Loading...
You are here:  Home  >  अपराध  >  Current Article

दुष्कर्म पीडिता का बयान होने से पहले उसकी जुबान काट डाली..

By   /  July 11, 2013  /  2 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

यूपी में दरिंदों के हौसले इस कदर बुलंद हैं जिसका एक खौफनाक उदाहरण प्रतापगढ़ में सामने आया है. प्रतापगढ़ के नौबस्ता गांव में एक दुष्कर्म पीड़ित नाबालिग लड़की की जुबान काट डाली गई ताकि वो कोर्ट में बयान न दे सके.rape_victim_400

यह लड़की बेहद गंभीर हालात में जिंदगी की जंग लड़ रही है. खास बात यह है कि लड़की को अपने साथ हुए गुनाह की इसी महीने 24 तारीख को गवाही देनी थी और कोर्ट में 164 के तहत बयान दर्ज करा कर बलात्कार के आरोपियों को बेनकाब करना था.

लेकिन दरिंदगी देखिए कि नाबालिग लड़की गवाही न दे सके इसलिए इसकी जुबान ही काट डाली गई. अब यह लड़की जिंदगी प्रतापगढ़ केजिला अस्पताल में जिंदगी की जंग लड़ रही है.

लड़की के परिजनों के मुताबिक आरोप है कि स्थानीय युवक लवलेश और उसके साथी हैं जोकि लालजी नाम के दबंग शख्स का भाई है. सबसे हैरान करने वाली बात ये है कि एसपी ने जीभ पर जख्म की बात यह इनकार किया है.

जिला अस्पताल में गंभीर हालत में जिंदगी से जंग लड़ रही यह नाबालिग युवती जेठवारा थाना के नौबस्ता गांव की है. इस युवती को गांव के लवलेश नाम के एक युवक ने बाईस जनवरी को जबरन अपनी हवस का शिकार बनाया.

पीड़ित परिवार ने जब इस मामले में आप बीती स्थानीय थाने की पुलिस को बतायी तो पुलिस आरोपी के विरुद्ध बलात्कार का मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

इस मामले में पीडिता का न्यायालय में 24 जुलाई को बयान होना था लेकिन उसके पहले ही सच्चाई खुलने की डर से आरोपी युवक के भाई और उसकी बुआ का लड़के कुंदन ने उसकी जुबान को धारदार हथियार से उस समय काटने का प्रयास किया जब वह बीती रात सोंच के लिए घर से बहार निकली थी.

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

2 Comments

  1. Kanuan Nariy ka koeya matlab nhia hia kiwa ki blatkar krta bchny kaliya hia
    jiabha kat lata hay papiy kabtak bchyga hamara kanuan guaga and bharabhia

  2. joa admia uskia juban kta hiya jata koa chahiya kia uskia juban kat lya tab shia hoga.

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

पनामा के बाद पैराडाइज पेपर्स लीक..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: