Loading...
You are here:  Home  >  अपराध  >  Current Article

बढ़ते जा रहे हैं राजनेताओं के सेक्स स्कैंडल…

By   /  September 19, 2013  /  2 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

पॉवर का नशा सर चढ़ कर बोलता है और पॉवर मिलने के बाद मस्ती भी सूझती है. अब पॉवर भी है, मिजाज़ भी और मौके भी तो मौज मस्ती भी तो होगी ही. ऐसा नहीं है कि जो सेक्स स्कैंडल सामने आये उसके अलावा कोई राजनेता मौज मस्ती नहीं मारता रहा हो. लेकिन यहाँ हम उन्ही सेक्स स्कैंडल्स की चर्चा कर रहे हैं जो पिछले कुछ सालों में सामने आये हैं.

राघवजी सेक्स स्केंडल (2013)

अपने नौकर के साथ अप्राकृतिक सेक्स करने के आरोप में मध्यप्रदेश के वित्त मंत्री को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा. इसके दो दिन बाद राघवजी को भोपाल में अरेस्ट कर लिया गया. राघवजी (79) को एक फ्लैट से पकड़ा गया. यह फ्लैट बाहर से बंद था, इस पर ताला जड़ा था.chand mohammad and fiza

सपा विधायक सेक्स स्केंडल (2013)

सपा विधायक महेंद्र कुमार सिंह को अगस्त में गोवा में पांच अन्य लोगों के साथ गोवा के डांस बार से अरेस्ट किया गया. इन्हें वेश्यावृति निरोधी कानून के तहत अरेस्ट किया गया. सिंह (55) उत्तरप्रदेश में सीतापुर से विधायक है. उसे पंजिम में एक अवैध डांस बार से अरेस्ट किया गया. पुलिस के अनुसार ये लोग अपने साथ लड़कियां लाए थे तथा उन्हीं के साथ होटल में ठहरे थे.

गोपाल कांडा -गीतिका शर्मा स्केंडल (2012)

हरियाणा के पूर्व मंत्री गोपाल कांडा को एक पूर्व एयरहोस्टेस को आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. वह अभी जेल में ही है. गीतिका ने दिल्ली स्थित अपने घर में पांच अगस्त 2012 को आत्महत्या कर ली थी. उसने अपने सुसाइड नोट में इसके लिए गोपाल कांडा को जिम्मेदार ठहरया. गोपाल पर गीतिका के साथ अप्राकृतिक सेक्स करने के भी आरोप लगे.

अभिषेक मनु सिंघवी सीडी स्केंडल (2012)

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी भी सेक्स स्केंडल में फंसे. एक सीडी सामने आई. यह सीडी सिंघवी के ही पूर्व ड्राइवर ने बनाई थी. इस सीडी में अभिषेक को एक महिला के साथ आपत्तिजनक स्थिति में दिखाया गया. सिंघवी ने दिल्ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया और मांग की कि सीडी का प्रसारण रोका जाए लेकिन सीडी यूटयूब और फेसबुक पर अपलोड कर दी गई.

BhanwariDeviAndMaderna

महिपाल मदेरणा-भंवरी देवी (2011)

राजस्थान की 36 साल की नर्स भंवरी देवी तब सुर्खियों में आई जब उसके पति ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के मंत्री महिपाल मदेरणा ने उसकी पत्नी का अपहरण कर लिया है. जांच में पता चला कि भंवरी महिपाल व कांग्रेस विधायक मलखान सिंह को ब्लेकमेल कर रही थी. भंवरी के पास एक सीडी थी जिसमें उसे मदेरणा व अन्य के साथ आपत्तिजनक स्थिति में दिखाया गया था. आरोप है कि मदेरणा और मलखान ने भंवरी को मरवा दिया. इस मामले में मदेरणा के खिलाफ आरोप तय हो गए हैं.

एनडी तिवारी सेक्स स्केंडल (2009)

देश तब सन्न रह गया जब आंध्रप्रदेश के तत्कालीन राज्यपाल एनडी तिवारी के तीन महिलाओं के साथ हमबिस्तर होने वाली तस्वीरें सामने आई. यह एक स्टिंग ऑपरेशन था जिसे एक प्रमुख तेलुगु चैनल ने किया था. तिवारी ने सार्वजनिक रूप से माफी मांगी और अपने पद से इस्तीफा दे दिया. हालांकि उन्होंने दावा किया कि उन्हें फंसाया गया है.nd-tiwari-sex-ujala-sex-scandal

अनुराधा बाली-चांद मोहम्मद स्केंडल (2009)

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भजन लाल के बेटे व हरियाणा के तत्कालीन उपमुख्यमंत्री चन्द्र मोहन उर्फ चांद मोहम्मद से शादी करके अनुराधा बाली उर्फ फिजा सुर्खियों में आ गई. दोनों ने इस्लाम अपनाकर शादी की. हरियाणा की असिस्टेंट एडवोकेट जनरल रहीं फिजा ने अगस्त 2012 में आत्महत्या कर ली. चंदर ने अपना घर छोड़ दिया था तथा दोनों फिजा के फ्लैट में रह रहे थे. लेकिन दो माह बाद ही चंदर ने फिजा का साथ छोड़ दिया. वह वापिस अपने परिवार के पास लौट गया. कुछ दिनों बाद चंदर ने फोन पर फिजा को बताया कि वह उसे तलाक दे रहा है.

अमरमणि त्रिपाठी-मधुमिता शुक्ला सेक्स स्केंडल (2003)

उत्तरप्रदेश की 24 साल की कवयित्री मधुमिता शुक्ला की नौ अप्रेल 2003 को लखनऊ स्थित उसके अपार्टमेंट में दो हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. जांच में सामने आया कि मधुमिता राज्य में मंत्री अमरमणि त्रिपाठी की प्रेमिका थी. यह भी पता चला कि मधुमिता की हत्या अमरमणि की पत्नी मधुमणि के इशारे पर हुई थी. दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया व उम्रकैद की सजा हुई.

केरल आईसक्रीम पार्लर सेक्स स्केंडल (1987)

1987 में केरल में हुआ आईस क्रीम सेक्स पार्लर स्केंडल. इस बारे में कोझीकोड के एक एनजीओ ने एफआईआर दर्ज कराई थी. एनजीओ ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि आईसक्रीम पार्लर को वेश्यालय के तौर पर चलाया जा रहा है. इतना ही नहीं वहां काम करने वाली लड़कियों को ताकतवर सामाजिक तबके के न्यायिक अधिकारियों व राजनीतिज्ञों सहित अन्य वीआईपीज द्वारा यौन शोषण किया जा रहा है. तब मंत्री रहे पीके मुनहल्लीकुट्टी को जांच घेरे में आने पर इस्तीफा देना पड़ा था.mla mahendra singh

संजय जोशी सेक्स स्केंडल (2005)

भाजपा के तत्कालीन महासचिव संजय जोशी की भी 2005 में एक वीसीडी सामने आई. इसमें संजय को एक महिला के साथ अपत्तिजनक स्थिति में दिखाया गया. संजय जोशी आरएसएस प्रचारक थे और काफी सात्विक माने जाते थे. इसमें जोशी और महिला की आवाज थी तथा महिला कुछ अधूरे वादों के बारे में बात कर रही थी.

सुरेश राम सेक्स स्केंडल (1978)

अगर उनका बेटा सेक्स स्केंडल में नहीं फंसता तो जगजीवन राम पहले दलित पीएम बनते. साल 1977 में जनता पार्टी की लहर में इंदिरा गांधी चुनाव हार गई थीं और जगजीवन राम पीएम पद के सबसे बड़े दावेदार माने जा रहे थे. लेकिन दुर्भाग्यवश सूर्या नाम की एक मेग्जीन में तस्वीरें छपीं जिनमें जगजीवन राम के बेटे सुरेश राम को नग्नावस्था में एक महिला के साथ आपत्तिजनक स्थिति में दिखाया गया. इस मेग्जीन की संपादक मेनका गांधी थीं.

हरक सिंह रावत सेक्स स्केंडल (2003)

एक असमिया महिला ने 2003 में आरोप लगाया कि उसके नवजात बच्चे का पिता कांग्रेस के उत्तरांचल में मंत्री हरक सिंह रावत हैं. इस आरोप के बाद रावत ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया. रावत उत्तराखण्ड की मौजूदा सरकार में कृषि मंत्री हैं. दो दिन पूर्व इनकी पार्टी में गोलियां चलने की जानकारी सामने आई, जिसमें कांग्रेस के दो नेता घायल हो गए.

बॉबी मर्डर केस (1982)

1982 में बिहार बॉबी नामक एक लड़की की हत्या से दहल उठा. बॉबी बिहार सचिवायल में काम करती थी. तत्कालीन कांग्रेस सरकार में शामिल कई मंत्रियों के नाम इसमें सामने आए. काफी दबाव पर लड़की का शव कब्र से निकाला गया और फोरेंसिक जांच की गई. कुछ दोषियों की बाद में पहचान हुई.

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

2 Comments

  1. सभी दलों में ऐसे सज्जन पुरुष विराजमान हैं,कुछ सत्ता के नशे में बिना संभले आगे बढ़ जाते है,और फंस जाते हैं. कुछ की ज्यादतियां पीडिता को इतना परेशां कर लेती हैं कि उसे साहस जुटा समाज के बीच आ कर उनके नंगे पन को उगाद्दना ही पड़ता है.कुछ उनकी क्रूरता कि शिकार हो पीड़ित ही रह जाती हैं मर जाती हैं.फ्रायड का मानना है कि हर पुरुष में शैतान बसता है,वह किसी भी रूप में हो, और वह अवसर पा दूसरों को उसका शिकार बना लेता है.राजनीती तो ऐसे लोगों से भरी पड़ी है,कुछ छुटभैये राजनेता ऐसी करतूतों के लिए ही इस में पड़ें हैं.वे लोगों को वादों के फांसे में फंसा भेड़ियों की तरह पहले नेता का काम निकलते हैं और फिर बचे शिकार को शेर के जाने के बाद भोग भी करते हैं, जरूरत है की इन लोगों से संभल कर ही रहा जाये.राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तो और भी भाग्य शाली हैं जब पांच साल के कार्य काल में उनके पास तीन तीन मंत्री ऐसे तराशे हुए हैं, और वे उनका जब तक हुआ राजनितिक संरक्षण,भी देते रहे.एक रत्ता रटाया उत्तर की कानून अपना काम करेगा दे कर बचाते रहे. समझ नहीं आता जब कानून को कुछ करने की छूट ही नहीं तो वह काम कैसे करेगा?और अब जांच भी दी तो उनके ही चापलूस अधिकारी को जो साफ़ है कमियां या अपराध को देखने के बजाये उन्हें हटा नगर को साफ़ गोई से निकलने का मौका देगा.
    मारवाड़ी में कहावत है बहुओं से सास चोर मरवाए चोर बहु रा भाई.यही शत प्रतिशत यहाँ भी लागू होती है.

  2. esatrah ky nyta koa kiasea loga ota daty hia joa hamarya das koa kharhya hia kbhia tujia ghotla kbhia bofhors ghotala kbhia koyla ghotla bholia bhalia janta koa luta rhya hia jagoa india jagoa eak taim to gorana luta atya charkiya and ab toa apnonya hia lutna chalua kar deya Ram awtar kab hoga pramatma jya hiand jya bharat

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

पनामा के बाद पैराडाइज पेपर्स लीक..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: