/अदानी पोर्ट ने पर्यावरण बिगाड़ा, केंद्र ने ठोका रू २०० करोड़ का दंड… शेयर भी औंधे मुंह गिरा..

अदानी पोर्ट ने पर्यावरण बिगाड़ा, केंद्र ने ठोका रू २०० करोड़ का दंड… शेयर भी औंधे मुंह गिरा..

-नचिकेता देसाई||
अहमदाबाद: नरेन्द्र मोदी के चहेते उद्योग समूह के अदानी मुंद्रा पोर्ट और स्पेशल इकनोमिक जोन पर केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने आज 200 करोड़ रुपये का दंड ठोक दिया जिसके चलते उसके स्टॉक मार्किट में अदानी समूह के भाव में भारी गिरावट आ गयी.narendra

पर्यावरण मंत्रालय ने अदानी समूह को बंदरगाह बनाते समय तटवर्ती मैन्ग्रोव नष्ट करने का दोषी पाया है और इसी वजह से उस पर इतना भारी दंड लगाया है. हाल ही गांधीनगर में गुजरात सरकार आयोजित मैन्ग्रोव बचाने के विषय पर हुए अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार में कंपनी के एक उच्च अधिकारी ने दावा किया था कि उसने बड़ी भारी संख्या में मैन्ग्रोव लगा कर विश्व रिकॉर्ड कायम किया है.

केंद्र सरकार ने पांच सदस्यों के एक जांच आयोग का गठन किया था यह जानने के लिए कि अदानी समूह ने मैन्ग्रोव काट कर समुद्रीय पर्यावरण को नुक्सान तो नहीं पहुँचाया. इस जांच में अदानी समूह को पांच हेक्टेयर समुद्री तट मैन्ग्रोव नष्ट करने का दोषी पाया गया.

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.