/स्वतंत्रता दिवस पर किसान रेस्ट हाउस में गुलछर्रे…

स्वतंत्रता दिवस पर किसान रेस्ट हाउस में गुलछर्रे…

स्वतंत्रता दिवस पर रेस्ट हाऊस में पैग लगा रहे मार्केट कमेटी सचिव व कर्मचारियों ने पत्रकारों से मारपीट की..पत्रकारों के मोबाइल व कैमरा छीने, आरोपी सचिव को जेल भेजा…

-बरवाला से रोहित कुमार व गणेश वलेचा की रिपोर्ट||

16 barwala 3ddf
बरवाला में पत्रकारों से मारपीट करने के आरोपी मार्केट कमेटी सचिव अजय श्योराण को कोर्ट में पेश करने के लिए ले जाती पुलिस

हरियाणा के हिसार जिले के बरवाला उपमंडल के रेलवे रोड स्थित किसान रेस्ट हाऊस में स्वतंत्रता दिवस की शाम को मार्केट कमेटी सचिव अजय श्योराण अपने सहयोगी कर्मचारियों के साथ पैग लगा रहे थे. सूचना पाकर कवरेज करने पहुंचे खबरे अभी तक, फोक्स टीवी, आज समाज के संवाददाता राजकुमार सरदाना व जनता टीवी के संवाददाता संजय गिरधर पर अधिकारी व कर्मचारियों ने हमला बोल दिया. कमेटी अधिकारियों ने पत्रकार राजकुमार व संजय गिरधर के मोबाइल व कैमरा छीन लिया. यही नहीं तैश में आए सचिव श्योराण, कर्मचारी अजमेर व सहायक सचिव मनजीत ने अन्यों के साथ मिलकर पत्रकारों से मारपीट व जान से मारने की धमकी भी दी.

बाद में पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर मार्केट कमेटी सचिव अजय श्योराण को गुरुवार रात को गिरफ्तार कर लिया. शुक्रवार को उसे अदालत में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है. पुलिस ने सचिव से एक मोबाइल भी बरामद किया है. बाकी आरोपी अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं. पुलिस ने सचिव श्योराण का मेडिकल भी करवाया जहां उसके शराब पीने की पुष्टि हुई है. घटना पर विभिन्न सामाजिक व राजनीतिक संगठनों ने रोष जताया है. मीडिया कर्मी इस संबंध में शुक्रवार को डीएसपी जयप्रकाश सिंह से भी मिले तथा बाकी आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की. पुलिस को दी शिकायत में संवाददाता राजकुमार व संजय गिरधर ने कहा है कि उन्हें सूचना मिली थी कि किसान रेस्ट हाऊस में कुछ लोग शराब आदि पी रहे हैं जिसके बाद गुरुवार शाम करीबन 7 बजे वे दोनों मार्केट कमेटी के रेस्ट हाऊस में पहुंचे तो वहां एक कमरे में सचिव अजय श्योराण, कर्मचारी अजमेर सिंह, सहायक सचिव मनजीत व अन्य एसी रूम में शराब का सेवन कर रहे थे. इस बीच जब आरोपियों ने मीडिया कर्मियों को मौके पर आया देखा तो उन्होंने उनके साथ मारपीट करनी शुरू कर दी. इतना ही नहीं आरोपियों में शामिल कर्मचारी अजमेर बाद में एक डंडा ले आया, तथा उसके सहारे भी उन पर वार किए. आरोपियों ने उनके 2 मोबाइल व कैमरा छीन लिया. पूरा मामला इस बीच एक कैमरे में कैद हो गया है, जिसकी फुटेज मीडिया कर्मियों ने डीएसपी जयप्रकाश सिंह, नायब तहसीलदार नेतराम वर्मा व थाना प्रभारी बलबीर सिंह को दिखाई.

मामले के सभी आरोपियों को गिरफ्तार करो

मामले के संबंध में शुक्रवार को बरवाला प्रैस क्लब के सदस्यों की मीटिंग हुई. मीटिंग की अध्यक्षता कर रहे प्रधान विजय भारती ने इस दौरान कहा कि पत्रकारों पर हमले किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे. मीटिंग में निर्णय लिया गया कि पुलिस ने अगर मामले में नामजद अन्य आरोपियों को 24 घंटे के भीतर गिरफ्तार नहीं किया तो क्षेत्र के पत्रकार संघर्ष का रास्ता अख्तियार करने पर मजबूर होंगे. बैठक में प्रैस क्लब सचिव रणधीर सिंह धीरू, कश्मीर महता, उपप्रधान राजकुमार सरदाना, गणेश वलेचा, संजय गिरधर, नंद कुमार गर्ग, रोहित काठपाल, मनदीप राज पूनिया सहित संगठन के सदस्य मौजूद थे.

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.