Loading...
You are here:  Home  >  राजनीति  >  Current Article

मोदी राजनीति को गटर बनाना चाहते हैं…

By   /  November 12, 2013  /  6 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश लगातार बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी पर तीखे हमले बोल रहे हैं. मंगलवार को जयराम रमेश ने एक अंग्रेजी न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि मोदी राजनीति को गटर बनाना चाहते हैं. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि राहुल गांधी कभी मोदी से तू-तू मैं-मैं के लिए राज़ी नहीं होंगे.Jairam-Ramesh

रमेश ने कहा कि मोदी जैसी भाषा और झूठ का इस्तेमाल कर रहे हैं उससे राजनीति और गटर के बीच लकीर खत्म हो जाएगी. हालांकि, कभी जयराम रमेश ने नरेंद्र मोदी को जबर्दस्त कैंपेनर बताया था. तब कांग्रेस में रमेश के खिलाफ आवाज भी उठी थी. कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद सत्यव्रत चतुर्वेदी ने तो यहां कह दिया था कि रमेश को कांग्रेस छोड़ बीजेपी को जॉइन कर लेना चाहिए. इसके बाद से रमेश मोदी पर लगातार कड़ी टिप्पणी कर रहे हैं.

​कांग्रेस के मंत्री मोदी को लगातार निशाने पर रख रहे हैं, वहीं राहुल गांधी अपनी रैलियों में मोदी पर सीधा बोलने से परहेज कर रहे हैं. चैनल से बातचीत के दौरान जयराम रमेश से पूछा गया कि राहुल गांधी क्यों नहीं मोदी को डायरेक्ट जवाब देते हैं? इस पर रमेश ने कहा, मोदी जिस स्तर की बातें करते हैं, उसे देखते हुए उन्हें नहीं लगता कि राहुल कभी मोदी के साथ तू-तू-मैं-मैं करने के लिए तैयार होंगे.

बीजेपी रमेश के इस बयान से बेहद खफा है लेकिन प्रतिक्रिया तल्ख के बजाय सधी हुई दे रही है. पार्टी की प्रवक्ता निर्मला सीतरमण ने ट्वीट किया, ‘पॉलिटिक्स ऑफ गटर’ मिस्टर जयराम रमेश? तब क्या हुआ था जब आपकी पार्टी ने उन्हें मौत का सौदागर कहा था?’ निर्मला सीतारमण ने अपने ट्वीट में सोनिया गांधी की उस टिप्पणी का हवाला दिया जिसमें 2007 के गुजरात चुनाव अभियान में उन्होंने मोदी को ‘मौत का सौदागर’ कहा था. सोनिया गांधी की इस टिप्पणी के बाद तब काफी बवाल हुआ था. सोनिया गांधी ने मोदी पर 2000 के दंगों को लेकर निशाना साधा था. सोनिया गांधी की यह टिप्पणी मोदी के पक्ष में गई थी और कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा था.

बीजेपी के एक और प्रवक्ता प्रकाश जावेडकर ने कहा कि रमेश के बयान से साफ है कि कांग्रेस देश की असली समस्या पर सीधी बात करने में डर रही है. जावेडकर ने कहा कि मोदी आवाम से जुड़े जिन सवालों को उठा रहे हैं, कांग्रेस उनका जवाब क्यों नहीं देती? उन्होंने कहा कि कांग्रेस को मोदी पर हमले के बजाय देश की जनता को बताना चाहिए कि महंगाई कब थमेगी.

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email
  • Published: 4 years ago on November 12, 2013
  • By:
  • Last Modified: November 12, 2013 @ 7:41 pm
  • Filed Under: राजनीति

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

6 Comments

  1. Ashok Gupta says:

    abhi too gatter se bhi badtar hai

  2. mahendra gupta says:

    आखिर अपना सोच अपने कार्य जुबान पर आ ही जाते हैं.आज के नेताओं का सोच इससे जग जहि हो गया है.कलंक है ये नेता देश के लिए.

  3. आखिर अपना सोच अपने कार्य जुबान पर आ ही जाते हैं.आज के नेताओं का सोच इससे जग जहि हो गया है.कलंक है ये नेता देश के लिए.

  4. जैय राम रमेश के दिमाग को किसी सुलभ सौचालय के सबसे बड़े अधिकारी कि लेवोत्तरी में परीक्छण कर ये पता अवश्य लगाना चाहिए कि दिमाग में भी सौचालय बनाया जा सकता है मन्दिरीर से पवत्तारा होते हिअ सोचालय ये जैराम ने पहले भी कहता मन्दिर से अधिक जरुरत ईएस कि है आज कहरर्हे कि इन कि राजनीति सौचालय से नहीं चलती है याने जैराम जी को सौचालय कि जरूरत कितनी बार पड़ती है इन का सहारा काम सौचालय से ही चलता है और सौचालय में ही रुक के रह जाता है इन के मस्तीस्क में केवल सौचालय ही रहता है ये बाकी काम कब कैसे करते होंगे दिन और रात केवल सौचालय ये मंत्री कैसे बनाये गए जब सौचालय में ही रहन है तो सुलभ इंटरनेशनल कि जिम्मेबारी सम्भाले ये काम ठीक से करे सर्कार छोड़े

  5. ASHOK SHARMA says:

    भाई मोदी की तो बात ही अलग है कभी शही न बोलने बाले मोदी अहमदाबाद का नाम कर्णाबती नहीं कर सकी जब की नगर निगम मै भा ज पा और राज्य सरकार भी भा ज पा थी और केंद्र मै भी लेकिन कर्णबती नहीं कर सके यदि दूसरे दल की सरकार होती तो मोदी झूठ के बल पर नया पैतरा जरुर फैकते [मोदी को सरदार पटेल के महिला बिधेयक की तो याद थी लैकिन अपना कुछ भी याद नहीं १९२६ की बात को १९१९ बकते रहे ]

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

पाकिस्‍तान ने नहीं किया लेकिन भाजपा ने कर दिखाया..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: