कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे [email protected] पर भेजें | इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है। पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं। हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो। आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें -मॉडरेटर

सदन में बलात्कार पर चर्चा हो रही थी और CM सो रहे थे..

3
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

बेंगलुरु को हिलाकर रख देने वाले एक नामी स्कूल में बच्ची से रेप की घटना पर शुक्रवार को जब कर्नाटक विधानसभा में चर्चा हो रही थी, तो सीएम साहब सो रहे थे। बलात्कार की इस घटना के बाद राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस सरकार लगातार विपक्ष के निशाने पर है। बेंगलुरु के नामी स्कूल में बच्ची से हुई इस वहशियत का मुद्दा शुक्रवार को कर्नाटक विधानसभा में उठा।2014-07-19 20.45.27

विपक्ष ने राज्य की बिगड़ती कानून-व्यवस्था को लेकर सरकार पर जमकर निशाना साधा। सदन में मुख्यमंत्री सिद्धरमैया भी मौजूद थे। बहस के दौरान सिद्धरमैया की आंख लग गई और वह सोते हुए कैमरे में कैद हो गए।

गौरतलब है कि बेंगलुरु के एक नामी-गिरामी स्कूल में ‘अज्ञात लोगों’ ने छह वर्षीय एक लड़की से रेप किया था। जॉइंट पुलिस कमिश्नर (लॉ एंड ऑर्डर-ईस्ट) केवी शरत चंद्र ने बताया था कि वरतुर पुलिस थाने के तहत विबग्योर हाई स्कूल में अज्ञात लोगों ने छह वर्षीय एक लड़की से कथित तौर पर रेप किया। 15 जुलाई को घटना का पता चला।’ पैरंट्स का आरोप है कि आरोपी स्कूल के कर्मचारी हैं।

Facebook Comments
Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
Share.

About Author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

3 Comments

  1. मुख्य मंत्री गंभीर हो कर ऐसी घटना के रोकने के तरीकों पर मनन कर रहे थे। यह भी सम्भव है की वे पश्चाताप कर रहे हों , विपक्ष व मीडिया को इसे इस दृष्टिकोण से देखना चाहिए , माननीय की मजाक नहीं बनानी चाहिए

  2. मुख्य मंत्री गंभीर हो कर ऐसी घटना के रोकने के तरीकों पर मनन कर रहे थे। यह भी सम्भव है की वे पश्चाताप कर रहे हों , विपक्ष व मीडिया को इसे इस दृष्टिकोण से देखना चाहिए , माननीय की मजाक नहीं बनानी चाहिए

  3. It is strange that GIRL was only 6 years old. tn such tender age she even not any feelings for sex, thus such innocent child is the victim of sex harassment needs to thought all where , as to why such thing shall ever happening NOW A DAYS

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

%d bloggers like this: