Loading...
You are here:  Home  >  राजनीति  >  Current Article

सरकार के नए मुखौटे यूपीए की तकदीर बदल सकेगें…?

By   /  October 28, 2012  /  No Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

सरदार मनमोहन सिंह ने अपने मंत्रिमंडल के कुछ पुराने चेहरों को विदा कर सरकार  के चेहरे पर कुछ नए मुखौटे फिट कर डेमैज कंट्रोल करने की कवायद की है. मगर यह कवायद कुछ खास कर पाएगी. अगले लोकसभा चुनावों में कोई लम्बा समय नहीं बचा है और देश की जनता भुल्लकड़ तो है मगर इतनी भी नहीं कि इतने कम समय में यूपीए सरकार के कुकर्मों को भूल जाये…

 

यूपीए सरकार के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपने कार्यकाल में मंत्रिमंडल में तीसरी बार फेरबदल करते हुए रविवार को सात कैबिनेट, दो राज्यमंत्री [स्वतंत्र प्रभार] और 13 राज्यमंत्रियों को टीम में शामिल किया. इस फेरबदल में अजय माकन, हरीश रावत और एमएम पल्लम राजू को पदोन्नति मिली है और कुछ नए चेहरों को पहली बार मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है.

रविवार सुबह 11:30 बजे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अशोका हॉल में मनमोहन मंत्रिमंडल के नए सदस्यों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई. इस फेरबदल में पुराने और वरिष्ठ मंत्रियों की जगह सरकार को अब युवा छवि देने की कोशिश है. कैबिनेट मंत्री के रूप में के रहमान खान,  दिनशॉ पटेल, अजय माकन, एमएम पल्लम राजू, अश्विनी कुमार, हरीश रावत, चंद्रेश कुमारी को कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई.

इसके बाद लुधियाना से सांसद व काग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी एवं दक्षिण भारत के अभिनेता चिरंजीवी को राज्यमंत्री [स्वतंत्र प्रभार] के रूप में शपथ दिलाई गई.

इसके अलावा राज्यमंत्री के रूप में शशि थरूर, तारिक अनवर, आर सुरेश, के सुरेश प्रकाश रेड्डी, रानी नाराह, अधीर रंजन चौधरी, एएच खान चौधरी, एस सत्यनारायण, निनॉन्ग इरिंग, दीपा दासमुंशी, बलराम नायक, डॉ. कृपा रानी किल्ली और लालचंद कटारिया ने शपथ ली.

इस फेरबदल में अपेक्षा के अनुरूप राहुल ब्रिगेड के युवा मंत्रियों ज्यातिरादित्य सिंधिया, सचिन पायलट और मिलिंद देवड़ा को पदोन्नति नहीं दी गई. वहीं आज जिन 22 मंत्रियों ने शपथ ली है उसमें सबसे ज्यादा प्रतिनिधित्व पश्चिम बंगाल [तीन] और आंध्र प्रदेश [तीन] को मिला है.

इस अवसर पर प्रधानमंत्री, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत सत्ता पक्ष और विपक्ष के कई नेता मौजूद थे.

जानिए, मनमोहन टीम के नए सदस्यों को मिला कौन सा विभाग

के रहमान खान

कर्नाटक से आने वाले राज्यसभा सांसद के रहमान खान को कैबिनेट मंत्री के रूप में मंत्रिमंडल में शामिल किया गया. इन्हें अल्पसंख्यक मामलों का मंत्रालय सौंपा गया है. पहले ये रसायन एवं उर्वरक राज्यमंत्री [स्वतंत्र प्रभार] के रूप में मंत्रिमंडल में शामिल थे.

दिनशा पटेल

गुजरात के खेड़ा से कांग्रेस सांसद दिनशा पटेल को पूर्व में खान मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार मिला हुआ था. अब इन्हें इसी मंत्रालय में पदोन्नति देकर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है.

अजय माकन

नई दिल्ली सीट से कांग्रेस सांसद अजय माकन को भी पदोन्नत कर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है. पहले ये राज्यमंत्री [स्वतंत्र प्राभार] के रूप में खेल मंत्रालय देख रहे थे. अब उन्हें आवास एवं शहीरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय सौंपा गया है.

एमएम पल्लम राजू

आंध्र प्रदेश के काकिनाड़ा से कांग्रस सांसद एमएम पल्लम राजू को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है. पहले ये रक्षा राज्यमंत्री के रूप में मंत्रिमंडल में शामिल थे. इन्हें मानव संसाधन मंत्री बनाया गया है.

अश्विनी कुमार

पंजाब से आने वाले राज्यसभा सासद अश्विनी कुमार पदोन्नति देते हुए कैबिनेट मंत्री बनाया गया है. पहले ये संसदीय मामलों एवं योजना मंत्रालय में राज्यमंत्री के रूप में कार्यभार संभाल रहे थे. अब इन्हें कानून मंत्रालय सौंपा गया है.

हरीश रावत

उत्तराखंड से राज्यसभा सांसद हरीश रावत को कैबिनेट मंत्री का दर्जा मिला है. पहले ये कृषि एवं संसदीय मामलों के राज्यमंत्री के रूप में कार्यभार संभाल रहे थे. अब इन्हें जल संसाधान मंत्रालय सौंपा गया है.

चंद्रेश कुमारी कटोच

राजस्थान के जोधपुर से कांग्रेस सांसद चंद्रेश कुमारी कटोच को पहली बार कैबिनेट में शामिल किया गया है. वह जोधपुर राजघराने से संबंध रखती हैं. इन्हें संस्कृति मंत्रालय का कार्यभार सौंपा गया है.

मनीष तिवारी

पंजाब के लुधियाना से सांसद मनीष तिवारी को पहली बार मंत्रिमंडल में जगह मिली है. उन्हें राज्यमंत्री [स्वतंत्र प्रभार] का दर्जा देते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय सौंपा गया है.

चिरंजीवी

आंध्र प्रदेश से राज्यसभा सांसद चिरंजीवी को पहली बार कैबिनेट में शामिल करते हुए राज्यमंत्री [स्वतंत्र प्रभार] का दर्जा देते हुए पर्यटन मंत्रालय का कार्यभार सौंपा गया है.

शशि थरूर

केरल के तिरुअनंतपुरम से सांसद शशि थरूर को एक बार फिर राज्यमंत्री के रूप में मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है. इससे पहले उन्हें विदेश राज्यमंत्री बना गया था, लेकिन आईपीएल फ्रेंचाइजी विवाद के कारण उन्हें इस्तीफा देना पड़ा था. थरूर को अब मानव संसाधन राज्यमंत्री बनाया गया है.

तारिक अनवर

राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के राज्यसभा सांसद तारिक अनवर को कृषि एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्यमंत्री बनाया गया है.

के सुरेश

केरल के मेवलीकारा से सांसद के सुरेश को श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री बनाया गया है.

केजय सूर्य प्रकाश रेड्डी

आंध्र प्रदेश के कुरनूल से सांसद सूर्य प्रकाश रेड्डी रेल राज्यमंत्री बनाया गया है.

रानी नाराह

असम के लखीमपुर से सांसद रानी नाराह को आदिवासी मामलों का राज्यमंत्री बनाया गया है.

अधीर रंजन चौधरी

पश्चिम बंगाल के बहरामपुर से सांसद अधीर रंजन चौधरी को रेल राज्यमंत्री बनाया गया है.

एएच खान चौधरी

पश्चिम बंगाल के मालदा [दक्षिण] से सांसद अबु हसन खान चौधरी को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री बनाया गया है.

एस सत्यनारायण

आंध्र प्रदेश के मलकागिरी से सांसद सर्व सत्यनारायण को सड़क एवं उच्च राजपथ राज्यमंत्री बनाया गया है.

निनॉन्ग इरिंग

अरुणाचल प्रदेश के अरुणाचल [पूर्व] से सांसद निनॉन्ग इरिंग को अल्पसंख्यक मामलों का राज्यमंत्री बनाया गया है.

दीपा दासमुंशी

पश्चिम बंगाल के रायगंज से सांसद दीपा दासमुंशी को शहरी विकास राज्यमंत्री बनाया गया है.

बलराम नायक

आंध्र प्रदेश के महबूबाबाद से सांसद पोरिका बलराम नायक को सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री बनाया गया है.

डॉ. कृपा रानी किल्ली

आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम से सांसद डॉ. किल्ली को संचार एवं सूचना तकनीक मंत्रालय में राज्यमंत्री बनाया गया है.

लालचंद कटारिया

राजस्थान के जयपुर [ग्रामीण] से सांसद लालचंद कटारिया को रक्षा राज्यमंत्री बनाया गया है.

कैबिनेट मंत्रियों का नया विभाग

वीरप्पा मोइली–पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस

एस जयपाल रेड्डी–विज्ञान एवं तकनीक तथा पृथ्वी विज्ञान

कमलनाथ–शहरी विकास एवं संसदीय मामले

व्यालार रवि– प्रवासी भारतीय मामले

कपिल सिब्बल–संचार एवं सूचना तकनीक

सी पी जोशी–सड़क परिवहन एवं उच्च राजपथ

कुमारी शैलजा–समाजिक न्याय एवं अधिकारिता

पवन कुमार बंसल–रेल

सलमान खुर्शीद–विदेश

जयराम रमेश–ग्रामीण विकास

राज्यमंत्रियों [स्वतंत्र प्रभार] का नया विभाग

ज्योतिरादित्य सिंधिया–ऊर्जा

केएच मुनियप्पा–लघु एवं कुटीर उद्योग

भरतसिंह सोलंकी–पेयजल एवं सफाई

सचिन पायलट–कंपनी मामले

जितेंद्र सिंह–युवा मामले एवं खेल

राज्यमंत्रियों का नया विभाग

ई अहमद–विदेश

डी पुरंदेश्वरी–वाणिज्य एवं उद्योग

जितिन प्रसाद–रक्षा एवं मानव संसाधान

डॉ. एस जगतरक्षकन–अक्षय ऊर्जा

आरपीएन सिंह–गृह

केसी वेणुगोपाल–नागरिक उड्डयन

राजीव शुक्ला–संसदीय कार्य एवं योजना

 

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

पाकिस्‍तान ने नहीं किया लेकिन भाजपा ने कर दिखाया..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: