/अन्ना बोले किसी को समर्थन न दे केजरीवाल..

अन्ना बोले किसी को समर्थन न दे केजरीवाल..

दिल्ली में आम आदमी पार्टी (AAP) के विस्मित कर देने वाले प्रदर्शन के बाद सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने कहा कि एक दिन अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री बन सकते हैं और उन्होंने कांग्रेस को चेतावनी दी कि अब लोकसभा चुनाव में जनता उसको सबक सिखाएगी.anna-hazare

केजरीवाल की पार्टी के लिए चुनाव प्रचार करने से इनकार करने वाले हजारे ने दिल्ली के विधानसभा चुनाव में AAP के शानदार प्रदर्शन पर खुशी जाहिर की. शीला दीक्षित पिछले 15 सालों से दिल्ली की मुख्यमंत्री थीं.

झाड़ू लेकर हराना आसान बात नहीं…

‘AAP’ के प्रदर्शन के बारे में पूछने पर हजारे ने कहा, ‘निश्चित तौर पर अच्छा प्रदर्शन है. देश की राजनीति का केंद्र दिल्ली है. दिल्ली में सत्ता की कमान संभाले पार्टी को हाथ में महज एक झाडू लेकर हराना कोई आसान बात नहीं है.’ उन्होंने कहा, ‘इस पुराने दल (कांग्रेस) के पास काफी धन है. मुझे खुशी है कि ऐसी स्थिति में भी AAP को 24 सीटों पर विजय मिलती दिख रही है.’

किसी को समर्थन न दें केजरीवाल…

हजारे ने साथ ही केजरीवाल को किसी भी दल के साथ गठजोड़ करने के प्रति आगाह करते हुए कहा, ‘अगर खिचड़ी सरकार बनाई गई तो इसका कोई फायदा नहीं. ऐसी सरकार में भ्रष्टाचार पनपता है. उन्हें किसी का समर्थन (किसी पार्टी का) नहीं लेना चाहिए.’ उन्होंने कहा, ‘अगर सरकार बनाने में मुश्किल हो तो ताजा चुनाव होना चाहिए.’ इस गांधीवादी नेता ने कहा कि लोगों ने केजरीवाल की पार्टी के लिए मतदान किया है क्योंकि उन्हें लगा कि यह पार्टी उनके बारे में अधिक चिंता करेगी और उन्होंने जो कुछ किया उसका उन्होंने स्वागत किया.

पार्टी के दम पर मुख्यमंत्री बनेंगे केजरीवाल…

हजारे ने केजरीवाल के बारे में कहा, ‘एक दिन वह अपने पार्टी कार्यकर्ताओं की ताकत पर मुख्यमंत्री बनेंगे.’ उन्होंने कांग्रेस की आलोचना की जिसने बाकी विधानसभा चुनावों में भी निराशाजनक प्रदर्शन किया है. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस कम से कम 50 सालों के लिए सत्ता में थी. उसके लिए क्या असंभव था? उन्होंने उम्मीदवार को ठुकराने, लोकपाल विधेयक और विधायक-सांसद की वापसी के अधिकार पर बेहतर कानून क्यों नहीं बनाए.’ हजारे ने कहा कि कांग्रेस ने जो कानून बनाये वह जेल से चुनाव लड़ने की अनुमति देने जैसे कानून थे. उन्होंने बेहतर कानून बनाने की ओर ध्यान नहीं दिया.

नहीं सुधरी कांग्रेस को लोकसभा चुनावों में भी…

हजारे ने कहा, ‘अगर कांग्रेस इन सबके बावजूद अपने रास्तों को दुरस्त नहीं करती तो लोकसभा चुनावों में जनता उसे ऐसे और कई सारे सबक सिखाएगी.’ केजरीवाल और AAP पार्टी के लिए चुनाव प्रचार नहीं करने के अपने फैसले का बचाव करते हुए उन्होंने कहा, ‘वह एक राजनीतिक दल है और इसलिए यह (प्रचार करना) मेरे लिए मुश्किल है. मैं किसी भी राजनीतिक दल के लिए प्रचार नहीं करता.’

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.