/अभी जेल में रहेंगे आसाराम, सर्वोच्च न्यायालय ने लौटाया..

अभी जेल में रहेंगे आसाराम, सर्वोच्च न्यायालय ने लौटाया..

नाबालिग छात्र के यौन शोषण के आरोप में फंसे आसाराम को सर्वोच्च न्यायलय से भी निराशा हाथ लगी है. सर्वोच्च न्यायलय ने उनकी ज़मानत ख़ारिज करते हुए वापस हाई कोर्ट जाने के लिए कहा है. इस तरह आसाराम को एक बार फिर निराशा हाथ लगी और जेल से बाहर  आने का इंतज़ार बढ़ गया है. आसाराम के समर्थकों को तीन जुलाई का बेसब्री से इंतज़ार था और वे सभी ज़मानत की उम्मीद लगाये हुये थे. लेकिन सर्वोच्च न्यायालय ने उन्हें खाली हाथ लौटा दिया.Asaram_Bapu2_20130930

इससे पहले आसाराम समर्थकों को तीन जुलाई का बेसब्री से इंतजार था। उन्हें उम्मीद थी कि गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट से उन्हें खुशखबरी मिल सकती है। ‌हालांकि उन्हें यहां से भी खाली हाथ लौटना पड़ा है। गौरतलब है कि आसाराम पिछले ग्यारह महीनो से जेल में हैं और ज़मानत के लिए हर तरह की कोर्ट में अपील कर चुके हैं लेकिन हर जगह निराशा हाथ लगी है. मई में उन्होंने सर्वोच्च न्यायालय में अपील दायर की थी जिसमें उन्हें हाई कोर्ट में वाद को निपटने और फ़िलहाल जेल में रहने का आदेश मिला है.

 

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.