/स्वस्थ आसाराम बीमारी के बहाने छुपा इंदौर आश्रम में…

स्वस्थ आसाराम बीमारी के बहाने छुपा इंदौर आश्रम में…

नाबालिग पर यौन हमले के आरोपी आसाराम के गुर्गों ने आज जोधपुर में टीवी मीडिया कर्मी पत्रकार और कैमरामैन पर हमला बोल दिया और उनके कैमरा तथा अन्य उपकरण तोड़ दिए. इस घटना के बाद आसाराम के समर्थको को रोकने के लिए राजस्थान पुलिस ने जोधपुर शहर स्थित आसाराम के आश्रम की घेरा बंदी कर दी.Angree-Asaram

राजस्थान के मुख्य मंत्री अशोक गहलोत ने आरोंप लगाया कि मीडिया कर्मी पर हमले के पीछे आरएसएस का हाथ था.

दुसरी तरफ आसाराम के बेटे नारायण साईं ने मीडियाकर्मियों को बताया कि आसाराम बापू कहीं भागे नहीं हैं. उनकी तबीयत ठीक नहीं है. जैसे ही तबीयत ठीक होगी वह जांच में सहयोग करने के लिए सामने आ जाएंगे और सभी सवालों के जवाब देंगे. उन्होंने समर्थकों द्वारा मीडिया पर हमले की घटना के लिए माफी मांगी.

इससे पहले आसाराम के इंदौर आश्रम में होने को लेकर शनिवार को दिन भर विरोधाभासी खबरें आती रहीं. सुबह से ही इंदौर पुलिस कह रही थी कि वह आश्रम में नहीं हैं. इस बीच उनके आश्रम में उनके समर्थकों एवं अनुयायियों की भीड़ भी जुटनी शुरू हो गई. आसाराम के समर्थकों का दावा है कि उनके 7 हजार भक्त इंदौर पहुंच चुके हैं. आश्रम के प्रवक्ता ने कहा है कि आसाराम शाम को मीडिया को संबोधित करेंगे.

पुलिस के सीनियर अधिकारी आसाराम के आश्रम पहुंच चुके हैं. बताया जा रहा है कि इंदौर के डीएम भी आश्रम में मौजूद हैं. जोधपुर पुलिस की 15 सदस्यीय टीम भी इंदौर आश्रम पहुंच चुकी है. आसाराम के मिलने की स्थिति में वह यहां उन्हें गिरफ्तार करेगी या सिर्फ पूछताछ करेगी, फिलहाल तय नहीं है.

एक तरफ आसाराम पुलिस को लगातार ठेंगा दिखा रहे हैं, वहीं उनके समर्थक गुंडागर्दी पर उतर आए. जोधपुर में आसाराम के समर्थकों ने आश्रम के बाहर एक न्यूज चैनल की टीम पर हमला बोल दिया और कैमरा तोड़ दिया. पुलिस भी एक घंटे बाद मौके पर पहुंची. आसाराम के समर्थकों ने चैनल के संवाददाता भवानी सिंह और कैमरामैन की पिटाई की, उसके बाद उनके कैमरे को तोड़ दिया. समर्थकों ने मीडियाकर्मियों को लात-घूंसों से पीटा. हालांकि बाद में आसाराम के बेटे नारायण साई ने समर्थकों के व्यवहार के लिए मीडिया से माफी मांग ली.

asaram-imageआसाराम के इंदौर स्थित आश्रम के बाहर शनिवार सुबह सैकड़ों की तादाद में अनुयायियों के जुटने का सिलसिला शुरू हो गया. इंदौर के भंवरकुआं पुलिस थाने के प्रभारी अशोक तिवारी ने बताया कि खंडवा रोड स्थित आसाराम आश्रम के बाहर समर्थकों के जुटने के मद्देनजर ऐहतियात के तौर पर पुलिस बल तैनात किया गया है. पुलिस के आला अधिकारी भी मौके पर मौजूद हैं. उन्होंने कहा कि आसाराम के मौजूदा ठिकाने को लेकर स्थानीय पुलिस को कोई जानकारी नहीं है. क्या आसाराम इस वक्त अपने इंदौर स्थित आश्रम में मौजूद हैं, इस सवाल के जवाब में पुलिस अधिकारी ने कहा कि उनके पास अब तक ऐसी कोई सूचना नहीं है.

उधर, शहर की बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए शाहजहांपुर में कई संगठन आगे आ गए हैं. इन संगठनों ने निर्णायक आंदोलन का ऐलान करते हुए कहा कि आसाराम को गिरफ्तार नहीं किया गया तो अनशन किया जाएगा. आसाराम बापू पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली लड़की के पिता ने भी कहा है कि गिरफ्तारी न होने पर वह शनिवार से अन्न-जल त्याग देंगे.

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.