Loading...
You are here:  Home  >  राजनीति  >  Current Article

पंचकूला में करोड़ों के प्लाट हुडडा के चहेतों को दे दिए मिट्टी के मोल..

By   /  July 28, 2013  /  1 Comment

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

-महेंद्र राठौड़||

चंडीगढ़: इनेलो ने मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर अपने चहेतों व करीबी लोगों को पंचकूला में औद्योगिक प्लॉट दिए जाने की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री सत्ता से जाते-जाते अपने करीबी लोगों को मालामाल करने व चहेतों को प्लॉटों की रेवडिय़ां बांटने में लगे हुए हैं.huda

इनेलो के प्रदेश संगठन सचिव व कलायत के विधायक रामपाल माजरा ने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण द्वारा इसी महीने 2 जुलाई को पंचकूला में अलॉट किए गए औद्योगिक प्लॉटों को पाने वालों की सूची जारी करते हुए कहा कि प्लॉट पाने वालों में मुख्यमंत्री के ओएसडी, मुख्यमंत्री के सचिव, हरियाणा के अतिरिक्त महाधिवक्ता, वरिष्ठ अतिरिक्त महाधिवक्ता, एक पूर्व कांग्रेस विधायक का बेटा, मुख्यमंत्री के समधि के करीबी लोग और एक विश्वविद्यालय के कुलपति के पारिवारिक सदस्य भी शामिल हैं. श्री माजरा ने कहा कि हुड्डा द्वारा इन प्रभावशाली लोगों को ये औद्योगिक प्लॉट कौडिय़ों के भाव दिए गए हैं और जिसके बाजार मूल्य और अलॉटमेंट मूल्य में करोड़ों रुपए का अंतर है जिससे मुख्यमंत्री ने अपने चहेतों को करोड़ों का फायदा पहुंचाया है. पत्रकार सम्मेलन में इनेलो के राष्ट्रीय महासचिव आरएस चौधरी, कालका के विधायक प्रदीप चौधरी, प्रदेश महासचिव अशोक शेरवाल, पूर्व डीजीपी एमएस मलिक व पार्टी के मीडिया प्रभारी राम सिंह बराड़ भी मौजूद थे.

श्री माजरा ने कहा कि मुख्यमंत्री जो कि हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (हुडा) के चेयरमैन भी हैं, की मंजूरी के बाद 2 जुलाई को पंचकूला में 14 औद्योगिक प्लॉट अलॉट किए गए. उन्होंने कहा कि प्लॉट पाने वालों में मुख्यमंत्री के ओएसडी बीआर बेरी की पुत्रवधू श्रीमती मोना बेरी, मुख्यमंत्री के सचिव सिंह राम का बेटा प्रदीप कुमार, थानेसर के पूर्व कांगे्रस विधायक रमेश गुप्ता के बेटे अमन गुप्ता, हरियाणा के वरिष्ठ अतिरिक्त महाधिवक्ता एवं मुख्यमंत्री के बेहद करीबी नरेंद्र हुड्डा की पत्नी नंदिता हुड्डा व हरियाणा के अतिरिक्त महाधिवक्ता प्रभजीत सिंह की पत्नी श्रीमती मनजोत कौर भी शामिल हैं.

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के बेहद करीबी व हरियाणा के सीनियर डिप्टी एडवोकेट जनरल एवं रोहतक निवासी सुनील कत्याल के पारिवारिक सदस्य डागर कत्याल, मुख्यमंत्री के करीबी संजीव भारद्वाज के बेटे सिद्धार्थ भारद्वाज, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल डीडीएस संधू के पारिवारिक सदस्य कंवरप्रीत सिंह संधू, मु यमंत्री के समधि एवं पूर्व मंत्री करण सिंह दलाल के रिश्तेदार लेफ्टिनेंट कर्नल ओपी दहिया और मुख्यमंत्री के बेहद करीबी   परिवार की सदस्य सेक्टर-28 निवासी श्रीमती रेणू हुड्डा भी शामिल हैं. इसके अलावा मुझ्यमंत्री के एक अन्य करीबी मित्र , जो पीजीआई से रिटायरमेंट लेकर आजकल प्राइवेट प्रेक्टिस करते हैं, डॉ. गणेश दत्त भी प्लॉट पाने वालों में शामिल हैं.

श्री माजरा ने कहा कि हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की ओर से जो कुल 14 प्लॉट अलॉट किए गए हैं उनमें बाकी तीन प्लॉट भी पाने वालों में मु यमंत्री के करीबी लोग शामिल हैं. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के ओएसडी बीआर बेरी न सिर्फ रिटायरमेंट के बाद भी अपने पद पर जमे हुए हैं बल्कि उनकी पुत्रवधू को औद्योगिक प्लॉट भी दे दिया गया है. उन्होंने कहा कि हरियाणा के वरिष्ठ अतिरिक्त महाधिवक्ता नरेंद्र हुड्डा की पत्नी पंचकूला के साथ लगते मोरनी रोड पर स्थित शानदार होटल गोल्डन ट्यूलिप की भी मालिक बताई जाती हैं और यह परिवार भी मुख्यमंत्री के बेहद करीबी लोगों में है. श्री माजरा ने मुख्यमंत्री द्वारा अपने चहेतों को की गई औद्योगिक प्लॉटों की बंदरबांट की तीखी आलोचना करते हुए यह अलॉटमेंट तुरंत रद्द किए जाने की मांग की.

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

1 Comment

  1. Vijay Kamboj says:

    yahi hoga abh apni chalti me koi kasar nahi chhodta.

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

पाकिस्‍तान ने नहीं किया लेकिन भाजपा ने कर दिखाया..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: