/चाहे क्रिकेट, हॉकी या किसी भी खेल में राज्य के उभरते खिलाड़ियों के भविष्य के साथ खेलने की अनुमति नहीं दी जाएगी: वीर भद्र

चाहे क्रिकेट, हॉकी या किसी भी खेल में राज्य के उभरते खिलाड़ियों के भविष्य के साथ खेलने की अनुमति नहीं दी जाएगी: वीर भद्र

सरकार धर्मशाला क्रिकेट मैच के लिए हर संभव सहायता देगी..

-अरविन्द शर्मा||

धर्मशाला, हिमाचल के मुख्यमंत्री वीर भद्र सिंह ने खेल संघों तथाकोई भी अन्य खेल हो , खेल में राज्य के उभरते खिलाड़ियों के भविष्य के साथ खेलने की अनुमति नहीं दी जाएगी और दोषी को कानून के तहत सजा दिलाने में वह कभी भी पीछे न हटेंगे. शिमला जिला में एक सरकारी सकूल के कार्यक्रम में मगलवार को बोलते हुए मुख्यमंत्री सिंह ने कहा कि इसके लिए विधेयक लाया जाएगा,” उन्होंने कहा कि राज्य में कोई भी व्यक्ति स्वयं लाभ के लिए खेल संघों की संरचना करे, इसकी अनुमति नहीं दी जा सकती. उन्होंने कहा कि वह स्वयं खिलाड़ी रहे है तथा खेल की सच्ची भावना के लिए ही उनका दिल हमेशा धड़कता है. जो फर्जी कंपनियों या संगठनों के गठन से खिलाड़ियों की भावनाओं के साथ खेलने की कोशिश कर रहे है वह प्रदेश में खेल तथा खिलाड़ियों के साथ सीधे रूप में गद्दारी कर रहे है.36

भाजपा सांसद और HPCA के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर के हाल के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि वह खेल का राजनीतिकरण कर रहे है , लेकिन राज्य में कुछ अन्य लोग और राजनेता भी क्रिकेट संघ की आड़ में खेल के नाम पर कई अनियमितताओं से जुड़े हुए है. उन्होंने कहा कि हमारे राज्य में इस तरह का खेल खेलने की अनुमति नहीं दी जा सकती है. हिमाचल के खिलाडियों को ही यदि दरकिनार कर कोइ अपनी रोटिय इस प्रदेश में सकने की कोशिश करता है तो प्रदेशवासी इसे बर्दाश्त नहीं कर सकते.

उधर अनुराग ठाकुर ने गत दिनों आरोप लगाया था की धर्मशाला में अक्टूबर 17  को होने वाले भारत –वेस्ट इंडीज़ की बीच होने वाले एक दिवसीय क्रिकेट मैच को लेकर हिमाचल सरकार द्वारा दी जाने वाली सुरक्षा व्यवस्था को लेकर वीर भद्र सिंह जान बूझ कर नकारात्मक रवैया अपनाए हुये है , तथा इस मैच के पक्ष में नहीं है.
दूसरी ओर मुख्यमंत्री हिमाचल वीरभद्र सिंह ने शनिवार को हमीरपुर में एक संवाददाता सम्मेलन में साफ़ कहा था कि  ” भाजपा शासन के खिलाफ मेरी सरकार केवल हमारे चुनाव घोषणा पत्र के अनुसार और कांग्रेस पार्टी द्वारा उठाए गए जो प्रमुख आरोप थे, केवल उन्ही मुद्दों की जांच कर रही है, और मुख्य मंत्री के नाते यह मेरा नैतिक कर्तव्य भी है.”

उन्होंने कहा कि हिमाचल सरकार धर्मशाला में प्रस्तावित एक दिवसीय क्रिकेट मैच के लिए हर संभव सहायता प्रदान करेगी.

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं