/दाऊद इब्राहिम अब भी पाकिस्तान में…

दाऊद इब्राहिम अब भी पाकिस्तान में…

भारतीय खुफिया एजेंसियों ने दावा किया है कि नवाज शरीफ के खास दूत शहरयार खान झूठ बोल रहे हैं कि दाऊद इब्राहिम को पकिस्तान से खदेड़ दिया गया है. खुफिया एजंसियों का मानना है कि दाऊद इब्राहिम अब भी पाकिस्तान में ही है.दाऊद इब्राहिम

इसी बीच पाकिस्तान में दाऊद इब्राहिम की मौजूदगी की बात कबूलने वाले नवाज शरीफ के खास दूत शहरयार खान अपने बयान से पलट गए हैं. उन्होंने कहा है कि दाऊद इब्राहिम की लोकेशन के बारे में उन्हें कभी कोई जानकारी नहीं थी.

लेकिन इंटेलीजेंस ब्यूरो (आईबी) के सूत्रों के दावे के मुताबिक, दाऊद अब भी पाकिस्तान में ही है. शनिवार को एक पाकिस्तानी न्यूज चैनल से बातचीत में शहरयार ने कहा, ‘विदेश सचिव रहते हुए, उससे पहले या बाद में, मैं कभी भी नहीं जानता था कि दाऊद इब्राहिम कहां रहता है. मैं सिर्फ उसका जिक्र कर रहा था जो पाकिस्तानी मीडिया ने कहा. यह मेरी कही बात नहीं है और न ही मुझे इस बारे में कोई जानकारी है.’

जबकि लंदन में शुक्रवार को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विशेष दूत शहरयार खान ने बेबाकी से कहा था कि “दाऊद पाकिस्तान में था. लेकिन मेरा मानना है कि उसे पाकिस्तान से बाहर खदेड़ दिया गया है. अगर वह पाकिस्तान में है तो उसे ढूंढ़ कर गिरफ्तार कर लिया जाएगा. हम इस तरह के गैंगस्टरों को अपने देश से गतिविधियां चलाने नहीं दे सकते. पूर्व राजनयिक ने जोर देकर कहा था कि अगर दाऊद उनके देश में होता तो उसे अब तक गिरफ्तार कर लिया गया होता.”

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.