/देश, इंसानियत और समाज को नई सोच व् जागृति सहित उजाली दिशाएं दे के सम्पन्न हुआ आल इंडिया मुशायरा..

देश, इंसानियत और समाज को नई सोच व् जागृति सहित उजाली दिशाएं दे के सम्पन्न हुआ आल इंडिया मुशायरा..

-कुलबीर कलसी||

यूनिवर्सल आर्ट एंड कल्चरल वेलफेयर सोसायटी और अदिति कलाकृति हब ऑफ़ हॉबीज की ओर  से  स्थानीय सेक्टर दस स्थित म्यूजियम एंड आर्ट गैलरी के सभागार  में  होली के उपलक्ष्य में युवा लेखक कला मंच व् प्रशासन के कल्चरल विभाग ने सांझे तौर पर  आल इंडिया मुशायरा आयोजित किया.  IMAG0070

उक्त मुशायरा का उद्घाटन मुशायरे  के मुख्यातिथि शहर के जानेमाने समाज सेवक और श्रीराम कलाकृति [ गरीब बेसहारा व् शहीदों की विधवाओं के आर्ट एंड क्राफ्ट्स की निशुल्क ट्रेनिंग देने वाली नॉन गवर्नमंट एडेड हब ] के ऑनरेरी चेयरमेन सरदार अवतार सिंह कलेर ने दीप  प्रज्वलित करके किया.   मुशायरा में राष्ट्रीय स्तर के जानेमाने शायरों और शायरा मोह्तरमों ने शिरकत की.

इस बाबत अधिक जानकारी देते हुए आरके विक्रांत शर्मा और एस्टेक के एमडी  नेकीराम  ने बताया कि जनाब सरफराज मासूम , नईम देवबंदी ,क्यूं बिस्मिल, शम्स तबरेजी , मोहतरमा तूलिका सेठ व् सब्बा होशियारपुरी सहित युवा क्रन्तिकारी कवि और युवा लेखक मंच के सरपरस्त नवीन नीर , दानिश  भारती , मुसव्विर फिरोजपुरी आदि ने अपने कलाम पढ़े और दर्शकों सहित श्रोताओं की वाहवाही लूटी.   मुशायरे का मंच संचालन जाने माने शायर जनाब शम्स तब्रेजी ने किया.   मुशायरे का श्रीगणेश मुख्य अथिति सरदार अवतार सिंह  कलेर को संस्थाओं की ओर  से नवीन नीर और नरिंदर सिंह ने स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया.

मुशायरों  के आयोजनों  में अग्रणी भूमिका अदा  करते रहे कलाप्रेमी व्  समाजसेवक किशन चंद बुकसानी राजस्थानी को भी सम्मानित किया गया.   अपने संक्षिप्त भाषण में मुख्यातिथि अवतार सिंह कलेर ने सभी कलमकारों को समाज  व शहर वासियों की और से शाबाशी दी; जो  समाज, मानवता और देश की सेवा में अक्षुण जुटे रहते हैं.   देश समाज का सटीक मार्गदर्शन करते हैं.   मुख्यातिथि कलेर जी ने स्पष्ट शब्दों में ऐसे देश व् मानवता के कल्याण  हेतु आयोजित होने वाले आयोजनों में अपनी भागेदारी बनाये रखने की बात कही.    आर्थिक मदद उपलब्ध करवाने का पूरा विश्वास दिलाया.   मुशायरे में बुद्धिजीवी वरिष्ठ नागरिक युवा वर्ग सहित सेवानिवृत जज प्रोफेसर्स और पुलिस व् सेना अफसरों ने मुशायरे का जीभर के लुत्फ़ लिया और शायरों की हौंसला अफजाई की.   मुशायरे में श्रोताओं ने हिंदी व् उर्दू सहित पंजाबी शायरी और गजलों का आनंद लिया.   पंजाबी के जानेमाने कवि और शायर ने तो सबका मन मोह लिया.   उनकी पढ़ी कविता ने प्रोढ़ा श्रोता को तो रुला ही दिया.   आयोजकों नवीन नीर और आरके  विक्रांत शर्मा ने सभी मौजूदा हाजिरी सहित शायरों और मोहतरमा शायरों का दिल से शुक्रिया अदा किया.   इक शानदार यादगार बनकर आल इंडिया मुशायरा मानवता व् देश सहित समाज को नई सोच और दिशाएं देते हुए खुशहाल महौल में सम्पन्न हुआ.

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं