/भाजपा पहले नेता चुनकर शिवसेना का दांव बेकार कर सकती है..

भाजपा पहले नेता चुनकर शिवसेना का दांव बेकार कर सकती है..

-अंबरीश मिश्र||

महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी बीजेपी भविष्य की रूपरेखा तय करने के लिए मंथन कर रही है. बहुमत से थोड़ा सा पीछे रह गई यह पार्टी सरकार बनने की स्थिति में मंत्रालयों पर पूरा नियंत्रण स्थापित करने के लिए जरूरी तालमेल बनाना चाहती है. पार्टी चाहती है कि शिवसेना से बातचीत शुरू होने से पहले ही सीएम पद के लिए अपना उम्मीदवार चुन ले.bjp-mumbai

बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व ने पार्टी की महाराष्ट्र इकाई से कहा है कि शिवसेना के साथ सरकार बनाने को लेकर बातचीत शुरू होने से पहले ही पार्टी को विधायक दल का नेता चुन लेना चाहिए. महाराष्ट्र बीजेपी से जुड़े एक महत्वपूर्ण सूत्र ने रविवार को कहा, ‘हम शिवसेना से समर्थन के मसले पर बातचीत शुरू होने के पहले ही विधायक दल का नेता चुन लेना चाहते हैं.’

सूत्रों के अनुसार बीजेपी यह रणनीति इसलिए अपना रही है ताकि शिवसेना के उस गेमप्लान पर पानी फेरा जा सके जिसके तहत वह दिवंगत नेता गोपीनाथ मुंडे की बेटी और बीजेपी विधायक पंकजा मुंडे के नाम को सीएम पद के लिए आगे बढ़ाना चाहती है. पार्टी के विधायक दल की बैठक ‘एक या दो दिन’ में बुलाई जाएगी.

केंद्रीय गृह मंत्री और सीनियर बीजेपी लीडर राजनाथ सिंह को महाराष्ट्र में बीजेपी की सरकार के गठन के लिए रास्ता साफ करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है. केंद्रीय नेतृत्व ने राजनाथ और जे. पी. नड्डा को पार्टी के विधायकों का मूड भांपने के लिए भी कहा है कि वे सीएम के रूप में किसे देखना चाहते हैं.

सूत्रों के अनुसार, बीजेपी ने राजनीतिक उथल-पुथल की स्थिति में एनसीपी का विकल्प भी खुला रखा है. बीजेपी को पोल ट्रेंड्स के जरिए जैसे ही पता चला कि वह बहुमत से दूर रह जाएगी, उसने अपने प्रवक्ताओं को साफ निर्देश दे दिया कि एनसीपी पर कोई हमला करने से बचें. यह भी तब हुआ था जब एनसीपी ने आधिकारिक रूप से बीजेपी को बाहर से समर्थन देने की पुष्टि नहीं की थी. विशेषज्ञों के अनुसार, एनसीपी का बीजेपी को महाराष्ट्र में समर्थन देना केंद्र में भी उनकी लंबी भागीदारी की शुरुआत हो सकती है.

बीजेपी के एक पदाधिकारी ने कहा, ‘सबसे बड़ी गड़बड़ यह है कि शिवसेना इस बात पर जोर दे रही है कि बीजेपी को मुख्यमंत्री के पद के लिए पंकजा मुंडे को चुनना चाहिए. हम शिवसेना की तरफ से इस मसले पर कोई सुझाव नहीं चाहते. यदि हम पंकजा को महाराष्ट्र का सीएम बनाना चाहेंगे, तो यह पूरी तरह से हमारा फैसला होगा.’

पंकजा ने पिछले हफ्ते ही सीएम बनने की अपनी इच्छा को जाहिर करते हुए कहा था कि यदि पार्टी उन्हें इस पद के लिए चुनती है तो वह तैयार हैं. उन्होंने कहा कि इस तरह से उनके समर्थकों के साथ-साथ उनके पिता गोपीनाथ मुंडे का ‘सपना’ पूरा हो जाएगा.

बीजेपी के रणनीतिकार सोचते हैं कि मातोश्री इसीलिए पंकजा का नाम आगे बढ़ाना चाहती है, क्योंकि उन्हें लगता है कि वह उन्हें आसानी से हैंडल कर पाएंगे. मुंडे परिवार से मातोश्री का बहुत ही करीबी रिश्ता रहा है. मीडिया में पंकजा के सीएम बनने की इच्छा संबंधी बयान ने बीजेपी को तनाव में ला दिया और इसके साथ ही इस पद के लिए देवेंद्र फडनवीस के नाम पर मुहर लगने की संभावना और बढ़ गई.

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं