/कब्र में पांव लटकाए बैठे मंत्री द्वारा सेक्स के लिए ‘चूजा’ मांगने पर FIR…

कब्र में पांव लटकाए बैठे मंत्री द्वारा सेक्स के लिए ‘चूजा’ मांगने पर FIR…

उत्तर प्रदेश के बहुचर्चित ‘चूजा’ प्रकरण में अदालत के निर्देश पर राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त रामबाबू यादव के खिलाफ अश्लील बातचीत और यौन टिप्पणी करने का मुकदमा दर्ज किया गया है. मुकदमे में सपा कार्यकर्ता मधु पांडेय ने जान से मारने की धमकी देने व गुंडे भेजकर दबाव बनाने का आरोप लगाया. rambabu yadav

रिपोर्ट में मधु ने बताया कि राज्यमंत्री रामबाबू यादव ने यौन शोषण के उद्देश्य से प्रलोभन देते हुए उनसे कहा कि उनकी इच्छा की पूर्ति करा दूं तो वह उसे महिला प्रदेश कार्यकारिणी का सदस्य बनवा देंगे. हामी भरने पर उन्होंने कहा कि तुम्हारा नाम कार्यकारिणी में सम्मिलित करने के लिए भेज दिया गया है.

गत सात मई को उसने इस संदर्भ में दोबारा पूछा तो मंत्री ने मोबाइल पर कहा ‘चूजा’ लेकर आओ. ‘चूजा’ के संबंध में अनभिज्ञता प्रकट करने पर उन्होंने खुद इस बारे में बताया था कि चूजा मतलब अट्ठारह से बीस साल की लडकी. एक जून की पार्टी मीटिंग में इच्छा पूर्ति न किए जाने से आक्रोशित राज्यमंत्री ने उनसे मारपीट की. आरोप है कि इसके बाद भी लगातार धमकियां दी गई. दूसरी तरफ, आरोपी मंत्री ने इस संबंध में टिप्पणी करने से इन्कार कर दिया.

पूरा प्रकरण जानने के लिए यहाँ क्लिक करें..

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.