Loading...
You are here:  Home  >  दुनियां  >  देश  >  Current Article

पायलेट ने अभिनेत्री को कॉकपिट में बिठा कर सैर करवाई..

By   /  July 18, 2013  /  4 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

हवाई जहाज के कॉकपिट पर बैठने की इजाजत सिर्फ चुनिंदा लोगों को है, जिसमें एग्जैमिनर्स-ऑब्जर्वर्स और  ट्रेनी पायलट ही हो सकते हैं. पर  एयर इंडिया के पायलटों ने सारे नियमों को ताक पर रखकर यात्रियों की जिंदगी दांव पर लगा दी. बेंगलुरु-हैदराबाद फ्लाइट में पायलटों ने दक्षिण भारतीय फिल्मों की एक बड़ी एक्ट्रेस को कॉकपिट में ऑब्जर्वर की सीट पर बैठाकर यात्रा करवाई.air-india

एयर इंडिया ने घटना की तारीख के बारे में तो नहीं बताया है, लेकिन प्रवक्ता ने इस पूरे मामले की पुष्टि करते हुए कहा कि दोनों पायलटों को निलंबित कर दिया गया है. सूत्रों ने बताया कि जिस पायलट ने एक्ट्रेस को कॉकपिट में एंट्री दी वह इंडियन कमर्शल पायलट यूनियन के पूर्व पदाधिकारी हैं. एक्ट्रेस पूरे सफर के दौरान कॉकपिट में ही रहीं. यह मामला एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी की वजह से सामने आया. वह इसी फ्लाइट में मौजूद थे और उन्होंने इसकी शिकायत की थी.

एविएशन सुरक्षा मामलों के विशेषज्ञ कैप्टन मोहन रंगनाथन ने बताया, ‘नियमों के मुताबिक कॉकपिट में दूसरे लोगों की एंट्री प्रतिबंधित है. एक तरफ जहां इससे ध्यान भंग होने का खतरा रहता है, वहीं आपात स्थिति में कॉकपिट के भीतर गैर-प्रशिक्षित शख्स के होने से समस्या हो सकती है. असल में यह अनुशासनहीनता है.’

 

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

4 Comments

  1. Vaishali Shreedutta Tiwari says:

    jaroor koi shayri ka bhoot chhadha hoga 🙂

  2. Vaishali Shreedutta Tiwari says:

    Abhishek Tiwari good mrng prabhu app itne savere savere

  3. Vaishali Shreedutta Tiwari says:

    in ladkiyo ka kuch nahi ho sakta jab tak khud ka dimag nahi lagayengi aise he rape flurt ki use to banti rahegi , koi chah k b kuch nahi kar sakta.
    kya duniya me sirf sharirik shosad karana he ek paise kamane ka jariya bacha hai?

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

जौहर : कब और कैसे..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: