Loading...
You are here:  Home  >  राजनीति  >  Current Article

गुजरात में हक माँगने पर गोलियाँ मिलती हैं… सोनिया गाँधी

By   /  October 3, 2012  /  4 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुजरात में नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए विधान सभा चुनाव प्रचार की शुरुआत की है. राजकोट में एक चुनाव रैली में दिए भाषण में सोनिया गांधी ने इस बार नरेंद्र मोदी पर कोई निजी टिप्पणी नहीं की, लेकिन उनके विकास और सुशासन के दावों पर कई सवाल उठाए.

हालांकि इससे एक दिन पहले मोदी ने आरोप लगाया था कि सरकार ने सोनिया के विदेशी दौरों और उपचार पर 1800 करोड़ रुपए खर्च कर डाले हैं. यही नहीं नरेन्द्र मोदी ने सोनिया के इन विदेशी दौरों पर हुए सरकारी खर्चों का विवरण सार्वजानिक करने की भी मांग की थी. पर इसके जवाब में सोनिया ने इतना भर कहना ही मुनासिब समझा कि विपक्ष निराधार आरोप लगा रहा है जिस वजह से अहम मुद्दे नज़रअंदाज़ हो रहे हैं. यही नहीं उन्होंने आरोप लगाया कि “गुजरात में जब गरीब लोग अपने हक माँगते हैं तो उन्हें गोलियाँ मिलती हैं.”

गौरतलब है कि गुजरात विधानसभा चुनाव दिसंबर में होना है. अपने भाषण को सोनिया बनाम मोदी न बनाते हुए इस बार सोनिया गांधी ने गुजरात सरकार को राज्य का समुचित विकास न करने के लिए कोसा.

“किसान को फसल की असली कीमत तभी मिलेगी जब उसे बिचौलियों से निजात मिले. उससे भी अहम बात ये है कि जो राज्य सरकार नहीं चाहती वो एफ़डीआई लागू नहीं कर सकती. फिर इस पर इतना हंगामा क्यों मच रहा है.” -सोनिया गांधी

सोनिया  ने अपने भाषण के ज़रिए यूपीए सरकार की उपलब्धियाँ गिनाईं और डीज़ल की कीमत बढ़ाने के पीछे सरकारी पक्ष रखा. सोनिया गाँधी का कहना था कि “यूपीए सरकार ने न केवल किसानों का कर्ज़ ही माफ किया बल्कि उत्पादों का न्यूनतम मूल्य भी बढ़ाया. कांग्रेस सरकार ने हर क्षेत्र में काम किया है, चाहे वो मूलभूत ढाँचा हो या ग्रामीण क्षेत्र. शायद आपसे ये बात छिपाई जा रही है कि यूपीए सरकार ने एनडीए सरकार की तुलना में गुजरात को 50 फीसदी ज़्यादा फंड दिया है.”

सोनिया ने अपने भाषण के बहाने एफडीआई की वकालत भी की और गुजरात के किसानों को इसके फायदे गिनवाए. उन्होंने कहा, “किसान को फसल की असली कीमत तभी मिलेगी जब उसे बिचौलियों से निजात मिले. उससे भी अहम बात ये है कि जो राज्य सरकार नहीं चाहती वो एफ़डीआई लागू नहीं कर सकती. फिर इस पर इतना हंगामा क्यों मच रहा है.”

उन्होंने ये भी कहा कि वैट पर शिकायत तो सब करते हैं लेकिन गुजरात में वैट सबसे ज़्यादा है. उनके भाषण का पूरा ज़ोर गुजरात और विकास पर था. याद हो तो पिछली बार चुनावी अभियान में सोनिया गांधी ने मोदी को मौत का सौदागर कहा था.

सोनिया में अपने भाषण में लोकपाल का भी ज़िक्र किया और इसके पारित न होने का ठीकरा भाजपा के माथे मढ़ते हुए कहा कि यदि बीजेपी नहीं अड़ती तो लोकपाल बिल पारित हो जाता.

सोनिया गाँधी के इस भाषण को भाजपा नेता बलबीर पुंज ने सोनिया द्वारा राजनीतिक कारणों से भाजपा के बारे में बोला गया “अर्धसत्य” बताया  है.

