Loading...
You are here:  Home  >  राजनीति  >  Current Article

परिवार चलाने के लिए 600 रुपये काफी : शीला दीक्षित

By   /  December 16, 2012  /  25 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलुवालिया की 28 रूपये भोजन पर खर्च करने वाले परिवार को अमीर की श्रेणी में रखने वाली रिपोर्ट को भी पीछे छोड़ते हुए लाखों रुपये महीना खर्च कर देने वाली दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने महंगाई की वजह से परेशान जनता के जले पर नमक छिड़कते हुए बयान दिया है कि पांच सदस्यों के गरीब परिवार के लिए 600 रुपये महीना काफी है. यानी एक दिन में एक व्यक्ति का काम मात्र चार रुपये के अनाज में चल सकता है.sheila-dixit-cm-delhi

उन्होंने यह बयान अन्न श्री योजना के शुभारंभ के मौके पर दिया. शीला के इस बयान पर बवाल मचना तय है. शीला ने कहा कि दाल, रोटी और चावल के लिए गरीब परिवार के लिए 600 रुपये की कैश सब्सिडी काफी है. शीला ने जब यह बयान दिया, तब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी मौजूद थीं.

गौरतलब है कि दिल्ली सरकार ने शनिवार को अन्न श्री योजना की शुरुआत की. इस स्कीम के तहत जरूरतमंद परिवार को हर महीने 600 रुपये राशन खरीदने के लिए दिए जाएंगे, जो सीधे परिवार की महिला सदस्य के बैंक एकाउंट में ट्रांसफर कर दिए जाएंगे. इस योजना का लाभ 25 लाख लोगों को मिलेगा.

इस योजना से लाभान्वित होने वाले लोगों ने शीला के बयान पर कड़ी आपत्ति जताई. एक महिला ने कहा कि पांच से सात लोगों के परिवार में महीने का राशन 1000 से 3000 रुपये के बीच आता है और यह बताने की जरूरत नहीं.

पश्चिम दिल्ली की झुग्गी बस्ती में रहने वाली माया देवी ने कहा कि अगर एक गरीब परिवार के लिए 600 रुपये काफी हैं तो बीमारी, आवास की समस्या और महंगाई में गुजारा कैसे होगा. 600 रुपये सिर्फ एक सहारा भर है. नहीं से अच्छा है कि कुछ तो मिलेगा. गंगा देवी ने कहा कि वह हर महीने राशन पर 3,000 रुपये खर्च करती हैं. फिर 600 रुपये में क्या होगा?

योजना को शुरू करने के मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि ये योजना आधार कार्ड से जुड़ी होगी और पीडीएस स्कीम से अलग होगी. सोनिया गांधी ने अन्न श्री योजना लागू करने के लिए दिल्ल सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि इस स्कीम की सबसे अच्छी बात ये है कि पैसा जरूरतमंद परिवार की महिला सदस्य को मिलेगा. सोनिया गांधी ने कहा कि यूपीए और कांग्रेस की सरकार गरीबों को भोजन देने की गांरटी को लेकर गंभीर है और जल्द ही संसद में फूड सिक्योरिटी बिल पेश किया जाएगा.

 

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

25 Comments

  1. Harry Sharma says:

    is desh ke netaao ka or yojna aayog bnane walo ka dimaag khrab ho gya hai pta nahi kab aise neaaon se is deh ko nizaat milegi.

  2. Harry Sharma says:

    sheela dixit ko hi 600 rs. milne chahiye fir dekhte hai ki yes shila ghar mr rashan Laa sakti kya.

  3. Jyoti says:

    I feel ashamed when I found such people are ruling us. How come a CM can speak such rubish and stay in chair? What sort of country we are living in? Before school education we need to educate our public whom to vote for. And we need to change our constitution so that politicians are not allowed to frame rules for themselves. If situation remains same we would be slaves again verysoon.

  4. Vijay Mehta says:

    Aida kuch karo, kuj ve, jo theek samjh aye.

  5. Kamal Verma says:

    Phir to india ka annual budget bhi bhi kuchh 10-20 Cr hi hona chahiye..!

  6. जनता की मेहनत की कमाई का दुरूपयोग कर रहें है

  7. Rs600 /- गरीबों को अक्रसित करने के लिए काफी है

  8. Vijay Mehta says:

    Yeh aurat to begair Deemag key hai, koi fayda nahee hai kuch kehney ka, saath mai Mantok ji soney per suga hai ram hee malik hai is desh ka. Loot leney do inlo sab yahee per reh jayega Ponty Chadha sab chod gaya inka pata nahee kaya hoga.

  9. जिसको पागल खाने में तो होना चाहिए उनको सत्ता में बैठाओ और उनसे परिणाम की आशा करो दोनों सम्भव नहीं हैं.

  10. Aarif Khan says:

    Sheela to bs sheela h, wo pariwar chla sakti h 600 rs mahine main pure ek mahina…waah sheela waah, ek to tum logo pr hasssi bhi aata h or duari taraf gussa ki hum logo ne kaise logo ko vote diya…mera bharat mahan h.

  11. Sonu Kumar says:

    पांच सदस्यों के गरीब परिवार के लिए 600 रुपये महीना काफी है. यानी एक दिन में एक व्यक्ति का काम मात्र चार रुपये के अनाज में चल सकता है………….

  12. Sheela ji kya yes sambhav hai ki kisi parivar ka kharch kewal 600/- me chal jayega…hop aap apne aomment par vichar karengi ji…thanx..

  13. Deep Narayan says:

    माँ की आँखे

  14. Deep Narayan says:

    इन बूथ आएये यूथ्स ,क्योंकि साधिय जाने के बाद किसी का दिमांग काम कैसे काम करता है ये तो वही जाने की ६००० में चलता है के ६०० महीने में ,cm दादी ग को चाहिए की अपने घर पर देखे और गरीभ का भी …….

  15. nako kaise pata hoga ki 600 me ghar chal sakta hai ya nahi bas final ki tyari ho rahi hai

  16. जिसको पागल खाने में तो होना चाहिए उनको सत्ता में बैठाओ और उनसे परिणाम की आशा करो दोनों सम्भव नहीं हैं !!

  17. Sahi hai Updesh dena asan hai parantu is manhagai mein kharch chalane wale hi jante hai iski musabito ko

  18. Swati Gupta says:

    sheela dixit to free me bhi kaam chala sakti hai unka kharcha to sarkari machiniry karti hai ek eshare par builder aur thekedar har cheej hajir kar denge 600 rs to bonus hoga

  19. Par Hit Updesh Bahutare

  20. Saleem Khan says:

    Bhooki mar jaayegi khud bhi …!!!

  21. she should take 600 /PM salary

  22. 2000 .hu de re hi Kay app.is true.is.se.agree .wo apn .ghagra ko ..meng ker to.hum..be.5o0 me..apn ghagra.chill..leg

  23. Ajay Yadav says:

    kurshi par badne ke bhad har koi jban chla sakta hai ashal jindgi me chala kar dikhye to mane ye shilla nahi uski kurshi ka grur bol raha hai

  24. jinko kuch nahi milta ye unse pucho ki 600/ kya hote hain.

  25. Raj Madaan says:

    Sheela ji se pucho ki aaj ke time 600/- rs mai milta kya hai 7 va cylendr to gvt. Ne 900/- ka kr diya .600/- mai to bachho ki fee bhi poori nhi hoti.

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

पाकिस्‍तान ने नहीं किया लेकिन भाजपा ने कर दिखाया..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: