/भारत को नरेंद्र मोदी बनाएंगे हिंदू राष्ट्र, धावलीकर के भाई ने दिया बयान…

भारत को नरेंद्र मोदी बनाएंगे हिंदू राष्ट्र, धावलीकर के भाई ने दिया बयान…

बिकनी पर विवादित बयान देने वाले गोवा के मंत्री सुदीन धावलिकर के बाद अब उनके भाई और गोवा के सहकारी मंत्री दीपक धावलीकर ने एक विवादित बयान दे दिया है. सहकारी मंत्री दीपक धावलीकर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्र को हिंदू राष्ट्र बनाएंगे. यानी भारत को एक हिंदू राष्ट्र बनाएंगे.Narendra_Modi

इसके बाद सामाजिक व सांस्कृतिक विविधता के लिए जाना जाने वाले भारत की छवि पर एक जोरदार धक्का लगा है. धावलीकर के हिंदूत्व के इस बयान के बाद राजनीति में भाजपा सरकार की मानसिकता को लेकर फिर से बहस शुरू हो गई थी.

आपको बता दें कि सहकारी मंत्री ने कहा है कि भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने के लिए पीएम मोदी काम करेंगे. उम्मीद को झटका आपको बता दें कि जब से नरेंद्र मोदी सरकार में आए हैं तभी से समाज हर तबका उनको उम्मीद की नजर से देख रहा है.

कई मुस्लिम समुदाय के लोगों ने यही सोचकर वोट दिया था कि भाजपा अपनी हिंदूत्व की छवि को आगे नहीं बढ़ाएगी बल्कि सभी को साथ लेकर चलेगी. लेकिन इस बयान के बाद लोगों का विश्वास फिर से डगमगा गया है. ऐसे में ऐसे विवादित बयान उको अगले विधानसभा चुनाव में भारी पड़ सकते हैं.

आपको बता दें कि देश में कई राज्यों में इस साल व अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. दोनो मंत्री हैं गोवा की भाजपा सरकार में सुदीन और दीपक दोनों ही गोवा बीजेपी के सहयोगी दल महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी से हैं और मुख्यमंत्री मनोहर पार्रिकर की सरकार में मंत्री हैं.

दीपक धावलिकर के बयान से पहले गोवा के ट्रांसपोर्ट मंत्री सुदीन धावलिकर ने गोवा के समुद्री तटों पर महिलाओं के बिकिनी पहनने पर बैन लगाने की बात कही थी. हालांकि बयान के बाद विवाद बढ़ जाने पर सुदीन से बयान वापस लेने के लिए कहा गया.

 

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.