कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे [email protected] पर भेजें | इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है। पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं। हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो। आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें -मॉडरेटर

एक आई ए एस अफसर की कहानी..

0
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

-पवन कुमार बंसल||

हरियाणा कैडर का एक आई ,एस अफसर, भूपिंदर हूडा की चमचागिरी करके दिल्ली में एक महत्वपूर्ण पद पर करीब सात साल तक रहा और अब भी है. जनाब  की हूडा साहिब के मीडिया सलाहकर से भी काफी दोस्ती रही है. मछली खाने के शौकीन इस अफसर ने नए मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को भी पटा लिया. मनोहर लाल का अफसरों  से कभी कोई संपर्क नहीं रहा.Bhupinder Hooda

विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद दिल्ली आये तो अफसर मनोहर लाल के सामने दोनों हाथ जोड़कर गिड़गिड़ाते हुए कहने लगा कि मुझे तो  हूडा साहिब ने चीफ सेक्रेटरी का क्लर्क बना रखा था.

अब वो अफसर हरियाणा के ही एक और अपने साथी अफसर के माध्यम से  मुख्यमंत्री कार्यालय में लगे एक वरिष्ठ अफसर का पल्लू पकड़ कर ऐसे महकमे  में लग गया है जिसका कानून व्यवस्था से सीधा संबंध है.
A senior I.A.S officer of Haryana cadre who had key position in Delhi for seven years ,courtesy, Bhupinder Hooda met new chief minister Manohar lal in Haryana Bhawan Delhi and told him with folded hands that I was reduced as mere clerk of chief secretary by Hooda.Shockingly this officer is occupying key
position in a department dealing with law and order situation. God saves the people of Haryana.

Facebook Comments
Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
Share.

About Author

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

%d bloggers like this: