Loading...
You are here:  Home  >  मीडिया  >  Current Article

नमो के डेढ़ सौ करोड़ के दफ्तर की खबर हटाई टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने..

By   /  January 4, 2014  /  5 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

कॉरपोरेट्स से मीडिया के रिश्तों की ख़बरें पुरानी पड़ चुकी हैं. अब तो मीडिया और नरेन्द्र मोदी के बीच पक रही खिचड़ी सामने आ रही है. इसकी बानगी मिलती है टाइम्स ऑफ़ इंडिया की वेब साईट से नरेन्द्र मोदी के डेढ़ सौ करोड़ की लागत से बने भव्य कार्यालय की खबर को हटा लेने से.TOI Modi Office

गौरतलब है कि अरविन्द केजरीवाल द्वारा सरकारी फ्लैट्स लेने की ख़बरों के बीच दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्रियों द्वारा उपयोग में ली जा रही सुविधाएँ भी चर्चा में आईं तो अंग्रेजी एक बड़े अख़बार टाइम्स ऑफ़ इंडिया की साईट पर नरेन्द्र मोदी के गांधीनगर में डेढ़ सौ करोड़ रुपये की लागत से बने बुलेट प्रूफ कार्यालय की खबर लगाई थी.

मगर जैसे ही यह खबर सोशल मीडिया पर फैली उसके कुछ देर बाद इस खबर को हटा दिया गया. अब इस खबर के लिंक पर क्लिक करने से इन्टरनेट ब्राउज़र इस लिंक पर पहुँचाने में असमर्थता प्रकट कर रहा है. मगर खबर हटने से पहले इस पेज को गूगल कैच कर चुका था. तसवीरों में ब्राउज़र और गूगल कैच दोनों को देखा जा सकता है.

ऐसा भी नहीं था कि यह खबर बेसिर पैर की हो. सच्ची खबर होने के बावजूद इस खबर को हटाने के पीछे कुछ खास कारण ही रहे होंगे वरना ऐसे तो खबर हटती नहीं. जानकारों का कहना है कि नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनवाने के लिए जो हजारों करोड़ का विज्ञापन अभियान है उसमें टाइम्स समूह को भी बड़ा हिस्सा मिला है और इस खबर के प्रकाशित होने के बाद मोदी की निगाहें इस समूह की और टेढ़ी हो गईं. इसकी भनक मिलते ही यह खबर आनन फानन में हटा दी गयी. सच्चाई जो भी हो टाइम्स ऑफ़ इंडिया का असल चेहरा तो सबके सामने आ ही गया.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की वेब साईट पर लगी मूल खबर नीचे है जो कि गूगल कैच से ली गई है. गूगल कैच पर इस खबर को यहाँ क्लिक कर देखा जा सकता है..

Rs 150 crore bullet-proof office ready for Narendra Modi

AHMEDABAD: Gujarat chief minister Narendra Modi would shift to his newly-built office in Gandhinagar unofficially dubbed as the ‘North Block’ after ‘kamurtas’ or the inauspicious period ends in mid-January. Incidentally, the Prime Minister’s office is located inside New Delhi’s South Block.TOI Modi Office Cache

The new Rs 150-crore chief minister’s office complex, built in less than a year, has a south block too modeled on New Delhi’s secretariat, where his ministers will have their offices. The complex will be officially called ‘Panchamrut’, meaning that elixir for six crore Gujaratis will flow from here

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email
  • Published: 4 years ago on January 4, 2014
  • By:
  • Last Modified: January 6, 2014 @ 12:02 am
  • Filed Under: मीडिया

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

5 Comments

  1. mahendra gupta says:

    हर दल की हर सरकार का यही हाल है.जनता के पैसे पर ऐश करने में कोई पीछे नहीं है.भा ज पा भी अब कोई वहन. पार्टी नहीं रही जिसे वह अन्य से हट कर प्रचारित करते रहे है.मोदी भी कोई अपवाद नहीः सब के मन में ऐश करने की इच्छाएं दबी पड़ी हैं.कभी सामाजवाद का परचम ले विकास की बात करने वाले भी इस मामले में पीछे नहीं रहे.हर कोई गांधी या जे पी नहीं हो सकता.अन्नाअपनी मूर्ति भी अपनी मूर्ति लगवा इतिहास में अमर होने कि महत्वकांशा नहीं छोड़ पा रहे.इस मामले में सब ही कमोबेश समान ही हैं.

  2. हर दल की हर सरकार का यही हाल है.जनता के पैसे पर ऐश करने में कोई पीछे नहीं है.भा ज पा भी अब कोई वहन. पार्टी नहीं रही जिसे वह अन्य से हट कर प्रचारित करते रहे है.मोदी भी कोई अपवाद नहीः सब के मन में ऐश करने की इच्छाएं दबी पड़ी हैं.कभी सामाजवाद का परचम ले विकास की बात करने वाले भी इस मामले में पीछे नहीं रहे.हर कोई गांधी या जे पी नहीं हो सकता.अन्नाअपनी मूर्ति भी अपनी मूर्ति लगवा इतिहास में अमर होने कि महत्वकांशा नहीं छोड़ पा रहे.इस मामले में सब ही कमोबेश समान ही हैं.

  3. Abhishek says:

    Hi admin,
    It was very sad to see that you are using wrong tactic for publicity. The news here is baseless and false as by using the same link as provided in the content above of the news you can get to the TOI content and the Link is working perfectly and the news is still there! I am not a political supporter but prefer to read the news which has real facts.
    If your aim was to Spread the rumor that TOI is also being part of corporate world removed the news and betrayed media ethic and by pointing out that you want to boost your SEO and readers than you have failed badly. Sorry
    I am just not sure should I keep visiting your news website or expect more false allegations without any proof! 😀
    Regards
    A confused reader.

  4. ASHOK SHARMA says:

    गुजरात के भारतीय जनता पार्टी के नेता इतने भ्रष्ट होचुके है कि आज पूर्व मंत्री अपने बंगले का डेकोरेकशन काम करवा रहे है लिकिन पैसा लेवर काम करने बाले किसी भी आदमी को नहीं दिया जाता है उल्टा उनका इंजेनिएर कहता कि शहाब बड़ा आदमी है उससे पैसा नहीं मांगना गाली बोलेगा और आपको बगैर पैसा दिए ही भगा देगा और होता भी ऐसा ही है साहब ने नजाने कितनो को काम का पैसा दिए बगैर ही भगा दिया कालर पोलिश .पी ओ पी फर्नीचर पत्थर प्लम्बर काम करने बाले लगभग २० लेवर कन्ट्रेक्टर है जिनको भा ज पा के पूर्ब मिनिष्टर[मंत्री ]का शिकार हो रहे है और बी.जे पी ईमानदारी का ढोंग रचा कर हल्ला मचा रही है

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

एक जज की मौत : The Caravan की सिहरा देने वाली वह स्‍टोरी जिस पर मीडिया चुप है..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: