/लव जेहाद पर भाजपा का यू टर्न..

लव जेहाद पर भाजपा का यू टर्न..

लव जेहाद के नाम पर बीजेपी ने रविवार को यू-टर्न ले लिया. वृंदावन में आयोजित प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में ‘लव जेहाद’ के नाम पर ‘वर्ग विशेष’ का प्रयोग किया गया. बीजेपी ने इस नाम के विरोध में एक प्रस्‍ताव पारित किया. रविवार को बीजेपी की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक का दूसरा दिन था. बैठक के दूसरे दिन जब पार्टी ने प्रस्ताव पारित किया तो उसमें लिखा गया है कि राज्य में वर्ग विशेष की महिलाओं से हो रहे दुराचार और उसमें एक वर्ग विशेष के लोगों का सम्मिलित होना महज संयोग है या योजना, ये चिंता का विषय है. संघ के संगठन धर्म जागरण मंच ने ‘लव जेहाद’ के खिलाफ अभियान चला रखा है. बताया जा रहा है कि बीजेपी ने इसी के मद्देनजर दोनों मुद्दों पर चर्चा करने का फैसला किया. बीजेपी की इस दो दिवसीय बैठक में प्रदेश में बीजेपी को मजबूत करने और विधानसभा चुनाव में जीत हासिल के कई एजेंडे शामिल हैं.love jihad

यह हुआ प्रस्‍ताव पारित
– यूपी में वर्ग विशेष की महिलाओं से हो रहे दुराचार और उसमें एक वर्ग विशेष के लोगों का शामिल होना महज संयोग है या योजना.. ये चिंता का विषय है.
– यूपी में नारी सिसक रही है. दुराचार की घटनाओं से सांप्रदायिक उन्माद फैल रहा है.
– प्रशासनिक विफलता से रेप की घटनाएं 50 फीसदी तक बढ़ी.

प्रदेश अध्‍यक्ष ने उठाया सवाल
कार्यकारिणी के पहले दिन शनिवार को जो प्रेस नोट रिलीज किया गया था, उसमें लव जेहाद शब्‍द का ही प्रयोग किया गया था. शनिवार को बीजेपी प्रदेश अध्‍यक्ष लक्ष्‍मीकांत वाजपेयी ने सवाल उठाया कि क्‍या किसी समुदाय विशेष को लड़कियों से रेप करने की सिर्फ इसलिए छूट मिल जाती है क्‍योंकि वे किसी दूसरे समुदाय से ताल्‍लुक रखती हैं? हालांकि, इस दौरान उन्‍होंने ‘लव जिहाद’ शब्‍द का इस्‍तेमाल नहीं किया, लेकिन हिंदू लड़कियों के धर्म परिवर्तन का मामला उठाया. वहीं, मथुरा से बीजेपी सांसद हेमा मालिनी से लोकसभा में इस मुद्दे को उठाने की बात कही.

इसलिए उठा ‘लव जेहाद’ का मुद्दा
मुजफ्फरनगर में हुए दंगों के लिए लव जेहाद को ही कारण माना जाता है. यूपी और खासतौर से इसके पश्‍िचमी हिस्‍से में लव जेहाद के अधिक मामले सामने आए हैं. बीजेपी ने इन मामलों को देखते हुए लव जेहाद को अपने चुनावी एजेंडे में शामिल करने की बात कही थी.

रक्षाबंधन पर विशेष अभियान
रक्षा बंधन के मौके पर धर्म जागरण मंच ने एक सप्ताह का अभियान चलाया था. इसमें हिन्दुओं से अपील की गई थी कि वे ‘लव जिहाद’ से निपटने में सहयोग करें. इसके अलावा हिन्दू लड़कियों से कहा गया था कि वे ऐसे युवाओं के प्रभाव में आकर अपना नुकसान न करें, जो उन्हें धर्म बदलने के लिए फुसला रहे हैं.

यह है ‘लव जेहाद’
गलत नियत से अगर मुस्लिम लड़के गैर मुस्लिम लड़कियों से शादी करते हैं या इश्‍क करते है और बाद में उसका धर्म बदलवाते हैं, तो इसे लव जेहाद समझा जाता है. इंग्लैंड समेत कुछ यूरोपीय देशों में कई सालों से इस पर विवाद जारी है.

लव जेहाद में फंसी गोल्ड मेडलिस्ट नेशनल शूटर
नेशनल राइफल शूटिंग की गोल्ड मेडलिस्ट रह चुकी रांची की तारा शाहदेव ‘लव जेहाद’ की शिकार हो गई हैं. तारा ने अपने पति पर धर्म बदलकर धोखा देने का आरोप लगाया है.
रांची में राष्ट्रीय स्तर की महिला निशानेबाज तारा शाहदेव ने आरोप लगाया है कि शादी के बाद उसके पति ने उस पर इस्लाम कबूल करने का दबाव डाला. तारा शाहदेव के मुताबिक उससे उसके पति रंजीत सिंह कोहली उर्फ रकीबुल हुसैन ने धोखे में रख कर शादी की थी. तारा शाहदेव का आरोप है कि जिस रंजीत सिंह कोहली से उसने शादी की, उसके धर्म के बारे में शादी के बाद पता चला कि वो हिन्दू नहीं मुसलमान है. रंजीत कुमार अब अपने परिवार समेत फरार है. पति से प्रताड़ित तारा शाहदेव के शरीर पर कई जख्म भी हैं और वह ठीक से चल भी नहीं पा रही हैं. तारा का कहना है कि रंजीत उसे शारीरिक संबंध बनाने के लिए भी मजबूर करता और उसे धमकियां देता रहा.

लव जेहाद के मामले में केरल और कर्नाटक शीर्ष पर हैं. दिसंबर 2009 में केरल हाई कोर्ट के न्यायाधीश केटी शंकरन ने लव जेहाद पर टिप्पणी करते हुए कहा था, ‘ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि प्यार की आड़ में जबरन मतांतरण की साजिश चल रही है. छल और फरेब के बल पर इस तरह के मतांतरण को स्वीकार नहीं किया जा सकता.’ वहीं 2006 में इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने भी तत्कालीन प्रदेश सरकार से पूछा था कि हिंदू लड़कियां ही इस्लाम क्यों कबूल रही हैं? निकाह के लिए मुस्लिम लड़के अपना मजहब क्यों नहीं बदलते? न्यायमूर्ति राकेश शर्मा ने तब टिप्पणी की थी, ‘न्यायालय के सामने लगातार ऐसे मामले आ रहे हैं जिनमें हिन्दू लड़कियों से इस्लाम कबूल करवाने के बाद उनका निकाह मुस्लिम लड़कों के साथ कर दिया जाता है. निकाह के बाद उनका पता-ठिकाना नहीं मिलता.’

यूपी में मचा राजनीतिक बवाल
‘उत्तरप्रदेश के मथुरा में बीजेपी की प्रदेश इकाई की कार्यकारिणी की बैठक में लव जेहाद पर होने वाली चर्चा की आड़ में राज्य में दंगे फैलाने की योजना बनाई जा रही है.’
– केसी त्‍यागी, प्रवक्‍ता, जेडीयू
‘प्यार और जेहार विरोधाभासी हैं. बीजेपी इसके बहाने उत्तर प्रदेश में ध्रवीकरण की कोशिश कर रही है.’
– मनीष तिवारी, कांग्रेस
‘प्यार और मोहब्बत ऐसी चीज है जिससे हर शख्स गुजरता है. प्यार जाति, धर्म और भाषा को नहीं मानता. ऐसी जुमलेबाजी के जरिए वोटों के ध्रवीकरण करना गलत है. बीजेपी को बाज आना चाहिए.’
– अली अनवर, जेडीयू नेता

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं