/प्रशांत भूषण और योगेन्द्र यादव ठहराये जा सकते हैं अनुशासनहीन..

प्रशांत भूषण और योगेन्द्र यादव ठहराये जा सकते हैं अनुशासनहीन..

आंतरिक मतभेदों के सामने आने के बाद आम आदमी पार्टी (आप) ने सोमवार को ऐसे संकेत दिए कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण के खिलाफ आगामी बुधवार को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में अनुशासन का चाबुक चलाया जा सकता है। इन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री संयोजक अरविंद केजरीवाल को पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक के पद से हटाने के प्रयास का आरोप लगा है।Yogendra-Prashant-Kejriwal~02~03~2015~1425296446_storyimage

आप के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में पार्टी के संरक्षक शांति भूषण पर उनके उस बयान को लेकर निशाना साधा जिसमें उन्होंने कहा था कि केजरीवाल के स्थान पर यादव को संयोजक बनाया जाना चाहिए। सिंह ने कहा, पार्टी के भीतर में से कोई, कुछ नेता अरविंद केजरीवाल को निशाना बनाकर उन्हें राष्ट्रीय संयोजक के पद से हटाने का प्रयास कर रहे हैं और पार्टी को बदनाम कर रहे हैं। प्रशांत भूषण और यादव का नाम लिए बगैर उन बयानों एवं पत्रों का हवाला दिया जिनके सामने आने के बाद से पार्टी के भीतर मतभेदों से जुड़ा विवाद खड़ा हुआ है।

आपसी संवाद वाले पत्रों के मीडिया में आने पर नाखुशी जाहिर करते हुए संजय सिंह ने कहा कि मुद्दों को मीडिया के जरिए सार्वजनिक करने की बजाय इन पर पार्टी के मंच पर चर्चा हो सकती थी। उन्होंने कहा कि पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक आगामी बुधवार को होगी और इसमें मतभेदों से जुड़े ताजा विवाद सहित सभी मुद्दों पर फैसला किया जाएगा।

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं