Loading...
You are here:  Home  >  अपराध  >  Current Article

एमएमएस बना कर चार सालों से छात्रा के साथ दुराचार

By   /  June 23, 2012  /  7 Comments

    Print       Email
इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

अजमेर फिर एक बार ब्लैकमेल को लेकर चर्चा में आ गया है। जयपुर रोड स्थित एक रेस्त्रां में पार्टी के दौरान साथी छात्रा के साथ छात्रों द्वारा दुराचार कर मोबाइल से अश्लील वीडियो क्लिपिंग बनाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। आरोपी छात्रों में एक छात्र इस क्लिपिंग के आधार पर पिछले चार सालों से छात्रा को डरा धमका कर दुराचार कर रहा था। तंग आकर पीड़िता ने आत्महत्या का प्रयास किया था।

थक हारकर पीड़िता ने परिवार के लोगों के साथ पुलिस अधिकारियों तक पहुंच कर आपबीती सुनाई। गुरुवार को सिविल लाइंस थाना पुलिस ने पीड़िता की रिपोर्ट पर आरोपी छात्रों के खिलाफ दुराचार का मुकदमा दर्ज कर लिया। मामले की तहकीकात की जा रही है। पुलिस के मुताबिक पीड़िता ने रिपोर्ट में बताया कि वर्ष 2008 में उसे साथी छात्र जोधपुर निवासी हाल अजमेर निवासी राकेश उर्फ रिंकू मेवाड़ा व उसके दोस्त मोहित व नीलेश ने जयपुर रोड स्थित एक रेस्तरां में पार्टी में आमंत्रित किया था।

वहां तीनों ने धोखे से कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया। बेहोशी की हालत में राकेश ने दुराचार किया। जबकि उसके दोस्तों ने मोबाइल पर क्लिपिंग बना ली। बाद में राकेश ने इस क्लिपिंग के आधार पर डरा धमका कर कई बार दुराचार किया। पिछले चार वर्षो से वह यह घिनौनी हरकत कर रहा है। पीड़िता की रिपोर्ट पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। पीड़िता की रिपोर्ट पर आरोपी छात्रों के खिलाफ दुराचार का मुकदमा दर्ज किया गया। मामले की जांच थानाप्रभारी रविंद्र यादव को सौंपी गई है।

परिवार के लोगों ने पुलिस को बताया कि राकेश से परेशान होकर पीड़िता ने आत्महत्या करने का प्रयास किया। परिवारजनों ने जब उससे सहानुभूति जताते हुए आत्महत्या करने के कारणों के बारे में पूछा तो अंत में उसने सच्चाई उगल दी। परिवार के लोगों के साथ पीड़िता ने एडीशनल एसपी के समक्ष पेश होकर आपबीती सुनाई। उनके आदेश पर सिविल लाइंस थाना पुलिस ने दुराचार का मुकदमा दर्ज कर तहकीकात प्रारंभ कर दी है।

Facebook Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
    Print       Email

About the author

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक “मुखौटों के पीछे – असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष” में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

7 Comments

  1. ladke ko gali deke kya faida ladki ne chance diya isliya to usne kiya.
    ab bile k samne machli lake bolo ge ki guard kar beta to kya woh sunega.

  2. Vinod Bhai Happy B'day

  3. Pawel Parwez says:

    ये क्या हो रहा है?

  4. Ajay Sharma says:

    salon ko pakd kar umar keaid honi chiye

  5. Gaurav Gaur says:

    goli mar do us lake ko.

  6. Vinod Kumar says:

    bahut galat hai.

पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं. हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो. आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें - मॉडरेटर

You might also like...

पनामा के बाद पैराडाइज पेपर्स लीक..

Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: