Loading...
You are here:  Home  >  अपराध  >  Current Article

पिता और जीजा करते थे दुष्कर्म…

By   /  August 19, 2013  /  1 Comment

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

मेरठ निवासी एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर युवती ने अपने चार्टर्ड एकाउंटेंट जीजा और अपने पिता पर दुष्कर्म का सनसनीखेज आरोप लगाया है. बहन और मां के साथ कोतवाली पहुंची युवती ने पुलिस को आपबीती सुनाई और मुकदमा दर्ज करने की मांग की. मामला हाइप्रोफाइल होने के कारण तत्काल अफसरों को सूचना दी गई. पुलिस ने आरोपी पिता को हिरासत में ले लिया है, जबकि आरोपी जीजा फरार है.Rape-help-stop-rape

शहर में स्थित एक आइसीआइसीआइ बैंक की शाखा में तैनात क्लर्क का परिवार स्वामीपाड़ा में रहता है. उन्होंने बड़ी बेटी की शादी तीन वर्ष पहले चार्टर्ड एकाउंटेंट सूरजकुंड निवासी युवक से की थी. छोटी दो बेटियां सॉफ्टवेयर इंजीनियर है. सॉफ्टवेयर इंजीनियर बेटी अपनी शादीशुदा बड़ी बहन और मां के साथ रविवार को कोतवाली पहुंची. उसका आरोप था कि चार्टर्ड एकाउंटेंट जीजा जान से मारने की धमकी देकर 2011 से उसके साथ दुष्कर्म कर रहा है.

पीड़िता ने आरोप लगाया कि जब पिता ने जीजा के साथ रंगे हाथों पकड़ लिया तो उन्होंने भी उसके साथ दुष्कर्म किया. पीड़िता की तहरीर पर इंस्पेक्टर कोतवाली ने तत्काल ही आरोपी पिता को हिरासत में ले लिया. जीजा को पकड़ने के लिए उसके घर पर दबिश दी, लेकिन वह फरार हो चुका था. उसके मोबाइल पर संपर्क किया गया तो उसने दिल्ली जाने की बात कही. इंस्पेक्टर कोतवाली आलोक सिंह ने बताया कि पीड़िता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी.

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

1 Comment

  1. bhuat sarm kia bat hia kia apnia batika daman bchanya ka bjya apna jamiar bachadiya bab ka nam sram sar kar deya eskoa sakt sa sakt saja milna chahiya jija koa fhasea hona chahiya jya hiand jya bharat.

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

पनामा के बाद पैराडाइज पेपर्स लीक..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: