Subscribe to RSS
कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे mediadarbar@gmail.com पर भेजें | इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है। पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं। हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो। आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें -मॉडरेटर

इंडिया न्यूज के बिजनेस हेड बने नितिन राठी, राजेंद्र अमर उजाला एवं उमेश जागरण में संपादक नियुक्त

इंडिया न्‍यूज से खबर है कि उनके रीजनल चैनल यूपी.उत्‍तराखंड से आठ लोगों ने अपनी नई पारी शुरू की है। नितिन राठी ने इंडिया न्‍यूज के रीजनल चैनल में यूपी.उत्‍तराखंड के बिजनेस हेड के रूप में ज्‍वाइन किया है। वे इसके पहले न्‍यूज एक्‍सप्रेस को अपनी सेवाएं दे रहे थे। अब नितिन यूपी उत्‍तराखंड में सेल्‍स, मार्केटिंग और ब्रांडिंग की जिम्‍मेदारी संभालेंगे। नितिन इसके पहले रेडियो मिर्ची, आई नेक्‍स्‍ट, ईटीवी जैसे संस्‍थानों में भी काम कर चुके हैं।

सचिन शुक्‍ला ने इंडिया न्यूज में असिस्‍टेंट सेल्‍स मैनेजर के रूप में चैनल के देहरादून ऑफिस में ज्‍वाइन किया है। वे उत्‍तराखंड की जिम्‍मेदारी संभालेंगे। सचिन इसके पहले

ईटीवी को अपनी सेवाएं दे रहे थे। वे रेडियो मंत्रा और टीवी100 के लिए भी काम कर चुके हैं। दीपचंद गुप्‍ता को चैनल के कानपुर ऑफिस में सीनियर एक्‍जीक्‍यूटिव बनाया गया है। वे कन्‍नौज में दैनिक जागरण को अपनी सेवाएं दे रहे थे। संकेत वर्मा को बाराबंकी में एक्‍जीक्‍यूटिव बनाया गया है। वे भी ईटीवी से जुड़े हुए थे।

लखनऊ ऑफिस में भी दो लोगों की नियुक्तियां की गई हैं। सुमीत त्रिपाठी और भूपाल सिंह बोरा को सीनियर एक्‍जीक्‍यूटिव बनाया गया है। भूपाल सिंह हिंदुस्‍तानए ईटीवीए एंकर इलेक्ट्रिकल्‍स के साथ काम कर चुके हैं जबकि सुमीत नेटवर्क18 टीवी और रेडियो सिटी के साथ भी काम कर चुके हैं।

गोरखपुर दैनिक जागरण के संपादक रहे शैलेंद्र मणि त्रिपाठी के जनसंदेश टाइम्‍स जाने के बाद संपादकीय प्रभारी के तौर पर केके शुक्ला अस्थाई जिम्मेदारी संभाल रहे थे। अब प्रबंधन ने स्थायी नियुक्ति करते हुए दैनिक जागरण, मुजफ्फरपुर के संपादक उमेश शुक्ला को यहां की जिम्मेदारी सौंपी है। मूल रूप से कानपुर के रहने वाले उमेश शुक्ल काफी समय से यूपी आने की कोशिशों में जुटे हुए थे।

अमर उजाला ने भी हिमाचल में गिरीश गुरनानी के इस्तीफे के बाद खाली हिमाचल के संपादक के पद पर राजेंद्र सिंह को लाया गया है। राजेंद्र सिंह फिलहाल लखनऊ में कार्यरत हैं। गिरीश गुरनानी कुछ दिन पहले अमर उजाला से इस्‍तीफा देकर हिंदुस्‍तान चले गए थे और उन्‍हें हिंदुस्‍तान, देहरादून का संपादक बना दिया गया था। अब उनकी जगह राजेंद्र सिंह को संपादक बनाया जा रहा है। वे पूरे यूनिट के इंचार्ज होंगे। राजेंद्र पिछले लगभग दो दशक से पत्रकारिता से जुड़े हुए हैं। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत दैनिक जागरण, मेरठ के साथ की थी। इसके बाद अमर उजाला से जुड़ गए तब से वहीं थे। उन्होंने पंजाब तथा हरियाणा में अमर उजाला की लांचिंग भी कराई।

फारवर्ड प्रेस के खबर है कि सकुर्लेशन विभाग में दो नयी नियुक्तियां की गयी हैं। प्रभात खबर से जुडे रहे धनंजय उपाध्‍याय को नेशनल सर्कुलेशन प्रभारी बनाया गया है। इसके अलावा नई दुनिया के पटना ब्‍यूरो से जुड़े रहे मनोज सिन्‍हा को बिहार सर्कुलेशन प्रभारी बनाया गया है। दोनों लोगों ने अपना पद भार संभाल लिया है। धनंजय उपाध्‍याय दिल्‍ली कार्यालय में बैठेंगे जबकि मनोज सिन्‍हा पटना में रहकर अपनी जिम्‍मेदारी संभालेंगे।