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

4 Comments

  1. Dr.Ashok Kumar Tiwari says:

    पर रिलायंस का भ्रष्टाचार तो मैंने अपनी आँखों से देखा है उनकी राष्ट्रविरोधी गतिविधियों पर गुजरात सरकार चुप है । राज ठाकरे अह्मदाबाद में आकर राष्ट्रभाषा को खुले आम गालियाँ देते हैं और गुजरात सरकार चुप रहती है—- ये बातें विचार या कल्पना नहीं हकीकत हैं जिन्हें खुद मैंने देखा और झेला है….
    केजरीवाल और अन्ना देश के गरीबों के सच्चे मसीहा हैं हमें उनका साथ देना चाहिए……………

    बात केवल हिंदी की ही नहीं है रिलायंस के के0 डी0 अम्बानी विद्या मंदिर जामनगर ( गुजरात ) में मनोज परमार मैथ टीचर को इतना टार्चर्ड किया गया कि प्रिंसिपल सुंदरम के सामने स्कूल में मीटिंग में ही उनका ब्रेन हैमरेज हो गया। वो गुजराती ही थे आज उनके बच्चे के प्रति स्कूल या रिलायंस कुछ नहीं कर रही है पत्नी को नौकरी भी नहीं दिया गया उनके पिताजी से खुद बात कर सकते हो – 9824503834.
    Soon after joining Mr.Sundaram did a really very wrong. He forced 3 gujarati teachers with very cruelty (Parth Mehta – 9726527001, Nalin Panchal and Ketan Prajapati – 9898930011) and also some office staff (Mrs. Sapna – 9824597192, Mr. Vikram and Milan Vadodaria -9998959359) to resin and that also without any proper reason. So, these people had to resin from the school unwillingly. This was a very inhuman and cruel work done by him.Repeating the same tradition, Gohel Bhai and Narayan Bhai(drivers – 9879509581, 9712445340 ), Ketan Bhai (music teacher) and many other employees have been forced to resin without any sufficient reason2) Due to Sundaram and Alok Sir so many excellent teachers are left the school like –Dr. Navin Sharma( 09663451065.), Dr.Nitu Singh, Mr.Kshmanand Tiwari (07567166915), Mr.Gajendra Khandelwal (9374373881), Dr.Ashok Kumar Tiwari (9428075674), Mr. Narsimhan (09952174530), Parth k Mehta( 9726527001)etc. please contact those persons also, for realities
    इस में आप सबकी मदद चाहिए मित्र ….किसी शिक्षक ने आपको भी पढ़ाया होगा उसी नाते इन शिक्षक-शिक्षिकाओं की सहायता करो मित्र सहायता करो…………प्लीज.!!!

    जब भारत सरकार के मंत्री रेड्डी साहब जैसे लोग निकाले जा रहे हैं तो ये लोग बिखरे हैं शांत प्रकृति के टीचर्स हैं..बिना आप सबकी मदद के कुछ नहीं कर पाएँगे……….

  2. हिंदी की सच्चाई भारत में…..आपने बिल्कुल सच कहा मैं गुजरात में जिसे हिंदुओं का गढ़ मानते हैं, हिंदी भाषी होने के नाते सताया जा रहा हूँ, मेरी कोई नहीं सुनता, रिलायंस जो हिंदुओं की कम्पनी है, मेरे पीछे पड़ी है, मैंने कई पत्र मोदी साहब व अन्य …अधिकारियों को लिखे हैं, मुझे रिलायंस अधिकारियों द्वारा धमकियाँ मिल रही हैं, मेरे बच्चे खतरे में हैं, गुजरात हाई कोर्ट में केस किया था वहाँ भी रिलायंस वाले अपना कमाल दिखा दिए हैं, गुजरात में लगभग सभी रिलायंस के हाथों बिके हैं मदद करो…………………
    Contact for detail – 9428075674, [email protected]

  3. mahendra gupta says:

    अच्छा राजनितिक चुनावी भाषण ,अपनी को भूल कर दूसरों पर दोषारोपण , जैसा दूसरेदल भी कर रहें हैं.कोई नवीनता नहीं.

  4. Mahender Singh Thakur says:

    bilkol sahhi kaha hai smt sonia gandhi jee.

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

पाकिस्‍तान ने नहीं किया लेकिन भाजपा ने कर दिखाया..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: