Loading...
You are here:  Home  >  अपराध  >  Current Article

रामपाल का आश्रम है या कुकर्म का अड्डा..

By   /  November 20, 2014  /  No Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

हिसार, साढ़े 33 घंटे के ऑपरेशन के बाद हरियाणा पुलिस ने बुधवार की रात सतलोक आश्रम से स्वयंभू संत रामपाल को गिरफ्तार कर लिया. रामपाल की गिरफ्तारी के बाद आश्रम की तलाशी के दौरान पुलिस को कॉन्डम, महिला शौचालयों में खुफिया कैमरे, नशीली दवाएं, बेहोशी की हालत में पहुंचाने वाली गैस, अश्लील साहित्य समेत भारी तादाद में आपत्तिजनक सामग्री मिली हैं. आश्रम से बाहर आई एक महिला ने बताया कि पिछले कुछ दिनों में उनके साथ कई बार दुष्कर्म किया गया.Sant Rampal supporters protest

बताया जा रहा है कि बुधवार को रामपाल ने पुलिस के सामने सरेंडर करने की जो पेशकश की थी, उसमें शर्त भी रखी थी कि आश्रम की तलाशी नहीं ली जाएगी. हालांकि, पुलिस ने उसकी सरेंडर और तलाशी न लेने की शर्तों को मानने से इनकार कर दिया था. पुलिस की कार्रवाई और आश्रम से करीब 20 हजार अनुयायियों को निकालने के बाद रात साढ़े नौ बजे के करीब रामपाल को गिरफ्तार कर लिया गया था. आश्रम से निकलने के बाद अनुयायियों ने बताया कि उन्हें बंधक बनाकर रखा गया था.
रामपाल की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने लाउडस्पीकर से घोषणा की कि जो भी अंदर हैं वे बाहर निकल जाएं, मगर जब कोई नहीं निकला तो पुलिस ने आश्रम को खंगालने का काम शुरू कर दिया. सबसे पहले मेन गेट के पास बने महिला शौचालय की जांच शुरू हुई. पुलिस के शौचालय को देखकर होश उड़ गए. शौचालय के बाहर लगे कैमरे का मुंह भी अंदर की तरफ किया गया था. शौचालय में पुलिस को कॉन्डम भी मिले हैं. आश्रम के अंदर गैस की बदबू आ रही थी. डॉक्टरों ने जांच की तो पता चला कि यह नाइट्रोजन गैस की बदबू है.

बुधवार को आश्रम से बाहर आने पर महिलाओं ने भी चौंकाने वाले अनेक खुलासे किए. उनके अनुसार रामपाल के निजी कमांडो उन्हें बंधक बनाकर दुष्कर्म तक करते थे और ऐसी जगह रखते थे कि किसी तक उनकी आवाज नहीं पहुंच सकती थी. आश्रम से बाहर आई एक महिला ने बताया कि वह अपने पति और बच्चे के साथ यहां आई हुई थी और पिछले कई सात दिनों से वह आश्रम में ही है. उन्होंने कहा कि पिछले कुछ दिनों से उनसे दुष्कर्म किया जा रहा था. महिला का कहना है कि पांच दिनों से पति के साथ उनका संपर्क नहीं हो पा रहा है.

पुलिस ने रामपाल के साथ-साथ उनके राजदारों को भी गिरफ्तार किया है. रामपाल का पूरा कारोबार और आश्रम की गतिविधियों के मास्टरमाइंड कहे जाने वाले रामपाल के भाई पुरुषोत्तम दास, जगदीश ढाका, प्रवक्ता राजकपूर और एक महिला भी गिरफ्तार की गई है. रामपाल की संपत्ति और उसके तमाम कारोबार को यही लोग संचालित करते हैं. सारा लेन-देन और आश्रम में सत्संग सहित सभी कार्यक्रमों की रूपरेखा रामपाल से विचार-विमर्श करके यही चारों लोग तय करते थे.

(नभाटा)

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

पनामा के बाद पैराडाइज पेपर्स लीक..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: