/ग्यारह करोड़ लोगों को हिंद महासागर में डुबाना होगा तब बनेगा कांग्रेस मुक्त भारत..

ग्यारह करोड़ लोगों को हिंद महासागर में डुबाना होगा तब बनेगा कांग्रेस मुक्त भारत..

हरियाणा के प्रभारी कांग्रेस महासचिव शकील अहमद ने भारत को कांग्रेस-मुक्त बनाने के बीजेपी प्रमुख अमित शाह के बयान पर चुटकी लेते हुए कहा कि उन्हें इसके लिए देश के 11 करोड़ लोगों को हिंद महासागर में डुबाना होगा. अहमद ने कहा, हालांकि कांग्रेस को महज 44 सीटें मिली, लेकिन 11 करोड़ लोगों ने उसे वोट दिया. अगर अमित शाह देश को कांग्रेस-मुक्त बनाना चाहते हैं तो उन्हें 11 करोड़ लोगों को बंगाल की खाड़ी, अरब सागर और हिंद महासागर में डुबोना होगा, जो उप महाद्वीप के तीन तरफ हैं.Shakil_ahmed

उन्होंने दावा किया कि दिन प्रति दिन कांग्रेस का समर्थन करने वाले लोगों में इजाफा हो रहा है क्योंकि मोदी सरकार से उनका मोह भंग हो रहा है. अहमद से जब हरियाणा के जींद में शाह की कथित टिप्पणी के बारे में पूछा गया कि कांग्रेस लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष के पद के लिए भीख मांग रही है, तो उन्होंने कहा कि टिप्पणी ना सिर्फ अवांछित है बल्कि संसद का अपमान है.

राज्यों को कांग्रेस मुक्त बनाएंगेः शाह
amit-shahबीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि हरियाणा से कांग्रेस की सरकार जाना तय हो गया है, क्योंकि जनता बदलाव चाहती है. शाह ने दावा किया कि कुछ दिनों में हरियाणा में होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी दो तिहाई बहुमत लेकर सरकार बनाएगी. शाह जींद में आयोजित हरियाणा निर्माण रैली को सम्बोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने शासनकाल के शुरुआत में ही देश का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया है. हर वर्ग के लिए अनेक नीतियां लागू की है और आगामी कुछ दिनों में देश की तस्वीर ही बदल जाएगी.

उन्होंने कहा कि बीजेपी एक लोकतांत्रिक पार्टी है. इसमें छोटे से छोटा कार्यकर्ता भी अपनी मेहनत के दम पर उच्च पदों तक पहुंच सकता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका जीता जागता उदाहरण हैं. उन्होंने कहा कि 130 साल पुरानी कांग्रेस के पास संसद में नेता विपक्ष तक नहीं रहा. पहले चरण में देश की जनता ने कांग्रेस का सफाया किया. दूसरे चरण में चार विधानसभा चुनावों में कांग्रेस मुक्त प्रदेश बनाने का लक्ष्य है, जो पूरा किया जाएगा. जींद की रैली में कांग्रेस नेता चौधरी बीरेंद्र सिंह बीजेपी में शामिल हुए.

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं