/आप द्वारा ज़ारी भ्रष्टों की लिस्ट में सोनिया-मोदी के नाम पर भड़के नेता..

आप द्वारा ज़ारी भ्रष्टों की लिस्ट में सोनिया-मोदी के नाम पर भड़के नेता..

आम आदमी पार्टी के नेता गोपाल राय ने भाजपा और कांग्रेस पर तीखा हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि इन दोनों ही पार्टियों में भ्रष्ट नेताओं की भरमार है. यह बयान उन्होंने शुक्रवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री और पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल द्वारा जारी भ्रष्ट नेताओं की लिस्ट के संदर्भ में दिया है. इसके साथ ही आप की जारी भ्रष्ट नेताओं की लिस्ट में अब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और भाजपा के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी का नाम भी जोड़ दिया गया है.soniamodi
गोपाल राय ने का कहना है कि पार्टी कार्यकर्ताओं की राय के बाद नफरत की राजनीति करने वाले नरेंद्र मोदी का नाम और वंशवाद की राजनीति करने के लिए सोनिया गाँधी का नाम भी उस सूची में जोड़ा जा रहा है. उन्होंने बताया कि आप की जारी की गई इस लिस्ट में शामिल नेताओं के खिलाफ वह अपने मजबूत उम्मीदवारों को लोकसभा चुनाव में उतारेगी.
इस लिस्ट को जारी करते हुए कल केजरीवाल ने भी कहा था कि इन नेताओं को संसद तक नहीं पहुंचने दिया जाएगा और पार्टी इनके खिलाफ मजबूत उम्मीदवार उतारेगी. इस लिस्ट के सामने आने के बाद भाजपा और कांग्रेस दोनों ही आप की कड़ी आलोचना कर रही हैं.
इस लिस्ट में अपना नाम होने से गुस्साए केंद्रीय कानून मंत्री कपिल सिब्बल ने तो यहां तक कह डाला कि अगर उनके ऊपर लगा एक भी आरोप साबित हो गया तो वो इस्तीफा दे देंगे और राजनीति से संन्यास ले लेंगे. उन्होंने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने उनके ऊपर जो आरोप लगाए हैं, वह उन्हें साबित करके दिखाएं नहीं तो अपना इस्तीफा दें.
गौरतलब है कि केजरीवाल ने एक लिस्ट जारी कर भ्रष्ट नेताओं की सूची को जारी किया था. इस सूची के जारी करने के साथ ही उनपर भाजपा और कांग्रेस के नेताओं ने हमले भी तेज कर दिए थे. फारुख अब्दुल्ला ने केजरीवाल को कोर्ट में घसीटने की बात कही थी, वहीं कांग्रेस के नेताओं ने केजरीवाल से बिना शर्त माफी मांगने की बात कही थी.
कांग्रेस महासचिव ने दिल्ली के मुख्यमंत्री पर यह कहते हुए तंज कसा था कि उनकी निगाह में तो सभी नेता भ्रष्ट हैं, सिवाए उन्हें छोड़कर जो आप की टोपी पहन लेता है. केजरीवाल की लिस्ट में राहुल गांधी, पी. चिदंबरम, सुशील कुमार शिंदे, सलमान खुर्शीद, कपिल सिब्बल, प्रफुल्ल पटेल, कमलनाथ, वीरप्पा मोइली, फारुक अब्दुल्ला, जीके वासन, श्रीप्रकाश जायसवाल, मुलायम सिंह, मायावती, नितिन गडकरी, ए. राजा, पवन बंसल, सुरेश कलमाडी, यद्दयुरप्पा, अनंत कुमार, एचडी कुमारस्वामी, तरुण गोगोई, अलागिरी, कनीमोरी, अवतार सिंह भड़ाना, जगन मोहन रेड्डी, अनुराग ठाकुर, नवीन जिंदल, अनु टंडन भ्रष्ट नेताओं की सूची में शामिल थे.

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.