Subscribe to RSS
कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे mediadarbar@gmail.com पर भेजें | इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है। पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं। हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो। आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें -मॉडरेटर

इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा: “साले मद्रासी फिर जीत गए”

चेन्नई सुपरकिंग की कल की जीत जितनी रोमांचक रही उससे भी ज्यादा महत्वपूर्ण थी राजस्थान रॉयल्स पर फतह. चेन्नई टीम की इस जीत ने राजस्थान के इरादो पर तो पानी फेरा ही था, उसके कई फैन्स को भी निराश कर दिया. फेसबुक पर हो रही एक चर्चा के मुताबिक अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने भी इस ‘दुख’ को अलग ही अंदाज में बयां किया- चेन्नई की टीम को गरियाते हुए वो भी हिंदी में. अखबार की वेबसाइट पर लिखा है-“साले मद्रासी फिर जीत गए” (saale-madrasi-phir-jeet-gaye.)

आपको आश्चर्य हो रहा होगा कि इंडियन एक्सप्रेस जैसा अंग्रेजी अखबार इतनी घटिया हिंदी भला क्यों लिखेगा? लेकिन यह उलटबांसी हुई है. इस अखबार की वेबसाइट पर चेन्नई सुपर किंग्स के हाथों राजस्थान रायल्स की हार की जो खबर अंग्रेजी में लगी है, उस खबर को ढोने वाला कंधा यानि यूआरएल यानि इंडियनएक्सप्रेस.कॉम के बाद जो कुछ कड़ियां आती हैं, उसमें अंग्रेजी में यही गाली लिखी है.

इंडियन एक्सप्रेस की तरफ से यह सब जानबूझ कर किया गया है या किसी इंप्लाई ने बदमाशी की है, यह तो नहीं पता चला लेकिन फेसबुक पर इस मसले पर चर्चा शुरू हो गई है.

इस ब्लंडर की तरफ सबसे पहले ध्यान दिलाया द हिंदू अखबार के प्रिंसिपल न्यूज फोटोग्राफर अखिलेश कुमार ने. अखिलेश द्वारा ध्यान आकर्षित किए जाने के बाद बनारस के छात्र नेता रहे और वर्तमान में जनपक्षधर राजनीति के सक्रिय स्तंभ अफलातून देसाई ने इस मुद्दे पर अपनी टिप्पणी लिखकर बाकी लोगों को इस बारे में बताया. अफलातून ने फेसबुक पर लिखा- ”इंडियन एक्सप्रेस में चेन्नै सुपर किंग्स के हाथों राजस्थान रॉयल्स की हार की खबर की URL पर गौर कीजिए! मारवाडी गोयन्का का मुख्यालय चेन्नै था। क्या,यह रामनाथ गोयन्का की परम्परा है? क्या उन्हें यह बेहूदा URL कबूल होता?” (साभारः Akhilesh Kumar) http://www.indianexpress.com/news/saale-madrasi-phir-jeet-gaye/947835/

देखें इंडियनएक्सप्रेस.कॉम वेबसाइट का स्क्रीन शॉट, जिसके यूआरएल में भद्दी गाली अब भी दर्ज है.

 

 

संबंधित खबरें:

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे mediadarbar@gmail.com पर भेजें | इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है। पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं। हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो। आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें -मॉडरेटर

1 comment

#1Shiv kumar pachauriMay 13, 2012, 2:25 PM

Yah sab beemar manasikta ko ingit karta hai varna, Kya CSK aur RR Indian origin ko belong nahi kartin?

Add your comment

Nickname:
E-mail:
Website:
Comment:

Other articlesgo to homepage

Bangla Language and Literature: A Review

Bangla Language and Literature: A Review(0)

-Shah Abdul Hannan|| This year (2002) our Language Movement has had its fiftieth anniversary. It is time to evaluate our achievement in language and literature. My study shows that Bangla has turned into a very powerful language. But it has not become so without any efforts. The Bangla language has taken a powerful form by

बज्जर पड़े ‘किस ऑफ लव’ पर..

बज्जर पड़े ‘किस ऑफ लव’ पर..(0)

 -अशोक मिश्र|| मेरे काफी पुराने मित्र हैं मुसद्दीलाल. मेरे लंगोटिया यार की तरह. हालांकि वे उम्र में मुझसे लगभग पंद्रह साल से ज्यादा बड़े हैं. मेरी दाढ़ी अभी खिचड़ी होनी शुरू हुई है और उनके गिने-चुने काले बाल विदाई मांग रहे हैं. (बात चलने पर बालों पर हाथ फेरते हुए कहते हैं कि बाल तो

DronEvolution records present Er.Nitish with his brand new track “Teddy Bear”

DronEvolution records present Er.Nitish with his brand new track “Teddy Bear”(0)

-Kulbir Singh Kalsi|| Chandigarh,  The young and talented Er.Nitish is all geared up for the launch of his brand new Punjabi song “Teddy Bear” whose beats are sure to put the audience in dance mode. Nitish was present in Chandigarh to unveil his new soundtrack and gracing the occasion were prominent Punjabi actors Karamjit Anmol

सुख की ओट में छिपा दुख

सुख की ओट में छिपा दुख(0)

-सैयद एस.तौहीद|| लघु फिल्म बनाने वाले उभरते व युवा फिल्मकारों के समक्ष अपने प्रोजेक्ट को लेकर अनेक दुविधाएं होती हैं. वो कल को लेकर असमंजस में रहते हैं. फिल्म का निर्माण, अंतिम प्रारूप किस तरह का होगा, क्या वो फिल्म सामारोहों का मुंह देख सकेगी ? दर्शकों की प्रतिक्रिया क्या होगी ? क्या दर्शक उसे

सिरसा में पत्रकार से मारपीट..

सिरसा में पत्रकार से मारपीट..(0)

सिरसा, शराब के नशे में धुत सफेद रंग की कार पर सवार एक टैंट हाऊस के पूर्व संचालक एवं पर्यटन केंद्र के पूर्व ठेकेदार रमेश अरोड़ा ने अपने साथियों के साथ बीती रात सुरतगढिय़ा चौक पर पंजाब केसरी (जांलधर) के संवाददाता राम माहेश्वरी पर हमला कर दिया. हमलावरों ने न केवल पत्रकार को जान से

read more

प्रसिद्ध खबरें..

  • Sorry. No data yet.
Ajax spinner

ताज़ा पोस्ट्स

Contacts and information

मीडिया दरबार - जहाँ लगता है दरबार. आप ही राजा हैं इस दरबार के और कटघरे में है मीडिया. हम तो मात्र एक मंच हैं और मीडिया पर अपनी निगाह जमायें हैं, जहाँ भी मीडिया में कुछ गलत होता दिखाई देता है उसे हम आपके सामने रख देते हैं और चलाते हैं मुकद्दमा. जिसपर सुनवाई करते हैं आप, जहाँ न्याय करते हैं आप. जी हाँ, यह एक अलग किस्म का दरबार है. मीडिया दरबार...

Social networks

Most popular categories

© 2014 All rights reserved.