नोएडा के फिल्म सिटी से जल्द ही लांच होने जा रहे चैनल 4रियल न्यूज को तगड़ा झटका लगा है। खबर है कि चैनल के डिप्टी न्यूज हेड नवीन पाण्डेय ने इस चैनल से नाता तोड़ लिया है। अब वे इंडिया टीवी को सीनियर एडिटर के तौर पर अपनी सेवाएं देंगे। इस चैनल में शुरू से नवीन पाण्डेय ही न्यूज़ सेक्शन की जिम्मेदारी निभा रहे थे। प्रिन्ट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में कई वरिष्ठ पदों पर रह चुके नवीन पाण्डेय ने 1995 में दैनिक जागरण कानपुर के साथ अपने कैरियर की शुरुआत की थी। उसके बाद वे अमर उजालाए मेरठ होते हुए अमर उजाला जालंधर की लांचिंग टीम का हिस्सा बने और सिटी डेस्क इंचार्ज के तौर पर तीन साल तक काम किया। 2002 में सहारा समय के साथ इलेक्ट्रानिक मीडिया में आए और 2009 में पी7 न्यूज़ की लांचिंग टीम में अहम भूमिका निभाई। पी7 के बाद वे ओमेगा ब्राडकास्टिंग ग्रुप के चैनल 4रियल न्यूज में डिप्टी हेड बनकर आए थे।

zv7qrnb

संबंधित खबरें:

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे mediadarbar@gmail.com पर भेजें | इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है। पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं। हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो। आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें -मॉडरेटर

0 comments

Add your comment

Nickname:
E-mail:
Website:
Comment:

Other articlesgo to homepage

वरीय पत्रकार डा. देवाषीष बोस सम्मानित..

वरीय पत्रकार डा. देवाषीष बोस सम्मानित..

वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन ऑफ बिहार के प्रदेष महासचिव डा. देवाषीष बोस का श्रीलंका से लौटने के बाद जिला प्रगतिषील लेखक संघ के द्वारा सम्मानित किया गया। संघ के अध्यक्ष तथा बीएन मंडल विष्वविद्यालय के पूर्व कुलसचिव सचिन्द्र महतो ने डा. बोस को माला पहना कर चादर भेंट किया। जबकि संघ के महासचिव तथा राष्ट्रपति पुरस्कार

पुस्तक समीक्षा: अनसुने ईसाईयों की आवाज़..

पुस्तक समीक्षा: अनसुने ईसाईयों की आवाज़..

-प्रेमकुमार गौतम|| आंख में चुभे तिनके सी पीड़ा महसूसता हृदय पुस्तक समीक्षा: अनसुने ईसाइयों की आवाज ’’दूसरे की आंख में तिनका खोजने के पूर्व तू अपनी आंख का लट्ठा देख’’ पवित्र बाइबिल का यह वचन मनुष्य को जिस आत्मावलोकन की शिक्षा देता है वह जीवन निर्वाह में कम दिखाई देता है। प्रायः व्यक्ति या समाज,

अमेरिका लोगे या पाकिस्तान..

अमेरिका लोगे या पाकिस्तान..

-अशोक मिश्र|| कुछ नामी-सरनामी ठेलुओं की मंडली गांव के बाहर बनी पुलिया पर जमा थी. गांजे की चिलम ‘बोल..बम..बम’ के नारे के साथ खींची जाती, तो उसकी लपट बिजली सी चमककर पीने वाले को आनंदित कर जाती थी. एक लंबा कश खींचने के बाद हरिहरन ने चिलम बीरबल की ओर बढ़ाते हुए कहा, ‘कुछ भी

बॉलीवुड में अंग प्रदर्शन की लगी है होड़..

बॉलीवुड में अंग प्रदर्शन की लगी है होड़..

नई दिल्ली, संयुक्त राष्ट्र ने दुनिया भर की तमाम फिल्मों के महिला किरदारों पर एक स्टडी की है. इस स्टडी की माने तो बॉलीवुड की फिल्मों में हीरोइनों को कम कपड़ों और ग्लैमरस अंदाज में पेश करने की होड़ लगी है. भारतीय फिल्मों के कम से कम 35 फीसदी महिलाओं हॉट ऐंड सेक्सी दिखाया जाता

साम्प्रदायिकता का नया औज़ार : सोशल मीडिया..

साम्प्रदायिकता का नया औज़ार : सोशल मीडिया..(0)

-भावना पाठक|| ये इंसानी फितरत है कि हमारा ध्यान अच्छी चीज़ों से पहले बुरी चीज़ों की तरफ जाता है. किसी का अश्लील एम. एम. एस. हो, कोई विवादित मुद्दा हो, सेक्स या क्राइम से जुड़ी कोई खबर हो, इन्हे हम सरसरी निगाह से ही सही एक बार देखते ज़रूर हैं. मीडिया खासकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया भी

read more

प्रसिद्ध खबरें..

  • Sorry. No data yet.
Ajax spinner

ताज़ा पोस्ट्स

Contacts and information

मीडिया दरबार - जहाँ लगता है दरबार. आप ही राजा हैं इस दरबार के और कटघरे में है मीडिया. हम तो मात्र एक मंच हैं और मीडिया पर अपनी निगाह जमायें हैं, जहाँ भी मीडिया में कुछ गलत होता दिखाई देता है उसे हम आपके सामने रख देते हैं और चलाते हैं मुकद्दमा. जिसपर सुनवाई करते हैं आप, जहाँ न्याय करते हैं आप. जी हाँ, यह एक अलग किस्म का दरबार है. मीडिया दरबार...

Social networks

Most popular categories

© 2014 All rights reserved.