/दरिंदगी की हदें पार कर चुकी थी ‘अपना घर’ की संचालिका जसवंती

दरिंदगी की हदें पार कर चुकी थी ‘अपना घर’ की संचालिका जसवंती

हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के गृह जिले रोहतक स्थित शेल्टर होम ‘अपना घर’ की संचालिका जसवंती, जो कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा कि पत्नी आशा हुड्डा द्वारा कई बार सम्मानित भी हो चुकी है ने एक 35 वर्षीय महिला के शरीर में इसलिए कैंची घुसा दी क्योंकि वह अपना बच्चा मांग रही थी। हाईकोर्ट द्वारा गठित कमेटी के दो सदस्यों ने अदालत को सौंपी रिपोर्ट में इसका खुलासा किया है। अधिवक्ता अनिल मल्होत्रा और सुदीप्ति शर्मा ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 35 वर्षीय एक महिला ने कमेटी से शिकायत की कि अपना बच्चा मांगने पर शेल्टर होम संचालिका महिला जसवंती ने उसे बुरी तरह प्रताड़ित किया। उसके शरीर के निजी अंगों में कैंची घुसा दी गई।

जसवंती

महिला ने शिकायत में कहा कि उसके बच्चे को बेच देने की आशंका भर जताने पर उसे इस कदर प्रताड़ित किया गया कि वह इन ज्यादतियों के खिलाफ कोई आवाज न उठा सके। जसवंती के दामाद जय भगवान व ड्राइवर सतीश पर भी लड़कियों ने यौन शोषण के आरोप लगाए हैं।

लड़कियों को नशा देकर उन्हें भीड़ भरे इलाकों में चल रहे होटलों में पहुंचाया जाता था। इनमें रोहतक के बस स्टैंड के सामने का इलाका व चहल-पहल वाले इलाके शामिल थे। लड़कियों को यहां पुलिस वालों व बड़े अधिकारियों के साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए विवश किया जाता था।

रिपोर्ट में कहा गया कि अपना घर में पहुंचे बच्चों में जहां लड़कों को गोद देने के नाम पर बेचा गया वहीं लड़कियों को इस मामले में पीछे रखा जाता था। आगे चलकर इन लड़कियों का इस्तेमाल अनैतिक गतिविधियों के लिए किया गया। जसवंती ने इस ढंग से सब कुछ मैनेज कर रखा था कि पुलिस प्रशासन सब मूकदर्शक बने रहे। ऐसे में मामले की जांच राज्य की पुलिस से न करवाई जाए।

रोहतक के ‘अपना घर’ से भिवानी के एक आश्रम में आई नाबालिग युवती एचआईवी पॉजीटिव है। वीरवार को सिविल अस्पताल में करवाई गई मेडिकल जांच से इस बारे में पता लगा। विवादों में आने के बाद रोहतक के अपना घर की कई युवतियों और महिलाओं को शहर के तीन आश्रमों में भेजा गया है। इनमें से एक में 11, दूसरे में छह और तीसरे आश्रम में नौ युवतियां और महिलाएं हैं। इन सबका सिविल अस्पताल में मेडिकल चेक अप कराया जा रहा है।

इसी क्रम में वीरवार को एक अन्य आश्रम में रखी गई तीन युवतियों की मेडिकल जांच करवाई गई। उनमें से एक नाबालिग युवती एचआईवी पॉजीटिव मिली है। इसी तरह की एक युवती पिछले दिनों रोहतक में भी मेडिकल जांच के दौरान एचआईवी पॉजीटिव पाई गई थी। सिविल अस्पताल के डॉक्टर आदित्य गुप्ता ने बताया कि रोहतक के ‘अपना घर’ से आई एक नाबालिग युवती एचआईवी पॉजीटिव है। उक्त युवती को यह बीमारी कैसे लगी इसकी जांच की जाएगी।

‘अपना घर’ में उत्पीड़न का शिकार हुई मीना को शुक्रवार को पुलिस अदालत में पेश करेगी, जहां मजिस्ट्रेट के सामने अपने बयान दोहराने के बाद मीना अपने घर मथुरा के लिए आठ साल बाद रवाना हो सकती है। अदालत में एक दिन पहले पुलिस की ओर से तैयार की गई मीना के बयानों की वीडियोग्राफी भी पेश की जाएगी। इससे पहले मथुरा से रोहतक पहुंचे मीना के पिता रामस्वरूप व मां रमा देवी ने हरिओम सेवा दल संस्था के माध्यम से जिला उपायुक्त से गुहार लगाई कि वे अपनी बेटी को घर ले जाना चाहते हैं.

(भास्कर)

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.