Loading...
You are here:  Home  >  अपराध  >  Current Article

दलित महिला से सामूहिक दुष्कर्म कर एमएमएस बनाया…

By   /  September 26, 2012  /  3 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

हरियाणा के हिसार जिले में दलित युवती से सामूहिक दुष्कर्म के बाद युवती के पिता द्वारा आत्महत्या करने का मामला अभी सुर्ख़ियों में ही है कि अब जींद की रेलवे कालोनी पिल्लूखेड़ा में तीन युवकों द्वारा हथियार की नोक पर एक दलित महिला से सामूहिक दुष्कर्म कर अश्लील एमएमएस बनाने का मामला प्रकाश में आया है.

हरियाणा में पिछले एक सप्ताह में यह दूसरी घटना है. पीड़ित महिला तथा उसके परिजन पुलिस अधीक्षक सौरभ सिंह से मिले और कार्रवाई की मांग की.

महिला ने कहा कि मैंने 21 सितम्बर को ही पुलिस के पास शिकायत दर्ज करा दी थी. अभियुक्त आराम से घूम रहे हैं और पुलिस उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. पुलिस ने उसकी शिकायत पर दुष्कर्म का मामला दर्ज कर लिया लेकिन उसने अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं की है.

परिजनों ने चेताया कि अगर आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार नहीं किया गया तो वे कठोर कदम उठाने को मजबूर होंगे.

पीड़िता की मानसिक स्थिति को देखते हुए पुलिस अधीक्षक ने उसे पुलिस सुरक्षा मुहैया करवा दी है. प्रोटेक्शन अधिकारी कृष्णा चौधरी पीड़ित परिवार को समझाने में लगी है.

धडौली गांव के पास रेलवे कालोनी पिल्लूखेडा की महिला ने गत 21 सितम्बर को पिल्लूखेडा पुलिस को दी शिकायत में बताया था कि 21 सितम्बर को धडौली निवासी संदीप तथा उसके दो अन्य साथी उसके घर में घुस आए. जब उसने तथा उसके पति ने तीनों को घर से जाने के लिए कहा तो उन्होंने उसके साथ जोर जबरदस्ती शुरू कर दी. इसी दौरान संदीप व उसके दोस्त उसे घसीटते हुए कमरे में ले गए और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया.

इतने पर भी तीनों नहीं माने तो उन्होंने उसके पति तथा बेटी के सामने हथियार के बल पर अश्लील एमएमएस भी बना डाला और पूरे गांव में एमएमएस को सार्वजनिक कर दिया. तीनों ने मुंह बंद रखने तथा किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गए.

पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर संदीप तथा उसके दो अन्य साथियों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया था. घटना के बाद से तीनों आरोपी फरार हैं. घटना को पांच दिन बीत जाने के बाद भी पिल्लूखेडा पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर सकी है.

पीड़िता के परिजनों ने आरोप लगाया कि पुलिस ने उनकी शिकायत पर तीनों के खिलाफ मामला तो दर्ज कर लिया है, लेकिन अभी तक एक भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया है. आरोपी सरेआम खुले में घूम रहे हैं और उन्हें जान से मारने की धमकी दे रहे हैं.

परिजनों के अनुसार पुलिस बलात्कारियों से मिली हुई है. अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है. यदि गिरफ्तारी में देर की गई तो वे आत्मदाह करने को मजबूर होंगे.

प्रोटेक्शन अधिकारी कृष्णा चौधरी ने कहा कि पिल्लूखेडा में महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने तथा अश्लील एमएमएस बनाने का मामला मामला उनके संज्ञान में आया है.

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पिल्लुखेडा गैंगरेप मामले में दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है. इनसे गहन पूछताछ की जा रही है. जल्द ही गैंगरेप के मुख्य आरोपी संदीप हिरासत में होगा.

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

3 Comments

  1. Umesh Verma says:

    jo bhi person ase crime karte hai inlogo ko sahar ke chaurahe par khada karke saja dane chaihe bo ibleye jo crme kane ke soche uske ruh kap jaye.

  2. Prin Silence says:

    अगर इश्स तरह की वारदात को रोकना हैं तो मेरे हिसाब मे तो बस एक ही तरी का है पहले तो लौंदो के बापो को पकड़ कर नंगा कर के मीडीया को बुला के जुतम-घुसम सम्मान किया जाए और फिर लौंदो के मिलते ही सारे आम हंत पाव बाँध कर तब तक दंडा पेला जाए की आत्मा बाहर ना आ जाये कम से कम देख कर अगर किसी और के मान मे भी किसी के लिए विचार पैदा हो भी रहे हो तो दिमाग़ मे ये बात घुस जाए की इसके बाद भरे समाज मे उसकी मौत कैसे होने वाली है…
    रही बात पोलिश की तो जब इनकी बेटी को रंडी बना देंगे तो तब आपराधी मिल भी जाएँगे और उनकी थाने मे गॅंड मे लोहा भी कर लेंगे क्यो की तब मामला इन हराम खोरो का अपना मामला होगा!

  3. prasasan kee naakami, police dwara there se karyvahi karne kaa matlab saf he ki kes ko langda karne kaa shadyantra kamyab ho sake.
    is sharm nak atyachar par deri se karye vahi ke liye police par bhee karye vahi honi chahiye.

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

अपराधी का बचाव दरअसल दूसरा अपराधी तैयार करना है..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: