले की बायतु विधानसभा से विधायक और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के घुर विरोधी माने जाने वाले कर्नल सोनाराम चौधरी ने एक बार फिर अशोक गहलोत पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि प्रदेश कोंग्रेस कमेटी में अस्सी फीसदी लोग गहलोत के चम्मचे भरे पड़े हैं. जो कांग्रेस को कमज़ोर कर रहे हें, इसके लिए प्रदेश अध्यक्ष डॉ चन्द्रभान को बलि का बकरा बनाया जा रहा है. सोनाराम रविवार को स्थानीय सर्किट हाउस में पत्रकार वार्ता में बोल रहे थे. खबरनवीसों से बातचीत में उन्होंने बताया कि गहलोत के राज में कोंग्रेस कमज़ोर हुई, समय रहते चंद्रभान ने लोगो के बीच इस बात को कहा तो वह गहलोत की आँखों में खटकने लगा, गहलोत चंद्रभान को येन केन प्रकरण हटाना चाहते हैं, उन्होंने बताया की गहलोत ने बाड़मेर में श्रीमती सोनिया गांधी की यात्रा के दिन स्थानीय नेताओ विशेषकर जाट नेताओं की जान बुझ कर फजीहत की, जाट  नेताओ की अनदेखी से समाज में कांग्रेस के प्रति नकारात्मक सन्देश गया. गहलोत ने सोची समझी रणनिति के तहत सोनिया गाँधी की यात्रा में स्थानीय कद्दावर जाट नेताओ हेमाराम चौधरी, डॉ चन्द्रभान, मदन कौर, अल्पसंख्यक मंत्री अमीन खान को बोलने का अवसर नहीं दिया. जबकि सोनिया के आगमन  से पूर्व इन नेताओ को बोलने का अवसर दिया जा सकता था.

उन्हों गहलोत पर आरोप लगाते हुए कहा कि गहलोत जातिगत राजनीति कर जाटों के खिलाफ मुसलमानों तथा मेघवालों और राजपूतों को भड़का रहे हें ताकि उनकी दुकानदारी चलती रहे. उन्होंने बताया कि वो खुद कांग्रेस के सच्चे सिपाही हैं. पार्टी के खिलाफ नहीं जा सकते मगर स्थानीय कार्यकर्ता अपने नेताओ की बेईज्ज़ती बर्दास्त नहीं करेंगे ,यही हुआ ,सोनिया गांधी की सफल सभा के बावजूद नकारात्मक प्रभाव पड़ा ,सोनाराम ने कहा की गहलोत ने सोनिया गांधी की सभा में धन्यवाद देने के लिए अश्लील सी डी काण्ड के आरोपी विधायक को चुन कर सोनिया गांधी की बेईज्ज़ती की. यह बात मै सोनिया गांधी से मिलकर बताऊँगा. उन्होंने आरोप लगाया की सीडी काण्ड में गहलोत के दोहरे मानदंड अपने एक सीड़ी काण्ड के आरोपी जेल में हें तो दुसरे काण्ड को पूरी तरह दबा दिया, सोनाराम ने बताया की अमीन खान वरिष्ठ नेता हैं. हम उनका सम्मान करते हें हमने हमेशा उनका राजनितिक सहयोग किया. वो हमारी मदद करेंगे तो निश्चिंत तौर पर हम उनकी दुगुने उत्साह से मदद करेंगे. मगर उन्होंने गहलोत के कहने से जाटों और मुसलमानों को आपस में लड़ा दिया तथा मुझे सोची समझी रणनीति के तहत हरा दिया, उन्होंने कहा की कांग्रेस गहलोत के कारण प्रदेश में कमज़ोर हो रही है. वक़्त रहते पार्टी की स्थिति को संभाला नहीं गया तो विधानसभा चुनावो में इसके दुष्परिणाम सामने आयेंगे.

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

4 Comments

  1. Shailendra Pratap Singh says:

    Its best merit.

  2. SHARAD GOEL says:

    पूरी पार्टी चम्मचो से भरी पड़ी हे नहीं तो मनमोहन के सिवा कोई प्रधानमंत्री न मिला ,गाँधी परिवार के आलावा कोई कांग्रेसी न मिला, पुराने कांग्रेसी सब हिन्दू बन गए क्या

  3. SONARAM JI NEY SAHI BAT OOTHAYEE HAI, CONGRESS MEY ACCHE IMANDAR LOGO KO ISSI TARAH KATA JATA HAI, BHRASTON AUR DALALON KI SATTA CHALTI HAI,…JAI JAWAN, JAI KISAN.

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

You might also like...

अब राफ़ेल बनाम बोफ़ोर्स..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: