/अनिल विज ने कल्पना चावला मेडिकल कालेज के स्टाफ को लगाई लताड़..

अनिल विज ने कल्पना चावला मेडिकल कालेज के स्टाफ को लगाई लताड़..

स्वास्थ्य मंत्री का छापा पड़ा डाक्टर्स पर भारी.. अनियमितताएं पाई जाने पर अनिल विज ने कल्पना चावला मेडिकल कालेज के स्टाफ को लगाई लताड़.. सिविल हस्पताल की सी एम् ओ का मौके पर किया तबादला.. सेनेटरी इंस्पेक्टर सस्पेंड.. 11 डाक्टर्स के खिलाफ फरलो मारने की जांच के आदेश” दवाइयों में गड़बड़ी की भी होगी जांच.. प्रदेश में 500 डाक्टर्स की कमी.. नई भर्ती कर कमी को जल्द किया जायेगा पूरा.. पिछली सरकार में हुई भर्ती प्रक्रिया रद्द नहीं.. नई नीति के तहत होगी भर्ती.. करनाल के कल्पना चावला मेडिकल कालेज पर स्थिति स्पष्ट नहीं.. कालेज है या हस्पताल पता किया जायेगा.. स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज

-अनिल लाम्बा||

करनाल ,  करनाल के कल्पना चावला मेडिकल कालेज पर प्रश्नचिन्ह के साथ आज प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने मेडिकल कालेज में अचानक छापा मारा और कई मौके पर कई अनियमितताएँ पाई. उन्होंने अपने औचक निरीक्षण के दौरान सख्त रूख अपनाते हुए स्टाफ को जमकर लताड़ लगाई और सिविल हस्पताल की मुख्य चिकित्सा अधिकारी वंदना भाटिया का तुरंत प्रभाव से तबादला आदेश जारी कर दिए. इसके अलावा मेडिकल कालेज के पानी में गंदगी पाए जाने पर सेनेटरी इंस्पैक्टर तिलकराज को भी सस्पेंड कर दिया.anil-vij

उन्होंने मौके पर ही जनस्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को यहाँ के पानी के सेम्पल लेने के निर्देश दिए. आज सुबह अचानक पहुंचे अनिल विज ने यहाँ करीब तीन घंटे तक पूरे परिसर में घूम कर हर चीज का बारीकी से निरीक्षण किया और मरीजों से हस्पताल में मिलने वाली सुविधाओं और पेश आ रही समस्याओं बारे पूछा. कई मरीजों ने उन्हें अपनी समस्याएं बताई जिस पर उन्होंने तुरंत हस्पताल के डाक्टर्स और अधिकारीयों से जवाब तलब किया और संतुष्ट ना होने पर उनके खिलाफ कार्यवाही की बात कही. निरिक्षण के दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने डाक्टर्स के हाजरी रजिस्टर भी चेक किये जिसमे गड़बड़ी पायी जाने पर 11 डाक्टर्स के खिलाफ फरलो मारने की जाँच के आदेश दे दिए. हाजरी रजिस्टर पर अधिकारी कोई संतोष जनक जवाब नहीं दे पाए. उन्होंने परिसर में स्थित नशा मुक्ति केंद्र , टी बी वार्ड , मेडिकल स्टोर और बाथरूम तक में स्वयम जाकर निरिक्षण किया और कई जगह अनियमितताएं पायी जाने पर अधिकारीयों को कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश दिए.

अनिल विज ने खासकर दवाइयों की जाँच की और मरीजों से भी उन्हें मिलने वाली दवाइयों के बारे में विस्तार से पूछा , डाक्टर्स की लिखी दवाइयों और मरीज की पर्ची में तालमेल ना होने पर उन्होंने डाक्टर्स को जमकर लताड़ लगाई , उन्होंने इस बात का भी अंदेशा जाहिर किया की डाक्टर मरीजों को जो दवाई लिखते हैं उन्हें मरीज से बाहर से मंगवाया जाता है , इसके अलावा स्टोर में मौजूद दवाइयों के इस्तेमाल पर भी प्रशन चिन्ह लगाते हुए उन्होंने इनका रिकार्ड चंडीगढ़ तलब कर लिया. पत्रकारों से बातचीत में अनिल विज ने कहा की अपने निरिक्षण के दौरान उन्हें यहाँ अनेक अनियमितताएं देखने को मिली जिसके चलते उन्होंने सिविल सर्जन वंदना भाटिया और सेनेटरी इंस्पेक्टर को सस्पेंड करने के आदेश दिए हैं. उन्होंने कहा की हाजरी रजिस्टर में भी काफी गड़बड़ी पाई गई है और डाक्टर्स बिना बताये गैरहाजिर रहते हैं जो स्टाफ की मिलीभगत से हो रहा है.

प्रदेश में डाक्टर्स की कमी पर उन्होंने कहा कि इस समय हस्पतालों में करीब 500 डाक्टर्स की कमी है और अभी 95 नए डाक्टरों को नियुक्ति पत्र दिए गए हैं. करीब 100 डाक्टर्स जो डेपुटेशन पर थे उन्हें वापिस बुलाया गया है. इसके आलावा जहाँ डाक्टर्स की तादाद ज्यादा थी उन्हें खाली स्थानों पर भेजा गया है. उन्होंने कहा की जल्द ही डाक्टर्स की नई भर्ती निकाली जायेगी और एडहोक बेस पर रिक्त स्थान भरे जायेंगे. विज ने पिछली सरकार के दौरान धडल्ले से खुले नर्सिंग कालेजों की विश्वश्नियता पर भी सवाल उठाते इनकी जाँच की बात कही. एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा की पिछली सरकार के दौरान नर्सिंग स्टाफ की भर्तियों को रद्द नहीं किया गया है और इनके विषय में नई निति बनाई जा रही है जिसके तहत इनकी भर्ती की जायेगी.आज अचानक मारे गए छापे में करनाल स्थित कल्पना चावला मेडिकल कालेज की मान्यता पर भी सवाल खड़े हो गए और यह तय नहीं हो पाया की यहाँ अभी सिविल हस्पताल काम कर रहा है अथवा मेडिकल कालेज , क्योंकि मेडिकल कालेज का हवाला देकर समान्य हस्पताल को यहाँ से शिफ्ट कर दिया गया है लेकिन , हस्पताल का स्टाफ और ओ पी डी यहाँ चलाई जा रही है. इस पर खुद स्वास्थ्य मंत्री ने चंडीगढ़ में फोन कर स्वास्थ्य मह्निदेश्क से बात कर सही स्थिति जानने का प्रयास किया लेकिन वहां से भी कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला.

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं