Loading...
You are here:  Home  >  मीडिया  >  मनोरंजन  >  Current Article

कामसूत्र-3डी पब्लिसिटी स्टंट बन गया नग्न सुन्दरी के लिए..

By   /  February 27, 2013  /  6 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

प्लेब्वॉय मैगजीन में बोल्ड फोटोशूट देने वाली शर्लिन चोपड़ा की कामसूत्र-3डी में वापसी हो रही है. गौरतलब है कि शर्लिन चोपड़ा द्वारा रुपेश पॉल की फिल्म कामसूत्र-3डी की शूटिंग के अंश बिना रुपेश की अनुमति के इन्टरनेट पर अपलोड कर दिए जाने पर शर्लिन को फिल्म से निकाल बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था. sharline
जाहिर है कि कुछ दिनों पहले खबर आई थी कि शर्लिन को रुपेश पॉल की फिल्म कामसूत्र-3डी से बाहर निकाल दिया गया है. लेकिन अब सूत्रों की मानें तो शर्लिन चोपड़ा ने फिल्म के डायरेक्टर रुपेश पॉल से सुलह कर ली है. फिल्म की शूटिंग अगले महीने से राजस्थान में हो रही हैं. यह भी माना जा रहा है कि इसके लिए रुपेश ने शर्लिन के सामने कुछ शर्ते रखी है जिसे वह मान गई है.

गौरतलब है कि बीते दिनों शर्लिन ने फिल्म का एक दृश्य निर्माता से पूछे बगैर ही इंटरनेट पर अपलोड कर दिया था, इस बात को लेकर रूपेश बेहद नाराज हुए थे और उन्होंने शर्लिन को फिल्म से बाहर करने का फैसला कर लिया था. लेकिन अब दोनों ने एक दूसरे से बातचीत करके मामला का निपटारा कर लिया है. बताया जाता है कि बॉलीवुड में अपना करियर की शुरुआत करने के लिए शर्लिन के लिए यह फिल्म काफी महत्वपूर्ण है.

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

6 Comments

  1. Jyotish Seva says:

    भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए प्रत्येक महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को व्रत किया जाता है, इसे गणेश चतुर्थी व्रत कहते हंै। इस बार यह व्रत 1 मार्च, शुक्रवार को है। गणेश चतुर्थी का व्रत इस प्रकार करें-

    – सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि काम जल्दी ही निपटा लें।.

    – दोपहर के समय अपने सामथ्र्य के अनुसार सोने, चांदी, तांबे, पीतल या मिट्टी से बनी भगवान गणेश की प्रतिमा स्थापित करें।.

    – संकल्प मंत्र के बाद श्रीगणेश की षोड़शोपचार पूजन-आरती करें। गणेशजी की मूर्ति पर सिंदूर चढ़ाएं। गणेश मंत्र (ऊँ गं गणपतयै नम:) बोलते हुए 21 दूर्वा दल चढ़ाएं।.

    – गुड़ या बूंदी के 21 लड्डूओं का भोग लगाएं। इनमें से 5 लड्डू मूर्ति के पास रख दें तथा 5 ब्राह्मण को दान कर दें शेष लड्डू प्रसाद के रूप में बांट दें।.

    – पूजा में भगवान श्री गणेश स्त्रोत, अथर्वशीर्ष, संकटनाशक स्त्रोत आदि का पाठ करें।.

    – ब्राह्मण भोजन कराएं और उन्हें दक्षिणा प्रदान करने के पश्चात् संध्या के समय स्वयं भोजन ग्रहण करें। संभव हो तो उपवास करें।.

    व्रत का आस्था और श्रद्धा से पालन करने पर भगवान श्रीगणेश की कृपा से मनोरथ पूरे होते हैं और जीवन में निरंतर सफलता प्राप्त होती है।.

  2. Neeraj Agarwal says:

    waha kya baat hai. ab nanga pan bhi itni izzat de kar becha jayega.

  3. Sahil Khan says:

    Ye kam sutar kiya hota hai

  4. Rahul Insa says:

    hame bhi baata do kam sutar ka yog

  5. Pooja Ji says:

    grt…

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

पद्मावती: एक तीर से कई शिकार..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: