/बगदादी का कार्टून छापने वाली फ्रांस की पत्रिका के दफ्तर पर आतंकी हमला, 12 की मौत

बगदादी का कार्टून छापने वाली फ्रांस की पत्रिका के दफ्तर पर आतंकी हमला, 12 की मौत

पेरिस में पत्रिका शार्ली एब्दो के दफ्तर में घुसकर दो नकाबपोश लोगों ने एके-47 से अंधाधुंध गोलियां चला दीं, जिसमें 10 से ज्यादा लोग मारे गए हैं. वहां के पुलिस अधिकारियों की माने तो एक पत्रकार की भी मौत हुई है. जबकि पुलिस के भी दो जवान इस घटना में मारे गए हैं. इस हमले में पत्रिका के संपादक की भी मौत हो गई है. छह घायल लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जिसमें से चार की हालत गंभीर बनी हुई है.gun-attack-on-french-magazine-charlie-hebdo-kills

पत्रिका के दफ्तर में हमले के वक्त एडिटोरियल टीम की मीटिंग चल रही थी जिसमें संपादक मौजूद थे. संपादक का नाम स्टीफन था जिनकी मौत हो गई है. मरनेवालों में पत्रिका के चार कार्टूनिस्ट भी शामिल हैं.

ये वही मैगजीन है जिसमें नवंबर 2012 में भी आग लगा दी गई थी. उसकी वजह भी यही थी कि उस समय भी एक खास समुदाय के देवता को लेकर कार्टून पत्रिका में छापा गया था. हलांकि इस समय हुए हमले को लेकर जो जानकारी दी जा रही है उसके मुताबिक अल-बगदादी जो आईएसआईएस का प्रमुख है उसकी तस्वीर छापी गई थी जिसको लेकर गुस्से में यह कार्रवाई की गई है. इस मैगजीन को व्यंग्यात्मक मैगजीन की श्रेणी में रखा गया है.

घटना के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति ने एक इमरजेंसी कैबिनेट बैठक बुलाई है. फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद मौके पर पहुंच रहे हैं. पूरे देश में अलर्ट जारी कर दिया गया है और पेरिस की सड़कों पर सुरक्षा बलों की तैनाती पुख्ता कर दी गई है.

फ्रेंच मीडिया की तरफ से बताया जा रहा है कि आतंकियों ने रॉकेट लॉन्चर और ऑटोमैटिक बंदूकों की मदद से हमले को अंजाम दिया. हमलावरों ने 50 राउंड से ज्यादा फायरिंग की. जिस जगह फायरिंग की वारदात हुई है वहां अखबार के दफ्तर के साथ-साथ रिहायशी मकान भी हैं.मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हमलावर कार हाईजैक करके मैगजीन के दफ्तर तक पहुंचे थे.

हमले पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्विटर पर इस घटना की निंदा की है. मोदी ने ट्विट किया है कि पेरिस में पत्रिका के दफ्तर पर हुआ ये हमला निंदनीय और घृणित है. हम इसकी निंदा करते हैं. फ्रांस के हर परिवार के साथ साहनुभूती है साथ ही फ्रांस के उन परिवार के लोगों के साथ हमारी पूरी हमदर्दी है जिन्होंने इस हमले में अपने परिजनों को खोया है.

अमेरिका के ऱाष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी हमले की निंदा की है. फ्रांस की पुलिस के अनुसार आतंकवादियों ने हमले के बाद नारे लगाए और कहा कि उन्होंने आईएसआईएस प्रमुख के छापे गए कार्टून का बदला लिया है.

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं