/हनीमून के दौरान पत्नी से रेप किया, अप्राकृतिक यौन संबंध का आरोप…

हनीमून के दौरान पत्नी से रेप किया, अप्राकृतिक यौन संबंध का आरोप…

दिल्‍ली में पति के अपनी ही पत्नी का रेप करने और उसके साथ अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने का चौंकाने वाला मामला सामने आया है. एक नवविवाहित महिला ने अपने पति पर हनीमून के दौरान उससे जबरदस्ती करने और अप्राकृतिक संबंध बनाने का आरोप लगाया है. 23 साल की इस महिला ने पालम थाने में अपने पति के खिलाफ मामला दर्ज कराया है.marital-rape

महिला ने पुलिस को बताया कि उसके पति ने बैंकॉक में हनीमून मनाने के दौरान उसके साथ जबरन और आप्रकृतिक सेक्स किया. महिला की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी पति के खिलाफ आईपीसी की विभिन्‍न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है. दिल्‍ली पुलिस के मुताबिक फिलहाल आरोपी पति फरार है. आरोपी एक मल्टी नेशनल आईटी कंपनी में प्रोजेक्‍ट मैनेजर के पद पर काम करता है.

महिला ने पुलिस को बताया कि उसकी शादी 29 नवंबर को उसके पड़ोस में रहने वाले युवक पुनीत भारद्वाज के साथ हुई थी. ये शादी उसके घरवालों ने तय की थी. शादी के दो दिन बाद 1 दिसंबर वह पुनीत के साथ हनीमून मनाने के लिए बैंकाक गई. यहां पर उसके पति ने उसकी मर्जी के खिलाफ उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए. उसने इसका कई बार विरोध किया लेकिन इसके बावजूद पुनीत उसके साथ जबरन संबंध बनाता रहा. पीड़िता ने पुलिस को बताया कि इस दौरान उसके पति ने उसके साथ कई बार अप्राकृतिक यौन संबंध भी बनाए.

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि बैंकॉक अनजान शहर होने की वजह से वह इसकी शिकायत वहां पुलिस में नहीं कर सकी. 9 दिसंबर को जब वह दिल्‍ली वापस लौट आई तो उसने इस बात की जानकारी सबसे पहले अपने ससुराल वालों को दी लेकिन उन्‍होंने इस पर अपने बेटे को कुछ नहीं कहा. जब वह अपने माता-पिता के घर गई तो उसने अपनी मां को पूरी घटना बताई. इसके बाद उसने अपने परिजनों के साथ पालम थाने जाकर आरोपी पति के खिलाफ मामला दर्ज कराया. पीड़िता को डीडीयू अस्‍पताल में भर्ती कराया गया, जहां मेडिकल जांच में उसके साथ बलात्‍कार और अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने की पुष्टि हो गई है. पुलिस में मामला दर्ज होने के बाद से आरोपी फरार बताया जा रहा है.

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.