Loading...
You are here:  Home  >  मीडिया  >  इधर उधर की  >  Current Article

”बिना मर्दों के रहना भी मुश्किल, लेकिन नहीं होती उनकी कोई इज्ज़त”: प्रियंका चोपड़ा; वीडियो देखें

By   /  October 16, 2011  /  7 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

हाल ही में बॉलीवुड की सबसे अच्छे कपड़े पहनने वाली अभिनेत्री का खिताब जीत चुकी प्रियंका चोपड़ा ज़ुमलों की नंगई पर उतर आईं हैं। उन्होंने मुंबई में हुए एक आयोजन के बाद पत्रकारों से बातचीत में कह डाला कि मर्द ‘इज्ज़तदार’ नहीं होते।

27 वर्षीया प्रियंका चोपड़ा फिल्म इंडस्ट्री में किसी परिचय की मोहताज़ नहीं हैं। सन् 2000 में मिस वर्ल्ड चुने जाने के बाद दक्षिण भारतीय फिल्मों के जरिए बॉलीवुड में एंट्री मारने वाली प्रियंका अब तक करीब 40 फिल्मों में काम कर चुकी हैं। वे एक बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और तीन बार फिल्मफेयर अवार्ड भी जीत चुकी हैं। जमशेदपुर (अब झारखंड) में जन्मी और बरेली में पली-बढ़ी इस खूबसूरत बाला का नाम अब तक कई मर्दों के साथ जुड़ चुका है, लेकिन फिलहाल वे अकेली हैं।

इस साल तीन फिल्में दे चुकी प्रियंका की अगले साल चार फिल्में आने को तैयार हैं और उन्हें बॉलीवुड के सबसे व्यस्त कलाकारों में से माना जाता है। हाल ही में उन्होंने अपने ताजा बयान में यह कह कर सब को चौंका दिया है कि वे अब आराम करने के मूड में हैं।

मर्दों को ‘बिना इज्ज़त का’ बताने वाला बयान उन्होंने मैक्ज़िम पत्रिका के कवर पर ‘हॉटेस्ट गर्ल’ के तौर पर जगह बनाने के बाद दिया है। जब एक पत्रकार ने उनसे पूछा कि उन्हें मर्दों की पत्रिका में कवर गर्ल बनने का सम्मान प्राप्त कर कैसा लग रहा है, तो उन्होंने तपाक से उल्टा सवाल दागा, ”पुरुष कब से ‘सम्मानीय’ होने लगे?” हालांकि औरतों के मर्दों के साथ रिश्ते को उन्होंने अजीब करार दिया और कहा कि वे पुरुषों के साथ भी नहीं रह सकतीं, उनके बगैर भी नहीं रह सकतीं।

देखें वीडियो

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

7 Comments

  1. Vivek Pandey says:

    मै इनसे पूछता हु की क्या ये इज्जतदार है.या तवायफो की कोई इज्जत होती है क्या.

  2. UNKNOWN says:

    इसको जनम देने वाला भी एक मर्द ही था | इसको फिल्मों में एंट्री देने वाले भी मर्द ही है | ऐसी घमंडी लड़की को फिल्मों से बाहर कर दिया जाये ,कोई भी कंपनी ऐड में इसे नहीं ले तो इसको पता लगेगा की मर्द क्या चीज है और उनकी कितनी इज्जत है , इसे भी अपनी औकात नहीं भूलनी चाहिए | इसके साथ ऐसा करना चाहिए की ये फिल्म मांगने के लिए मजबूर हो जाये और हाथ जोड़कर रोये फिल्म मांगे | तब इसे मर्दों की इज्जत और औकात का पता चल जायेगा |

  3. OmPrakashShrivastava says:

    कला एक साधना है और कलाकार पुजारी यदि प्रियंका जैसी सम्छ्दार प्रतिभाशाली कलाकार का मन दुखी हो तो बच्चे खासकर लड़की तो फिल्मो की तरफ रुछान नहीं करेगी

  4. NARESH KUMAR SHARMA says:

    यही HAAL रहा तो लगता है कोई भी इज्जतदार मर्द इस के साथ नहीं रह पायेगा ………….
    वे इज्जतदार मर्द ही है जिनके इज्जत देने पर वो इतना बढ़ चढ़ कर बोल रही है मर्दों अगर अपनी इज्जत और सम्मान बनाये रखना चाहते हो तो , इसको इसकी औकात बता दो ????

    इसकी पिक्चर देखना बंद करदो …….. सब रस्ते पर आ जाएगा …..

  5. Manohar says:

    प्रियांकाका विधान सौ फी सदी सही नहीं
    है. शायद उनका हररोज पाला ऐसेही मर्दोंसे
    पड़ता होगा तो वोह बेचारिभी क्या करेंगी.
    सुर्खियोंमे रहनेका यह एक fandha है…

  6. NARESH KUMAR SHARMA says:

    यही हल रहा तो लगता है कोई भी इज्जतदार मर्द इस के साथ नहीं रह पायेगा …………. वे इज्जतदार मर्द ही है जिनके इज्जत देने पर वो इतना बढ़ चढ़ कर बोल रही है मर्दों अगर अपनी इज्जत और सम्मान बनाये रखना चाहते हो तो , इसको इसकी औकात बता दो ????

    इसकी पिक्चर देखना बंद करदो …….. सब रस्ते पर आ जाएगा ?????????

  7. Rupeshmani singh says:

    priyanka tumne bilkul sahi kaha, aaena mein wahi nazar aata hai jo samne ho,
    tumhe aise hi mard mile hain to tum aur kya bologi,
    bs tumhare pitajee ke bare mein sochkar afsos hota hai,
    wo tumhe paida karke abhi kitna garv kar rahe honge,
    aise ek mazedaar baat hai, chakoo gire kharbooje pe ya kharbooje gire chakoo pr, katne ka maza kharbooje ko ho aata hai…
    To le le le maza tu…
    Sare sabhyta aur sanskar ki taranzali dekar…

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

पद्मावती: एक तीर से कई शिकार..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: