/वायरल हो रहा है इंदुजा का विद्रोही वैवाहिक विज्ञापन..

वायरल हो रहा है इंदुजा का विद्रोही वैवाहिक विज्ञापन..

अपने घर वालों के वैवाहिक विज्ञापन से नाराज होकर इंदुजा पिल्लई ने जो किया उसने उन्हें सुर्खियों में ला दिया है.induja

23 साल की इंदुजा पिल्लई के घरवालों ने जब उनकी शादी के लिए अखबार में विज्ञापन दिया तो उसकी भाषा वही थी जो अमूमन वैवाहिक विज्ञापनों की होती है. तमिलनाडु में रहने वाले इंदुजा के माता-पिता को अपनी इकलौती संतान के लिए ‘योग्य वर’ चाहिए था.
लेकिन इंदुजा ने यह विज्ञापन देखा तो उन्हें गुस्सा आया. उन्हें लगा कि यह तो पढ़ी-लिखी और अच्छी-खासी नौकरी करने वाली एक लड़की का अपमान है. सो उन्होंने अपनी परिभाषा के हिसाब से योग्य वर खोजने के लिए अपने ब्लॉग पर एक नया पेज बना डाला. अपना परिचय देते हुए उन्होंने लिखा, ‘मैं चश्मा पहनती हूं और उसमें अजीब भी दिखती हूं…मुझे किताबें पढ़ने का शौक नहीं…मैं आम महिलाओं जैसी नहीं हूं, मैरिज मटीरियल तो बिल्कुल नहीं. मैं कभी अपने बाल नहीं बढ़ाऊंगी. मेरी जीवन भर की गारंटी है.’

‘मैं चश्मा पहनती हूं और उसमें अजीब भी दिखती हूं…मुझे किताबें पढ़ने का शौक नहीं…मैं आम महिलाओं जैसी नहीं हूं, मैरिज मटीरियल तो बिल्कुल नहीं. मैं कभी अपने बाल नहीं बढ़ाऊंगी.

इंजीनयरिंग में ग्रेजुएशन कर चुकी इंदुजा बंगलुरू की एक कंपनी में काम करती हैं. ब्लॉगिंग और शौकिया फोटोग्राफी उनके शौक हैं. अपनी पसंद के लड़के के बारे में भी इंदुजा की प्राथमिकताएं बिल्कुल साफ हैं. वे कहती हैं, ‘एक आदमी जिसकी दाढ़ी हो तो बेहतर. जिसे दुनिया देखने का शौक हो और जिसे अपनी नौकरी से नफरत न हो….उन लोगों को एक्स्ट्रा नंबर जिन्हें बच्चे पसंद न हों.
थोड़े ही समय में इंदुजा का ब्लॉग वायरल हो गया. तीन हफ्ते में ही उनके इस पेज पर करीब ढाई लाख हिट्स हो चुके हैं. दुनिया भर से लोग उन्हें जवाब दे रहे हैं. इंदुजा की खूब तारीफें हो रही हैं. हालांकि कुछ उनकी आलोचना भी कर रहे हैं. एक पाठक ने उन्हें लिखा, ‘क्या विदेशी नागरिक भी शादी के लिए आवेदन कर सकते हैं.’ एक महिला की प्रतिक्रिया थी, ‘आप बिल्कुल वैसी ही हैं जैसी मैं 20 साल पहले थी.’ एक अन्य पाठक का कहना था, ‘आपने मेरी जैसी हजारों लड़कियों के दिल की बात कह दी.’
इंदुजा के माता-पिता पहले तो उनके इस फैसले से गुस्सा हुए लेकिन, अब इस पर आ रही प्रतिक्रियाओं से वे खुश हैं. रियल स्टेट सेक्टर में काम करने वाले इंदुजा के पिता के पास अब शादी का कोई रिश्ता आता है तो लड़के और उसके घरवालों को अपनी बेटी के ब्लॉग का पता दे देते हैं. अपने एक ट्वीट में इंदुजा कहती भी हैं, ‘मेरे माता-पिता अब ये नहीं कह सकते कि मैंने इस काम में उनकी मदद नहीं की.’

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं