Loading...
You are here:  Home  >  मीडिया  >  Current Article

दिल्ली में गर्मी ने तोड़ा रिकॉर्ड, बैंको के ATM की शरण में पहुंचे रोमांटिक जोड़े

By   /  June 1, 2012  /  14 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

 

 

देश की राजधानी दिल्ली में गरमी ने अपने दस सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। फिलहाल गर्मी से छुटकारा भी मिलता नहीं दिख रहा। दिल्ली समेत पूरा उत्तर भारत तप रहा है। दिल्ली में तापमान 45 डिग्री के आसपास है और देश के बाकी शहरों का हाल भी कुछ ऐसा ही है। ऐसे में रोमांटिक जोड़े जाएं तो जाएं कहां?

 

 

 

दिल्ली के एक प्रतिष्ठित बैंक में एटीएम के कैमरे में जो कुछ कैद हुआ उसमें इस सवाल का जवाब छुपा है। एटीएम के एयरकंडीशनर और ठंढक को बरकरार रखने के लिए लगे काले शीशे इन जोड़ों के लिए खासे मददगार सिद्ध हो रहे हैं।

 

 

 

 

 

दरअसल, एटीएम मशीन कंप्यूटर से जुड़ा होता है और उसे लगातार चलाने के लिए एयरकंडीशनर के जरिए ठंढक बनाए रखने की जरूरत होती है। लेकिन इस ठंढक का गर्मी के मौसम में महत्व खासा बढ़ जाता है।

 

 

 

एक तरफ जहां पार्कों और पेड़ों की छांव में सूखी गर्म हवा के थपेड़ों से कुछ मिनट भी बैठना मुश्किल है वहीं ये एटीएम इन जोड़ों की खास मुफ़ीद जगह बनती जा रही है। हालांकि इस रिकॉर्डिंग में इस बात के सुबूत नहीं मिले हैं, लेकिन कई जगहों से खबरे मिली हैं कि एटीएम के गार्ड की इस रोमांटिक जगह को कुछ मिनटों के लिए दिलाने में अहम भूमिका होती है।

 

 

 

 

 

कुछ उपभोक्ताओं का कहना है कि प्रेमी जोड़ों से मामूली सुविधा शुल्क लेकर गार्ड कई बार एटीएम के बाहर ‘खराब है’ का बोर्ड भी लगा देते हैं और उन्हें ‘पूरी प्राइवेसी’ देते हैं। हालांकि ये नजारा दिल्ली के एटीएम का बताया जा रहा है, लेकिन लोगों का कहना है कि पूरे देश में एटीएम रोमांस के लिए सबसे पसंदीदा जगह बनते जा रहे हैं।

 

बताया जाता है कि बैंक अधिकारी एटीएम के इस दुरुपयोग से बचने के लिए उपाय ढूंढने में जुटे हैं, क्योंकि रोमांस अपराध की श्रेणी में भी नहीं आता, जिससे किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई की जा सके।

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

14 Comments

  1. raj darbari says:

    यह फोटो एक ब्लू विडियो क्लिप से लिए गए हैं, कई महीनों पहले इन्टरनेट पर उपलब्ध थे…. झूटी और बनावटी न्यूज़ देना बंद करें…………

    • jasbir singh says:

      श्रीमान ये विडियो बैंक के सीसीटीवी कैमरे मैं कैद हुए हैं…

  2. Ashok Lodha says:

    Ashok Lodha भारत में केवल अ. टी.ऍम. का दुरपयोग हो रहा हे ऐसा नहीं हे दिल्ली के अपोलो हॉस्पिटल, फोर्टीज हॉस्पिटल में भी सर्वे करे वाहा पर भी आप को कपल आराम करते हुए मिल जायेगे.
    जरुरत केवल पहचान करने की हे.

  3. Aadi Chauhan says:

    अब डेट पर दूर जाने की जरूरत नहीं हर चोराहे पर प्यार का मजा आएगा…
    Best of luck guys.

  4. Everywhere is GOD & GOD is love, so don't feel bad this is GOD's gratitude.

  5. rajeev dev says:

    ye romantic jore nahi balik wo dog and bitch hai jinka mansik,nattik patan ho chuka hai.
    aur iske piche hum aur aap hi jo in jaise kutto ko himmat de rahe hai
    ya toh in kutto aur kuttio ki sadi kara de sara romance do 2-4 dino mai aaukat mai aa jayega
    ya inko pakar kar rakhie aur in dono ke parents ko khabar kijie
    ya jahan v aise dog dikhe inko public wahi par pitai lagae ya pandit bula kar sadi kara dijie
    jai hind
    ek aam aadmi
    a simple person

  6. Yogesh Pachauri says:

    अब डेट पर दूर जाने की जरूरत नहीं हर चोराहे पर प्यार का मजा आएगा……ही ही ही!

  7. पावेल परवेज़ says:

    कमाल का ट्रिक है.
    ऐसा दिमाग तो सिर्फ प्रेमी जोड़े ही लगा सकते हैं.

    जय हो ए टी एम गार्ड बाबा की .

  8. Madhu Gm says:

    way this yars………………////////////////////l;;k;djshdduqfug.

  9. Rupendera Shakya says:

    जाएँ तो जाएँ कहाँ!

  10. Ramakant Roy says:

    जाएँ तो जाएँ कहाँ!

  11. Chandankumar Rai says:

    kya baat hai yarrrrrrrrrrrr.

  12. HAHAHAHAHAHAHHAHA!!!!!

  13. Vijay Kumar says:

    kas kahi aisa hota yes dil bas jate atm me.

    bahut bahut sukriya.

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

राजस्थान के पत्रकार सरकार के समक्ष घुटने टेकने पर विवश हैं..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: