Subscribe to RSS
कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे mediadarbar@gmail.com पर भेजें | इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है। पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं। हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो। आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें -मॉडरेटर

शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर वर्ष मेले….

भारत माँ के सच्चे सपूत, क्रांतिकारियों के मसीहा,सच्चे प्रणपालक, स्वतत्रंता को अपना पिता और जेल को अपना घर घोषित करने वाले, शहीद चन्द्रशेखर आजाद जी की 112 वीं जयंती है.

आज ही के दिन एक और महान देशभक्त जिसने उद्घोष किया “स्वतंत्रता मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है” परम आदरणीय, गरमदल के अगुवा पंडित बाल गंगाधर तिलक जी की भी 156 वीं जयंती है माँ भारती के दो अनमोल रतनो को उनकी जयंती  पर शत शत नमन.

कितने दुःख की बात है जिन्होंने देश की स्वतंत्रता के लिए अपने प्राणों का सहर्ष बलिदान कर दिया आज उनका सम्मान नहीं होता और जिन्होंने देश की आजादी को केवल नाम से भुना लिया उनके नाम पर हर तरफ स्मारक बने, पार्क बने  और उनको भारत रत्न घोषित किया गया पर शायद हमारी सरकारे ये भूल गयी कि जिन्हें माँ के चरणों में बलिदान देने का शौक हो वो किसी सरकारी पुरस्कार के मोहताज नहीं होते वो तो सच्चे भारत रत्न थे, है और हमेशा रहेंगे.

 

आज इन भारत माँ के सपूतों की जन्‍मतिथि पर रामप्रसाद बिस्मिल की ये पंक्तियां शायद वर्तमान हालात में नौजवानों को रास्‍ता दिखाये.

नौजवानों, जो तबीयत में तुम्हारी ख़टके
याद कर लेना हमें भी कभी भूले-भटके
आप के जुज़वे बदन होवे जुदा कट-कट के
और सद चाक हो माता का कलेजा फटके
पर न माथे पे शिकन आए क़सम खाने को

नौजवानों यही मौक़ा है उठो खुल खेलो
और सर पर जो बला आए ख़ुशी से झेलो
क़ौम के नाम पे सदक़े पे जवानी दे दो
फिर मिलेंगी न ये माता की दुआएं ले लो
देखें कौन आता है इरशाद बजा लाने को

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे mediadarbar@gmail.com पर भेजें | इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है। पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं। हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो। आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें -मॉडरेटर

1 comment

#1laldhari_yadavJuly 23, 2012, 5:41 PM

हम इअनको बहुँत बहुँत नमस्कार करता हु दिअनिअक प्रणाम करता हु जिअतना य लोअग बलिअदान दिय उअतना ही हमारय दिअस मय लोअग
गदारिय करतीय इअतना नही सोअचत्य नही है सहिदोअको कितना तक लिअफ़ होअगा लोअग स्रेफ़ अपनय बारे मय सोचातीय है दुअस्रोअ कय बारे मय नही सोचत्य किव किय निअत ठिअक नही है

Add your comment

Nickname:
E-mail:
Website:
Comment:

Other articlesgo to homepage

हाईकोर्ट: गृह मंत्रालय की कार्यवाही असंवैधानिक और मनमानी..

हाईकोर्ट: गृह मंत्रालय की कार्यवाही असंवैधानिक और मनमानी..(0)

हाईकोर्ट ने अवरुद्ध फंड को ग्रीनपीस के एफसीआरए खाते में जमा करने के दिये आदेश.. कोर्ट ने पाया ग्रीनपीस के खिलाफ गृह मंत्रालय के रिकॉर्ड में कोई सामग्री नहीं.. नई दिल्ली, दिल्ली हाईकोर्ट ने आज ग्रीनपीस के अवरुद्ध फंड पर रोक हटाया. पिछले साल जून में गृह मंत्रालय ने ग्रीनपीस के विदेशी फंड पर रोक लगाया था.

जय मूर्छित लोकतन्त्र की..

जय मूर्छित लोकतन्त्र की..(0)

-मनीराम शर्मा|| लालू यादव के परिजनों ने सुप्रीम कोर्ट में 1 मार्च 2007 को रिव्यु याचिका दायर कर सुप्रीम कोर्ट द्वारा केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो को राज्य सरकार की सहमति के बिना जांच का आदेश देने को क्षेत्राधिकार से बाहर बताया और कहा कि यह राजनीति से प्रेरित है. याचिका पर न्यायाधिपतिगण कबीर और दत्तु ने

पायलट व इंजीनियर के बीच विवाद,  उड़ान में दो घंटे की देरी..

पायलट व इंजीनियर के बीच विवाद, उड़ान में दो घंटे की देरी..(0)

चेन्नई, पायलट एवं इंजीनियर के बीच विवाद के कारण चेन्नई से दिल्ली की एयर इंडिया की विमान संख्या 143 करीब दो घंटे की देरी से रवाना हुई. सूत्रों के अनुसार पायलट कैप्टन मानिक लाल ने आपसी कहासुनी के बाद फ्लाइट इंजीनियर कन्नन के नाक पर घूंसा जड़ दिया. इसके बाद खुद को कॉकपिट में बंद

अनिवार्य मतदान के शंखनाद का सबब..

अनिवार्य मतदान के शंखनाद का सबब..(0)

-ललित गर्ग|| चुनाव सुधारों एवं अनिवार्य मतदान के माध्यम से लोकतांत्रिक मूल्यों सुदृढ़ करने के लिये ‘चलो वोट देने’ अभियान का शुभारंभ निश्चित ही भारतीय लोकतंत्र को अधिक स्वस्थ, सुदृढ़ एवं पारदर्शी बनाने की एक सार्थक मुहिम है. भारतीय मतदाता संगठन का गठन और इसके द्वारा मतदान को प्रोत्साहन देने के उपक्रम एक क्रांतिकारी शुरूआत

ग्रीनपीस कार्यकर्ता ने स्काईप से ब्रिटिश सांसदों को संबोधित किया..

ग्रीनपीस कार्यकर्ता ने स्काईप से ब्रिटिश सांसदों को संबोधित किया..(0)

अपनी आवाज अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहुंचने से महान, सिंगरौली के ग्रामीणों में खुशी की लहर.. नई दिल्ली, 14 जनवरी 2015. ग्रीनपीस इंडिया की कार्यकर्ता प्रिया पिल्लई ने महान के लोगों की आवाज को वैश्विक मंच पर पहुंचाने की अपनी प्रतिबद्धता को दिखाते हुए आज ब्रिटिश संसद में उपस्थित सांसदों को संबोधित किया. यह उस समय

read more

प्रसिद्ध खबरें..

  • Sorry. No data yet.
Ajax spinner

ताज़ा पोस्ट्स

Contacts and information

मीडिया दरबार - जहाँ लगता है दरबार. आप ही राजा हैं इस दरबार के और कटघरे में है मीडिया. हम तो मात्र एक मंच हैं और मीडिया पर अपनी निगाह जमायें हैं, जहाँ भी मीडिया में कुछ गलत होता दिखाई देता है उसे हम आपके सामने रख देते हैं और चलाते हैं मुकद्दमा. जिसपर सुनवाई करते हैं आप, जहाँ न्याय करते हैं आप. जी हाँ, यह एक अलग किस्म का दरबार है. मीडिया दरबार...

Social networks

Most popular categories

© 2014 All rights reserved.
%d bloggers like this: