/भाजपा के पूर्वमंत्री पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला को जलाकर मार डाला…

भाजपा के पूर्वमंत्री पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला को जलाकर मार डाला…

विधानसभा चुनाव वाले राज्य छत्तीसगढ़ में महिला पर अत्याचार का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. बिलासपुर से भाजपा विधायक, पूर्व मंत्री और मस्तूरी से भाजपा प्रत्याशी डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी और उनके निजी सहायक (पीए) पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला को जलाकर मार डाला गया.bandhi

बिलासपुर पुलिस ने हत्या के आरोप में बांधी के पीए आरआर भारद्वाज व उसके बेटे को गिरफ्तार कर लिया है. बांधी ने इस मामले में अपनी किसी भी भूमिका से इनकार करते हुए मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है.

जानकारी मिली है कि धू-धूकर जल रही एक महिला एक दरवाजे से दूसरे दरवाजे को पीटते हुए ‘बचाओ-बचाओ’ की गुहार लगाते भाग रही थी. लेकिन, संवेदनहीन लोगों ने अपने दरवाजे नहीं खोले.

गश्त कर रही पुलिस ने महिला की आवाज सुनी तो मौके पर पहुंची. करीब 80 प्रतिशत से ज्यादा जल चुकी महिला को सिम्स में दाखिल कराया गया, जहां शुक्रवार की देर शाम उसकी मौत हो गई.

इस महिला ने विधायक व भाजपा प्रत्याशी डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी और उनके पीए व रिटायर्ड जज आरआर भारद्वाज पर दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए पुलिस सुरक्षा की मांग की थी.

मध्यप्रदेश के छतरपुर की रहने वाली सेरोलीना मसीह पिछले तीन दिनों से बिलासपुर में कोतवाली थाने के चक्कर लगा रही थी. बताया जाता है कि इसी मामले की एफआईआर कराने के लिए वह बिलासपुर आई थी, लेकिन विषय की गंभीरता को न समझते हुए कोतवाली के टीआई विलियम टोप्पो मामले को टालते रहे.

गुरुवार की दोपहर पीड़ित महिला फिर से कोतवाली पहुंची और टीआई को बताया कि उसे जान से मारने की धमकी मिल रही है. उसने पुलिस कार्रवाई न होने की शिकायत करते हुए सुरक्षा की मांग की थी. इस पर टीआई ने महिला को फटकार लगाते हुए भगा दिया था.

महिला द्वारा बार-बार बांधी का नाम लेने के बाद भी टीआई ने किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की. महिला देर तक थाने में रही. वह कब दयालबंध पहुंची, इस बारे में पुलिस कुछ नहीं बता पा रही है.

पुलिस का कहना है कि गुरुवार की रात 3.30 बजे महिला को दयालबंद में भारद्वाज के घर के सामने जिंदा जला दिया गया. महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए शवगृह में रखा गया है. मध्यप्रदेश में उसके घरवालों को सूचना दे दी गई है. उधर, पुलिस ने पूर्व जज व उसके बेटे को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है.

महिला ने मीडिया के समक्ष आरोप लगाया था कि रिटायर्ड जज आरआर भारद्वाज ने उसके साथ शादी की, फिर अपनाने से इनकार कर दिया. मामले के निपटारे के संबंध में जब वह भाजपा विधायक डॉ. बांधी के बंगले पर पहुंची, तब 15 और 16 जनवरी की रात उसके साथ डॉ. बांधी व रिटायर्ड जज ने दुष्कर्म किया. बाद में किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी थी.

बिलासपुर के एसपी बीएन मीणा ने बताया, “महिला के साथ हुई घटना की जांच चल रही है. प्रत्यक्षदर्शियों से मिली जानकारी के बाद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. मामले की जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) को सौंपी गई है. जांच में जो तथ्य सामने आएंगे, उसके मुताबिक कानूनी कार्रवाई की जाएगी.”

वहीं भाजपा प्रत्याशी और पूर्व मंत्री डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी ने इस मामले से पल्ला झाड़ते हुए कहा, “इस घटना से मेरा कोई लेना-देना नहीं है. भारद्वाज मेरा कार्यकर्ता रहा है. यह उसका नितांत निजी मामला है. इस मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए, ताकि सच सामने आ सके.”

राज्य में चुनावी माहौल है, मामला बेहद संगीन और रसूखदार लोगों से जुड़े हुए होने के कारण पुलिस इस मामले में फूंक-फूंक कर कदम रख रही है.

(NDTV)

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.