/कल आ रहा है नौंटकी बाज मामा!!

कल आ रहा है नौंटकी बाज मामा!!

बैतूल,(रामकिशोर पंवार): आदमी और ओहदा कितना स्वार्थी हो गया है कि वह सिर्फ मतलब के लिए अपने खून के और जज्बात के रिश्तो को निभाने लगता है। सगी मां और प्रदेश की लाखो लाड़ली लक्ष्मियों के मुंह बोले स्वंय भू जगत मामा की जब उन दो मासूम बच्चियों को जरूरत थी तो दोनो ने किनारा कर लिया लेकिन जब सब कुछ ठीक ठाक हो गया तो जन्मदात्री मां और मुंह बोला मामा दोनो का प्यार ऊफान मारने लगा है।

बीते ग्यारह माह से देश – विदेश की हवाई यात्रा करने के बाद अचानक मध्यप्रदेश के ड्रामेबाज , नौंटकीबाज , घोषणावीर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को जबसे पता चला है कि जिदंगी और मौत की असली जंग जीत चुकी तो वे उनसे मिलने के बहाने पाढऱ में नई नौटंकी करने आ रहे है। अभी भी वेटीलेंटर पर सांसे ले रही आराधना और उसकी जुड़वा बहन स्तुति को अपनी तथाकथित भांजिया बताने वाले मामा को ख्याल आया कि बैतूल जिले में तीन नगरीय क्षेत्रो में नगरीय निकायों के चुनाव होने है ऐसे में वे स्वंय को प्रदेश की लाड़ली लक्ष्मियों के सच्चे – हितैषी – शुभचिंतक मामा सबित करने के बहाने वोटो की राजनीति करने के लिए आ रहे है। मुख्यमंत्री हाऊस से शिवराज सिंह के दरबारियों का फरमान जारी हुआ कि 2 जुलाई दिन सोमवार को दोपहर ग्यारह बजे के बाद सारनी हेलीपेड से मुख्यमंत्री पाढऱ आएगें और यहां से छिन्दवाड़ा जिले के लिए प्रस्थान हो जाएगें। इस दौरान शिवराज सिंह का अपना पूरा लावा लशकर होगा।

अब आम जनता और मासूम स्तुति और आराधना अपने ड्रामेबाज स्वंय भू जगत मामू से सवाल करने का साहस नहीं जुटा पा रही है लेकिन मन ही मन सोच जरूर रही होगी कि भगवान ऐसा मामा किसी को न दे..? मौजूदा समय में बैतूल जिले के पाढऱ स्थित मिशनरी के चिकित्सालय में सर्जरी के नौवे दिन बाद से अचानक आराधना का स्वास्थ्य खराब हो गया है। डॉक्टरों द्वारा आराधना की स्थिति नाजुक बताई जा रही है। फिलहाल आराधना को वेंटीलेटर पर रखा गया है और डॉक्टर उसका इलाज कर रहे हैं। डॉक्टरों का कहना है कि सांस में तकलीफ की वजह से आराधना को वेंटीलेटर पर रखा गया है। वेंटीलेटर से आराधना को कब तक हटा लिया जाएगा इस बारे में फिलहाल डॉक्टर ठीक तरह से नहीं बता पा रहे हैं। वैसे आराधना को वेंटीलेटर पर रखे जाने के बाद से चिकित्सक चौबीसों घंटे नजर रखे हुए हैं।

आराधना की अपेक्षा स्तुति काफी अच्छी स्थिति में है और उसकी रिकवरी भी तेजी से हो रही है, लेकिन उसकी ब्रीदिंग नार्मल से थोड़ी हाई है इसलिए उसे चेस्ट फिजियोथैरेपी दी जा रही है। स्तुति का स्वास्थ्य तेजी से रिकवर हो रहा है। उसकी डाइट भी पहले से काफी अच्छी है और वह अब काफी एक्टिव हो गई है। इस बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह लावा लश्कर के साथ चिकित्सालय पहुंचते है तो सब कुछ नार्मल होने के बाद भी इस भागदौड़ी के चलते पूरे चिकित्सालय का माहौल बिगड़ जाएगा क्योकि जिस रूम में आराधना को भर्ती किया गया है वहां पर चिकित्सालीन स्टाफ के अलावा किसी को अनुमति नहीं है। आराधना को फिलहाल वेंटीलेटर पर रखा गया है। ऐसे में बाहरी व्यक्ति के आने – जाने से संक्रामण फैलने की स्थिति बन चुकी है। सूत्रो ने बताया कि इस हालत से मुख्यमंत्री के स्टाफ को अवगत कराया जा चुका है लेकिन फिर भी मुख्यमंत्री की जिद है कि वे अपनी भांजियों मिल कर उनको लाड़ – दुलार करते फोटो ग्राफर्स करवाएगें ताकि उनकी तस्वीरो के बहाने वे अपनी राजनैतिक मार्केटिंग कर सकेगें।

Facebook Comments

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.