कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे [email protected] पर भेजें | इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है। पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं। हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो। आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें -मॉडरेटर

जागरण इलाहाबाद के चीफ रिपोर्टर ने दिखाई गुंडागर्दी..

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

जागरण इलाहाबाद में कुछ ठीक नहीं चल रहा है. दो साल से सिटी इंचार्ज का पद संभाल रहे वरिष्ठ सहयोगी ने सम्पादकीय प्रभारी के व्यवहार से तंग आ कर अपना पद

छोड़ दिया. इलाहाबाद यूनिट मे 5-5 मुख्य संवाददाता होने के बावजूद सम्पादकीय प्रभारी ने सीनियर सब-एडिटर को चीफ रिपोर्टर का काम काज सौप दिया.jagran

आशुतोष तिवारी नामक इस सीनियर सब-एडिटरको चीफ रिपोर्टर का काम काज संभाले जुम्मा जुम्मा 10 दिन भी नहीं बीते हैं. इतने दिन मे ही कई बड़े बड़े बवाल हो गये. 22 को तो हद ही हो गयी. प्रभारी चीफ रिपोर्टर आशुतोष तिवारी नैनी मे लगने जा रही जागरण की नयी यूनिट के भूमि पूजन कार्यकरम से लौट कर नये यमुना पुल पर किसी बात को लेकर नहाई के कर्मचारियों से उनकी भिड़ंत हो गयी. कहासुनी के बाद आशुतोष तिवारी और उनके फोटोग्राफर और अन्य सहयोगियों ने ने NHAI के अभियंता को पीट दिया.

नये यमुना पुल का नीरीक्षण करने जापान से 2 विदेशी इंजीनियर भी आये थे. उन्होने बीच बचाव करने की कोशिश की तो उनके साथ भी हाथापाई की गयी. आशुतोष ने
सी एम पी डिग्री कालेज से कुछ आपराधिक किस्म के छात्र नेताओं को बुला लिया. इन सब के साथ मिल कर इंजीनियरों के साथ मार पीट की गयी.. बाद मे वहां पर टोल टेक्स कर्मचारियो और अन्य को जुटता देख कर आशुतोष और उनके साथी कार मे फरार हो गये. NHAI के इंजीनियरो ने नैनी थाने जाकर एफ आई आर दर्ज कराई है. जागरण के प्रभाव मे पुलिस ने नामजद एफआईआर दर्ज करने की जगह 2 अज्ञात युवकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. अमर उजाला ने इस समाचार को 23 अगस्त के संस्करण मे प्रमुखता से प्रकाशित किया है-

amar ujala, allahabad-kaushambi edition, 23-08-2014, page number 5.

नए पुल पर विदेशी इंजीनियरों के साथ हाथापाई

नैनी (ब्यूरो). नए यमुना पुल पर शुक्रवार दिन में निरीक्षण कर रहे देसी, विदेशी इंजीनियरों के साथ हाथापाई और मारपीट की गई. घटना की सूचना से एनएचएआई
अधिकारियों में हड़कंप मच गया. मामले में नैनी कोतवाली में दो अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है.

जानकारी के मुताबिक डेनमार्क की कोवी कंपनी एवं देवकॉन इफ्राक्चर प्राइवेट लिमिटेड नए यमुना पुल की देखभाल करती हैं. डेनमार्क के ब्रिज एक्सपर्ट ई. निल्स विट्स एवं कैरिन के साथ ही स्थानीय चीफ साइड इंस्पेक्टर अमितेंद्र बहादुर सिंह पुत्र अर्जुन निवासी सोसना बहादुरपुर थाना उभांव, जनपद बलिया पिछले कई दिनों से नए पुल का निरीक्षण कर रहे हैं.
शुक्रवार को भी तीनों के साथ डीआईपीएल के हरिश्चंद्र कालरा, के.एस. उपाध्याय, राधाबल्लभ तिवारी पुल पर निरीक्षण कर रहे थे. उसी दौरान दो युवक पहुंचे और किसी
बात को लेकर कहासुनी करने लगे. बाद में उन्होंने फोन कर कई और लोगों को बुला लिया. सभी विदेशी इंजीनियरों के साथ ही अमितेंद्र बहादुर सिंह के साथ
धक्का मुक्की एवं अभद्रता करने लगे. शोर मचाने पर वे सफारी में बैठकर वहां से भाग निकले. बाद में सभी अधिकारी नैनी कोतवाली पहुंचे और आपबीती सुनाई. इंजी.
अमितेंद्र की तहरीर पर दो अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया.

Facebook Comments
Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
Share.

About Author

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

%d bloggers like this: