Loading...
You are here:  Home  >  अपराध  >  Current Article

छेड़छाड़ के आरोपी उबर ड्राइवर के खिलाफ गुड़गांव पुलिस में मामला दर्ज..

By   /  June 2, 2015  /  2 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

नई दिल्ली: कैब सेवा मुहैया कराने वाली कंपनी उबर एक बार फिर विवादों में है, पिछले साल दिसंबर में टैक्सी ड्राइवर द्वारा महिला यात्री के साथ कथित बलात्कार की घटना के बाद इस अमेरिका आधारित कंपनी के एक अन्य ड्राइवर पर एक महिला यात्री से छेड़छाड़ का आरोप लगा है।Uber_Taxi_Generic_Reuters_360

रविवार को हुई इस घटना के बाद पीड़ित ने फोन पर उबर के एक प्रतिनिधि को शिकायत दर्ज कराई। शिकायत के अनुसार, वह उबर कैब से गुड़गांव जा रही थी। रास्ते में ड्राइवर ने कथित तौर पर बलपूर्वक उसे चूमने और उससे छेड़छाड़ करने की कोशिश की। ड्राइवर की पहचान विनोद के तौर पर हुई है।

शिकायत के जवाब में प्रतिनिधि ने कहा, ‘हमारी नीति इस तरह के आचरण को कतई बर्दाश्त न करने की है और मैं आपको आश्वासन देता हूं कि हमारी टीम विनोद (कैब के ड्राइवर) के खिलाफ तत्काल समुचित कार्रवाई करेगी।’ गुड़गांव पुलिस आयुक्त नवदीप सिंह विर्क ने बताया कि मामले में गुड़गांव पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 354 ए (छेड़छाड़) के तहत कैब ड्राइवर के खिलाफ एक मामला दर्ज किया है। उन्होंने बताया कि ड्राइवर की पहचान कर ली गई है, लेकिन उसे अभी गिरफ्तार किया जाना है।

उन्होंने बताया कि पुलिस को घटना के संबंध में एक मेल मिला और तत्काल एफआईआर दर्ज की गई। उनके अनुसार, पुलिस ने उबर से इस मुद्दे पर सूचना मुहैया कराने का आग्रह किया जो उन्हें उपलब्ध करा दी गई। बहरहाल, महिला के भाई ने शिकायत दर्ज कराए जाने के बाद कोई कार्रवाई न किए जाने का आरोप लगाया और आरोपी को सजा देने की मांग की।

महिला के भाई ने कहा ‘आप को (उबर को) शिकायत किए जाने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई, आपकी ओर से इस बारे में कोई सूचना नहीं मिली।’ उन्होंने बताया कि इस मामले में गुड़गांव पुलिस में शिकायत दी है। आरोप के जवाब में उबर ने कहा ‘हमारी टीम फोन के जरिये सूचना मिलने पर कुछ ही मिनट में पीड़ित तक पहुंच गई। घटनाक्रम के सत्यापन के लिए उबर टीम के कई सदस्यों ने ड्राइवर से पूछताछ की।’ उबर की आधिकारिक प्रतिक्रिया में दावा किया गया है कि ड्राइवर पर तत्काल कार्रवाई की जा चुकी है और मामले की गहन जांच की जा रही है।

इसने आगे कहा है कि संबद्ध पक्षों की निजता की ‘सुरक्षा’ को ध्यान में रखते हुए उबर संबद्ध पक्षों के साथ इस मामले से सीधे निपटेगी। संपर्क करने पर दिल्ली पुलिस ने कहा कि उन्हें इस बारे में कोई शिकायत नहीं मिली है और शायद गुड़गांव पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई होगी।

उबर ने हाल ही में आईआईटी स्नातक अमित जैन को भारत में अपने संचालनों के लिए अध्यक्ष नियुक्त करने का ऐलान किया था। पिछले साल दिसंबर में 27 वर्षीय एक वित्तीय परामर्शदाता के साथ उबर के एक ड्राइवर द्वारा कथित तौर पर बलात्कार की घटना के बाद इस कैब सेवा पर राष्ट्रीय राजधानी में प्रतिबंध लगा दिया गया था।

एसोसिएशन ऑफ रेडियो टैक्सी इंडिया ने इन हालात को ‘चिंताजनक’ बताते हुए इस संबंध में तत्काल कार्रवाई की मांग की है।

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email
  • Published: 3 years ago on June 2, 2015
  • By:
  • Last Modified: June 2, 2015 @ 9:19 am
  • Filed Under: अपराध

2 Comments

  1. Ashok says:

    Ubar Cab Service was banned in last December, then how it is operating now? This is very shameful for these type of services and very serious action is required on the government level. Otherwise serious action must be taken by the Indian public.

  2. Ashok Garg says:

    Ubar Cab Service was banned in last December, then how it is operating now? This is very shameful for these type of services and very serious action is required on the government level. Otherwise serious action must be taken by the Indian public.

Leave a Reply to Ashok Cancel reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

You might also like...

अपराधी का बचाव दरअसल दूसरा अपराधी तैयार करना है..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: