/अक्षय के साथ आयटम नंबर करना मेरे लिए एक सपना पूरे होने जैसा है” – क्लौडिया सिसला

अक्षय के साथ आयटम नंबर करना मेरे लिए एक सपना पूरे होने जैसा है” – क्लौडिया सिसला

अभी तक जब भी कभी बलमा का जिक्र आता था तो हम सबकी जुबान पर हवा हवाई यानि श्रीदेवी का ही नाम होता था लेकिन अब एक नई ‘बलमा’  गर्ल का नाम आज हर किसी की जुबान पर है आप समझ गए न कि हम किसकी बात कर रहे हैं? जी हाँ हम बात कर रहे हैं खूबसूरत क्लौडिया सिसला के बारे में.

जिनका पहला आयटम नंबर ‘बलमा’ बहुत ही लोकप्रिय हो रहा है, फिल्म खिलाडी 786 के इस आयटम नंबर में क्लौडिया ने खिलाडी कुमार के साथ जबरदस्त डांस किया है. अपनी इस पहली सफलता से बहुत खुश हैं क्लौडिया.

उनसे विस्तृत बातचीत हुई प्रस्तुत हैं कुछ मुख्य अंश  ——-

श्रीदेवी के बाद अब आपको बलमा‘ गर्ल के रूप में पहचान मिल रही है यह सुनकर आप कैसा महसूस कर रही  हैं ?

श्रीदेवी जी  की तो बात ही कुछ अलग है . वो एक आइकन है और मैं तो कुछ भी नही उनके सामने, लेकिन अगर यह सच है जैसा आपने बताया तो मेरे लिए बहुत ही ख़ुशी की बात है.

कितना समय लगा इस डांस नंबर को शूट करने में ?  रिहर्सल में कितना वक्त लगा ?

3 दिन लगे इसको शूट करने में और मुंबई में ही शूट किया गया यह गीत. शूटिंग से पहले 2 दिन लगे मुझे अभ्यास करने में, लेकिन मैं गणेश मास्टर जी और उनकी टीम की आभारी हूँ जिनकी वजह से इस डांस ने दर्शकों पर जादू चला दिया .

कैसे अनुभव रहा  गणेश मास्टर के साथ काम करना 

बहुत ही अच्छा रहा मास्टर गणेश के साथ काम करना, मेरा यह पहला ही आयटम नंबर था और मैं बहुत ही नर्वस हो रही थी लेकिन उन्होंने मुझे ऐसा कुछ भी महसूस नही होने दिया. I

किसी तरह का कोई टेंशन गीत की शूटिंग से पहले ?

हाँ थोडा तो था ही क्योंकि एक तो मेरा पहला आयटम नंबर वो भी अक्षय के साथ , लेकिन सब ठीक रहा और अक्षय ने भी यह मुझे महसूस नही होने दिया कि  हम पहली ही बार साथ काम कर रहे हैं.

बलमा‘ के बाद भी कोई आयटम नंबर कर रही हैं क्या?

अभी तो मैं इसके प्रोमोशन में व्यस्त हूँ हाँ- अगर बलमा की तरह ही किसी गीत का ऑफर आएगा तो जरुर ही करूंगी .

श्रेया आज की नंबर वन गायिका मानी जाती हैं उन्होंने आपके  लिए आवाज़ दी है बलमा‘ मेंकुछ कहना चाहेगी इस बारे में ?

श्रेया मेरे भी पसंदीदा गायिका हैं और उस पर हिमेश का संगीत तो जैसा सोने पे सुहागा हो गया मेरे लिए, मैं बहुत ही खुश नसीब हूँ की ‘बलमा’ गीत पर  मैंने डांस  किया है.

 

[yframe url=’https://www.youtube.com/watch?v=kPmAJPUVY8I’]
Facebook Comments

संबंधित खबरें:

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.