/रूचि के अनुसार विद्यार्थियों को मिले अवसर: मानवेन्द्र

रूचि के अनुसार विद्यार्थियों को मिले अवसर: मानवेन्द्र

बाड़मेंर, मालानी मानव सेवा एवं अनुसंधान संस्थान बाड़मेर द्वारा आयोजित विश्व की प्रथम भारतीय महिला अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला की 11वी पुण्यतिथि के अवसर पर स्थानीय स्टेशन रोड़ हाईस्कुल में आयोजित विज्ञान प्रदर्शनी के समापन एवं पारितोषिक वितरण समारोह में बोलते हुए शिव विधायक एवं पूर्व सांसद कर्नल मानवेन्द्रसिह ने कहा कि विद्यार्थियों को रूचि के अनुरूप शिक्षा के अवसर प्राप्त होने चाहिए. मानवेन्द्रसिह ने कहा कि हमारे यहां प्रतिभाओं की कमी नही है परन्तु अवसर नही प्राप्त होने के कारण प्रतिभाऐं आगे नही आ पा रही है. संस्थान का यह एक सफल प्रयास है कि बाड़मेर जैसे पिछड़े क्षेत्रों में नन्हे-मुन्हे वैज्ञानिकों ने प्रदर्शनी में बढ़-चढ़कर भाग लिया एवं अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया. वास्तव में इन नन्हे वैज्ञानिको का प्रयास काबिल-ए-तारीफ है. कल्पना चावला को श्रद्धांजली देते हुए मानवेन्द्रसिह ने कहा कि विश्व में चावला ने भारत का नाम रोशन किया है. अभिभावको को बालिकाओं को रूचि के अनुसार उच्च शिक्षा के अवसर प्रदान करवाने चाहिए.manvendra

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे भारतीय वन सेवा के अधिकारी उपवन संरक्षक लक्ष्मणलाल ने कहा कि हमें जो कार्य करने चाहिए़ वह कार्य इस संस्थान के माध्यम से इन नन्हे-मुन्हें  वैज्ञानिको ने कर दिया है. पर्यावरण से सम्बंधित माडलस के माध्यम से इन बच्चों ने पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया है.
कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि रामसिंह बोथिया ने कहा कि संस्था हमेशा शिक्षा से संबंधित सराहनीय कार्य कर रही है. भाजपा नगर अध्यक्ष केलाश मेहता ने कहा कि संस्था सदस्यों का कार्य अन्य संस्थाओं से अलग है जो समाज में अच्छा संदेश है. संस्था का हमेशा हमारा सहयोग रहेगा.

कार्यक्रम के शुरूआत में संस्था निदेशक एडवोकेट रमेश कुमार गौड़ ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि भविष्य में भी विभिन्न शैक्षणिक संस्थाओं द्वारा हमे सहयोग दिया जाता रहा तो हम सेवा में पिछे नही रहेगें. भविष्य में इस प्रकार के आयोजन करते रहेगें.

कार्यक्रम संयोजक तरूण पारीक ने प्रतिवेदन पेष करते हुए कहा कि पांच दिन तक चली प्रदर्षनी में विज्ञान माडल प्रतियोगिता, पोस्टर प्रतियोगिता एवं निबंध लेखन प्रतियोगिता में जिले भर के वि़द्यालयों ने भाग लिया .

माडल प्रतियोगिताओं में प्रथम स्थान रमेश कुमार बेनिवाल, द्वितीस स्थान पर महावीर, हर्षित कार्तिक एवं तृतीय स्थान पर योगेश व कार्तिक रहे. पोस्टर प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर उषा, द्वितीय जसराज लेगा एवं तृतीय स्थान पर छगनलाल रहे. निबंध लेखन में प्रथम स्थान पर केसर कडेला द्वितीय स्थान पर पल्लवी जोशी एवं तृतीय स्थान पर लाखाराम रहें.

प्रतियोगिता में प्रथम द्वितीय, तृतीय रहने वाले प्रतिभागियों को क्रमश 2100 रूपये, 1100 रूपये और 500 रूपये नकद एवं प्रमाण-पत्र दिये गयें. सभी प्रतिभागियों एवं प्रतिभागी विद्यालयों को सहभागिता प्रमाण-पत्र दिये गये.

कार्यक्रम के दौरान हाई स्कुल के प्रधानाचार्य मल्लाराम एवं अन्य स्टाफ के साथ संस्था सदस्य एडवोकेट विजय कुमार, मनोज पारीक, महेन्द्रसिह तारातरा, हरीसिह राजपुरोहित, विक्रमसिह, हितेश सिंधी, सुरेन्द्र बेनिवाल, रमेशसिह ईन्दा, भरत शर्मा, जयप्रकाश गौड़, श्रवण कुमार, मुकेश कुमार, जोगेन्द्र जैन, हरीश सोनी, मुराद खां, अनिल गौड़, जीया खां, बच्चु खां, अशोक सारला सहित सैकड़ो की तादाद में अभिभावक एवं छात्र-छात्राऐं मौजूद थे. मंच का संचालन हेमराज खत्री ने किया . कार्यक्रम के अंत में उपस्थित जनों से कल्पना चावला को पुष्प अर्पित कर श्रद्धाजंलि देते हुए दौ मिनट का मौन रखा.

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.